खगड़िया जिला अस्पताल में दो दिवसीय लक्ष्य कार्यक्रम प्रशिक्षण का हुआ समापन 

– प्रसव कक्ष और ऑपरेशन थियेटर की एएनएम और अन्य कर्मियों को दिया गया प्रशिक्षण 
– लक्ष्य कार्यक्रम से गुणवत्तापूर्ण प्रसव को मिलेगा बल, मातृ एवं शिशु की अस्वस्थता व मृत्यु दर में आएगी कमी 

खगड़िया, 24 फरवरी।
बुधवार से जिला अस्पताल में चल रहे लक्ष्य कार्यक्रम से संबंधित दो दिवसीय प्रशिक्षण का गुरुवार को समापन हो गया। इस प्रशिक्षण का आयोजन सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डाॅ योगेन्द्र नारायण प्रेयसी की देखरेख में सफलतापूर्वक संपन्न हुआ।  यह प्रशिक्षण डाॅ गजेंद्र कुमार एवं केयर इंडिया के फैमिली प्लानिंग के जिला समन्वयक राजेश पांडेय द्वारा दिया गया। प्रशिक्षण में अस्पताल के प्रसव कक्ष एवं ऑपरेशन थियेटर के सभी एएनएम एवं अन्य कर्मी शामिल हुए। जिसमें मौजूद सभी कर्मियों को प्रशिक्षक द्वारा लक्ष्य कार्यक्रम के सफल संचालन के लिए मूल्यांकन चेकलिस्ट के क्रियान्वयन समेत अन्य जानकारियाँ विस्तार पूर्वक दी गई। साथ ही उक्त कार्यक्रम का जरूरतमंदों को सुविधाजनक तरीके से लाभ मिल सके, इस पर भी बल दिया गया। 

– लक्ष्य कार्यक्रम के तहत प्रसव पीड़िता को मिलेगी बेहतर स्वास्थ्य सुविधा : 
खगड़िया सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डाॅ योगेन्द्र नारायण प्रेयसी ने बताया, लक्ष्य कार्यक्रम से ना सिर्फ गुणवत्तापूर्ण और सुरक्षित प्रसव को बढ़ावा मिलेगा बल्कि, इससे शिशु-मातृ मृत्यु दर में भी कमी आएगी। इसका सकारात्मक बदलाव भी देखा जा रहा है। दरअसल, इस कार्यक्रम का उद्देश्य ही है प्रसव एवं प्रसव के बाद देखभाल में सुधार करना। इस कार्यक्रम के तहत लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। लक्ष्य कार्यक्रम सभी अस्पतालों में क्रियान्वित की जा रही है । सभी जगह इस कार्यक्रम के तहत सुरक्षित एवं गुणवत्तापूर्ण प्रसव को बढ़ावा मिल रहा है। 

– लक्ष्य कार्यक्रम के तहत गर्भवती महिला की देखभाल में होगा सुधार : 
केयर इंडिया के फैमिली प्लानिंग के जिला समन्वयक राजेश पांडेय ने बताया, इस कार्यक्रम के तहत प्रसव कक्ष, ऑपरेशन थियेटर, प्रसव संबंधी गहन देखभाल इकाइयों और उच्च निर्भरता इकाइयों (एचडीयू) में गर्भवती महिलाओं की देखभाल में सुधार होगा।  साथ ही प्रत्येक गर्भवती महिला और सार्वजनिक स्वास्थ्य संस्थानों में जन्म लेने वाले नवजात शिशु लाभान्वित होंगे। सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं में सम्मानीय मातृत्व देखभाल (आरएमसी) की सुविधा प्रदान की जाएगी। इस पहल के अंतर्गत बहुमुखी रणनीति अपनाई गई है। जिनमें बुनियादी ढांचागत सुधार, उन्नयन, आवश्यक उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित करना, पर्याप्त मानव संसाधन उपलब्ध कराना, स्वास्थ्य कर्मियों की क्षमता बढ़ाना और प्रसूति गृहों में सुविधाओं में सुधार लाना शामिल है।

– लक्ष्य कार्यक्रम में केयर इंडिया भी कर रहा है सहयोग : 
लक्ष्य कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए केयर इंडिया भी सहयोग कर रहा व  कार्यक्रम को बढ़ावा देने के लिए हर संभव मदद कर रहा है। ताकि इस कार्यक्रम का लोगों को बेहतर तरीके से लाभ मिले सके और सभी लोग सुविधाजनक तरीके से लाभान्वित हो सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: