कोरोना वैक्सीन के फर्स्ट डोज़ सेचुरेशन को जिला के सभी प्रखंडों में हो रहा है सर्वें

  • सभी पीएचसी क्षेत्र में आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर कोरोना वैक्सीनेशन के बारे में जुटा रही जानकारी
  • सर्वे के बाद प्राप्त डाटा के अनुसार फिक्सड सेशन साइट के माध्यम से बचे हुए लोगों का कराया जाएगा टीकाकरण
    -सर्वे मे केयर इण्डिया कर रहा सहयोग
    मुंगेर, 23 सितंबर। कोरोना वैक्सीन के फर्स्ट डोज़ सेचुरेशन के लिए केयर इंडिया के सहयोग से जिला के सभी प्रखंडों में सर्वें का काम हो रहा है। इस सर्वे को करने का मुख्य उद्देश्य यह कि सर्वे के माध्यम से यह पता किया जा सके कि मुंगेर जिला में अभी कितने लोग हैं जिन्होंने कोरोना वैक्सीन की एक भी खुराक नहीं ली है। इसके बाद फिक्स्ड सेशन साइट बनाकर तथा अलग-अलग वैक्सीनेशन टीम के माध्यम से बचे हुए लोगों का वैक्सीनेशन कराया जाएगा ताकि जल्द जिला में कोरोना वैक्सीन के फर्स्ट डोज का 100 परसेंट अचीवमेंट प्राप्त किया जा सके।

केयर इंडिया मुंगेर के डीटीओ ऑन तबरेज आलम ने बताया कि मुंगेर के बरियारपुर प्रखण्ड के साथ- साथ सभी प्रखंड़ों में केयर इंडिया की प्रखण्ड स्तर पर काम कर रही टीम और आशा कार्यकर्ता के द्वारा घर – घर जाकर एक निर्धारित फॉर्मेट के अनुसार लोगों से उनके परिवार में कितने लोगों ने कोरोना का टीका नहीं लिया है या टीका का सिर्फ पहली खुराक ली है या फिर टीका की दोनों खुराक ले ली है सम्बंधित जानकारी सर्वे के माध्यम से इकट्ठा कर रहे हैं । इस सर्वे से यह जानकारी प्राप्त हो सकेगी कि मुंगेर में अभी भी कितने लोग कोरोना वैक्सीन की कोई भी डोज लेने से वंचित हैं। इसके बाद फिक्स्ड सेशन साइट और अलग-अलग वैक्सीनेशन टीम के द्वारा बचे हुए सभी लोगों को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगाकर जिला में वैक्सीन की पहली डोज के सेचुरेशन के साथ- साथ 100 परसेंट अचीवमेंट प्राप्त किया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि सर्वे कर्ता के रूप में आशा के साथ – साथ अन्य सभी लोग एक फॉर्मेट के अनुसार जानकारी इकट्ठा करेगी। जिसमें वो सबसे पहले प्रखण्ड का नाम, सर्वेकर्ता का नाम, सर्वे की तिथि, पंचायत का नाम, वार्ड संख्या, आंगनबाड़ी केंद्र संख्या, घर के मुखिया का नाम, परिवार में सदस्यों की कुल संख्या, 10 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों की कुल संख्या, कोविड वैक्सीन कितनों ने ली है, कितने लोगों ने वैक्सीन नहीं ली है और कितने लोगों ने वैक्सीन की दोनों खुराक ले ली है संबंधित जानकारी प्राप्त कर अंकित करेगी। इसके साथ ही सर्वे फॉर्मेट के अगले हिस्से में लाभार्थी द्वारा कोरोना का टीका नहीं लेने का पूरा विवरण दर्ज करेगी। इसके अनुसार लाभार्थी का नाम, लाभार्थी के पिता या पति का नाम, जन्म का साल, पहचान पत्र का प्रकार, पहचान पत्र का पूर्ण विवरण, मोबाइल नंबर, टीका न लेने का कारण और अभियुक्ति दर्ज करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *