कोरोना टीका का पहला डोज लेने वाले समय पर लें दूसरा डोज

दूसरा डोज नहीं लेने पर शरीर में नहीं बन पाएगी एंटीबॉडी

ऐसी भूल करने वाले लोगों को टीका लेने का नहीं होगा फायदा

बांका, 13 मई
एक तरफ कोरोना की दूसरी लहर चल रही है, जिसकी चपेट में काफी संख्या में लोग आ रहे हैं। दूसरी ओर स्वास्थ्य विभाग भी इसके उन्मूलन में जोर-शोर से लगा हुआ है। जांच और इलाज का दायरा बढ़ाने के बाद अभी टीकाकरण चल रहा है। 16 जनवरी को शुरू हुआ टीकाकरण स्वास्थ्यकर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स, बीमारों और बुजुर्गों के बाद आमलोगों तक पहुंच गया है। अब 18 साल से अधिक उम्र के युवाओं का भी टीकाकरण शुरू हो गया है। टीका लेने में लोग उत्साह भी दिखा रहे हैं, लेकिन कई लोग कोरोना टीका का पहला डोज ले लेने के बाद दूसरा डोज समय पर नहीं ले रहे हैं। या कुछ लोग इसकी अनदेखी कर रहे हैं। ऐसा नहीं करें। इस तरह की लापरवाही ठीक नहीं है।

शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य के प्रभारी डॉ. सुनील कुमार चौधरी कहते हैं कि अगर कोई कोरोना टीका का दूसरा डोज नहीं लेता है तो उसके शरीर के अंदर एंटीबॉडी विकसित नहीं होगी। फिर कोरोना का टीका लेने का कोई फायदा नहीं रह जाएगा। इसलिए अगर कोरोना की चपेट से पूरी तरह से बचना है तो समय पर कोरोना टीका का दूसरा डोज अवश्य ले लें। दूसरा डोज नहीं लेने की लापरवाही भूल से भी नहीं करें। जिस केंद्र पर कोरोना टीका का पहला डोज लेंगे, उसी दौरान आपको दूसरे डोज की तारीख बता दी जाएगी। उस दिन आकर जरूर दूसरा डोज ले लें।

टीका लेने के बाद भी मास्क जरूरीः डॉ. चौधरी कहते हैं कि कोरोना टीका का दोनों डोज ले लेने के बाद भी सावधानी जरूरी है। ऐसा नहीं कि हमने कोरोना का टीका ले लिया तो अब पूरी तरह से सुरक्षित हो गए। ऐसा तब तक नहीं होगा, जबतक कि सभी लोग टीका नहीं ले लेते हैं। तब तक टीका लेने वालों को भी कोरोना की गाइडलाइन का पालन करना होगा। घर से बाहर निकलते वक्त मास्क लगाना होगा। भीड़भाड़ से बचना होगा। सामाजिक दूरी का पालन करना होगा। एक-दूसरे के बीच दो गज की दूरी रखनी होगी। घर में भी बात करते वक्त मास्क जरूर लगाएं।

टीका लेने में युवाओँ की तरह दिखाएं उत्साहः डॉ. चौधरी कहते हैं कि अब तो जिले में काफी संख्या में लोगों का टीकाकरण हो गया है। टीका लेने के बाद किसी को कोई साइड इफेक्ट नहीं हुआ है। इसलिए टीका लेने में उत्साह दिखाएं और अधिक से अधिक संख्या में लोग टीका लेने के लिए केंद्र पर पहुंचे। अभी जिस तरह से युवावर्ग टीका लेने में उत्साह दिखा रहे हैं, उसी तरह से 45 से अधिक उम्र के लोगों को भी टीका लेने में उत्साह दिखाना चाहिए। इससे सभी लोगों का जल्द से जल्द टीकाकरण हो सकेगा और हमलोग कोरोना पर जल्द विजय पा लेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.