चुनाव नतीजों पर मोदी ने जनता को बधाई देते हुए कहा उत्साह और उत्सव का दिन है

उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे आ गए हैं। चार राज्यों में भाजपा की सरकार बनती दिखाई दे रही है। हालांकि देश दुनिया की निगाहें उत्तर प्रदेश पर थी। उत्तर प्रदेश में भाजपा के लिए सत्ता में वापसी करना एक बड़ी चुनौती थी। इन सब के बीच भाजपा ने उत्तर प्रदेश में 270 से ज्यादा सीटों पर अपनी पकड़ मजबूत कर चुकी है। जाहिर सी बात है कि एक बार फिर से उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार बनती दिखाई दे रही है। इसी को लेकर भाजपा में जबरदस्त जश्न का माहौल है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पार्टी कार्यालय पहुंचे जहां हो भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने उनका स्वागत किया।

इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज उत्साह और उत्सव का दिन है। मैं इन चुनावों में हिस्सा लेने वाले सभी मतदाताओं को बधाई देता हूं। उनके निर्णय के लिए मतदाताओं का आभार व्यक्त करता हूं। विशेष रूप से हमारी माताओं, बहनों और युवाओं ने जिस तरह से भाजपा का समर्थन किया वह अपने आप में बड़ा संदेश है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि चुनाव के दौरान भाजपा के कार्यकर्ताओं ने मुझसे वादा किया था कि इस बार होली 10 मार्च से ही शुरू हो जाएगी। हमारे कर्मठ कार्यकर्ताओं ने अपने वादे को पूरा करके दिखाया है। मैं अपने कार्यकर्ताओं की भूरी-भूरी प्रशंसा करूंगा, जिन्होंने इन चुनावों में कड़ी मेहनत की है।
मोदी ने कहा कि बीजेपी का वोट शेयर मणिपुर, उत्तर प्रदेश और गोवा में सत्ता में रहने के बाद भी बढ़ा है. गोवा में सभी एग्जिट पोल गलत साबित हुए और गोवा के लोगों ने हमें लगातार तीसरी बार उनकी सेवा करने का मौका दिया है। यूपी ने देश को अनेक प्रधानमंत्री दिए हैं, लेकिन 5 साल का कार्यकाल पूरा करने वाले मुख्यमंत्री के दोबारा चुने जाने का ये पहला उदाहरण है। यूपी में 37 साल बाद कोई सरकार लगातार दूसरी बार आई है। तीन राज्य यूपी, गोवा और मणिपुर में सरकार में होने के बावजूद भाजपा के वोट शेयर में वृद्धि हुई है। गोवा में सारे एग्जिट पोल गलत निकल गए और वहां की जनता ने तीसरी बार सेवा करने का मौका दिया है। सीमा से सटा एक पहाड़ी राज्य, एक समुद्र तटीय राज्य, मां गंगा का विशेष आशीर्वाद प्राप्त एक राज्य और पूर्वोत्तर सीमा पर एक राज्य, भाजपा को चारों दिशाओं से आशीर्वाद मिला है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इन राज्यों की चुनौतियों भिन्न हैं, सबकी विकास यात्रा का मार्ग भिन्न है, लेकिन सबको जो बात एक सूत्र में पिरो रही है, वो है- भाजपा पर विश्वास, भाजपा की नीति, भाजपा की नीयत और भाजपा के निर्णयों पर अपार विश्वास। उन्होंने कहा कि गरीबों के नाम पर घोषणाएं बहुत बनी, योजनाएं बहुत बनी, लेकिन जिस गरीब का उस पर हक था, वो हक उसे बिना परेशानी के मिले, उसके लिए गुड गवर्नेंस और डिलिवरी का बड़ा महत्व होता है। भाजपा इस बात को समझती है। इन चुनावों में राज्यों की महिलाओं ने अहम भूमिका निभाई है। उन्होंने हमें आशीर्वाद दिया है – हमने उन क्षेत्रों में शानदार जीत हासिल की है जहां महिला मतदाताओं का दबदबा है। हमारी नारी शक्ति इस जीत में हमारी सहयोगी रही है। कुछ लोग ये कहकर यूपी को बदनाम करते हैं कि यहां के चुनाव में तो जाति ही चलती है। 2014 के चुनाव नतीजे देखें, 2017, 2019 के नतीजे देखें और अब फिर 2022 में भी देख रहे हैं, हर बार यूपी के लोगों ने विकासवाद की राजनीति को ही चुना है।

वाराणसी से सांसद ने कहा कि मैं आज ये भी कहूंगा कि 2019 के चुनाव नतीजों के बाद, कुछ पॉलिटिकल ज्ञानियों ने कहा था कि 2017 के नतीजों ने 2019 के नतीजे तय कर दिए। मैं मानता हूं इस बार भी वो यही कहेंगे कि 2022 के नतीजों ने 2024 के नतीजे तय कर दिए। मैं आज पंजाब के भाजपा कार्यकर्ताओं की भी विशेष प्रशंसा करूंगा। उन्होंने विपरीत परिस्थितियों में जिस प्रकार पार्टी का झंडा बुलंद किया है, वो आने वाले समय में पंजाब में भाजपा की और देश की मजबूती को एक अहम स्थान के रूप में विकसित करेंगे। मोदी ने कहा कि सीमावर्ती राज्य होने के नाते, पंजाब को अलगाववादी राजनीति से सतर्क रखने के कार्य को भाजपा का कार्यकर्ता जान की बाजी लगाकर भी करता रहेगा। आने वाले 5 सालों में भाजपा का हर कार्यकर्ता वहां इस दायित्व को जोर शोर से निभाने वाले है, ये विश्वास मैं आज पंजाब की जनता को देना चाहता हूं।

मोदी ने कहा कि इस वैश्विक संदर्भ में, इन कठिनाइयों के बीच इस बार के बजट पर नजर डालें तो एक विश्वास पैदा होता है कि देश आत्मनिर्भर भारत अभियान के मार्ग पर आगे बढ़ रहा है। इस भावना को इस बार के बजट से और ऊर्जा मिली है। वैक्सीनेशन के हमारे प्रयासों की दुनिया प्रशंसा कर रही है लेकिन इस पवित्र कार्य पर, भारत की वैक्सीन पर सवाल उठाए गए। दुर्भाग्य की बात है कि जब यूक्रेन में हजारों भारतीय छात्र, भारतीय नागरिक फंसे हुए थे, तब भी देश का मनोबल तोड़ने की बातें हो रहीं थीं। इन चुनावों में मैंने लगातार हर विषय पर भाजपा का विजन लोगों के सामने रखा। इसके साथ ही जिस बात पर मैंने चिंता जताई थी, वो थी घोर परिवारवाद। मैं किसी परिवार के खिलाफ नहीं हूं, न ही मेरी किसी से व्यक्तिगत दुश्मनी है। मैं लोकतंत्र की चिंता करता हूं।

पार्टी कार्यालय में भाजपा के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह अमित शाह और नितिन गडकरी भी मौजूद रहे। हजारों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता पार्टी कार्यालय में मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: