कोरोना वैक्सीन को लेकर आम लोगों को जागरूक कर रहे हैं स्वास्थ्यकर्मी

  • कोरोना वैक्सीन के लिए जागरूकता कार्यक्रम आवश्यक
  • भारत सरकार द्वारा जारी किए गए तमाम मानकों को पूरा करने के बाद तैयार की गयी है कोरोना वैक्सीन

लखीसराय-

जिले में कोरोना वैक्सीन के जल्द आने की सम्भावनाओं के बीच सभी आवश्यक तैयारियां पूरी की जा रही हैं । पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों और आईसीडीएस कर्मियों को कोरोना का वैक्सीन लगाने की घोषणा की गयी है। इसको लेकर सबों का डाटाबेस तैयार किया जा रहा है । साथ हीं वैक्सीन के भंडारण और ट्रांसपोर्टेशन कि व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है । वहीं लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षित भी किया जा रहा है। इसी बीच लोगों के अंदर कोरोना वैक्सीन को ले कोई भ्रांति घर न कर जाय इसके लिए स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा लोगों को जागरूक करने का काम किया जा रहा है।

लोगों को कोरोना वैक्सीन के प्रति विश्वास दिलाने के लिए ही सबसे पहले वैक्सीन लगाने वाले स्वास्थ्यकर्मियों का किया जा रहा है वैक्सीनेशन :
लखीसराय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रखंड अस्पताल प्रबंधक अनिल कुमार ने बताया कि जिले के लोगों को कोरोना वैक्सीन के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से हीं सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों का वैक्सीनेशन होना है। ताकि जब वो लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए वैक्सीनेशन बूथ पर जाएँ तो लोगों को यह विश्वास दिला पाएं कि कोरोना का यह वैक्सीन हर किसी के लिए पूरी तरह से सुरक्षित है। लोगों को यह पता हो कि वैक्सीन लगाने से पूर्व सभी टीका कर्मियों ने खुद कोरोना का टीका लगवाया है।

भारत सरकार के सभी मानकों का पालन करते हुए तैयार किया गया है कोरोना का वैक्सीन :
लखीसराय पीएचसी में आयुष चिकित्सक के तौर पर कार्यरत डॉ. प्रेम आनंद ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए तैयार की गयी वैक्सीन पूरी तरह से भारत सरकार द्वारा तैयार किए गए मानकों के अनुसार है। इसलिये लोगों को इसके प्रति पनपने वाली किसी भी भ्रांतियों से सावधान रहते हुए वैक्सीन लगवाने के लिए आगे आने की आवश्यकता है।

नियमित टीकाकरण की तरह कोरोना टीकाकरण भी अतिआवश्यक :
लखीसराय के जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. अशोक कुमार भारती ने बताया कि नियमित टीकाकरण के तहत 12 तरह की बीमारियों से बचाव के लिए लगाए जाने वाले टीका की तरह हीं कोरोना का टीका सभी लोगों को लगवाना आवश्यक है। ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोका जा सके। उन्होंने बताया कि पोलियो से बचाव के लिए जब वैक्सीन के तौर पर पोलियो ड्रॉप पिलाने के अभियान की शुरुआत हुई थी तो उस समय भी लोगों के मन में यह आशंका थी कि पता नहीं पोलियो पर नियंत्रण किया जा सकेगा या नहीं। बावजूद इसके आज के दिन भारत लगभग पोलियो मुक्त ही गया है। उसी तरह से कोरोना वैक्सीन के प्रति भी सकारात्मक सोच के साथ आगे आने की आवश्यकता है ताकि कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को जल्द से जल्द रोका जा सके।

कोरोना का वैक्सीन आने तक सभी लोग अनिवार्य रूप से बरतें ये सावधानी :

  • वैक्सीन के आने तक सभी लोग घर से बाहर निकलने पर अनिवार्य रूप से करें मास्क का नियमित इस्तेमाल। क्योंकि अभी मास्क हीं वैक्सीन है।
  • किसी भी प्रकार की चीजों को छूने पर अपने हाथों को साबून या हैंड सैनिटाइजर से करें साफ ।
  • घर से बाहर भीड़-भार वाले स्थान पर जाने पर शारीरिक दूरी के नियम का पालन करते हुए एक दूसरे से कम से दो गज या छह फीट की दूरी रखें।
  • घर से बाहर खाने-पीने से करें परहेज, घर में बने खाना और पानी को दे प्राथमिकता ।
  • अनावश्यक अपने मुंह, नाक कान और आंखों को छूने से करें परहेज ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.