जनसंख्या दिवस अभियान की सफलता को लेकर सिविल सर्जन और एसीएमओ की अध्यक्षता में हुई ज़ूम मीटिंग

  • ज़ूम मीटिंग में शामिल हुए जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम, डीसीएम, विभिन्न पीएचसी के मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी सहित आईसीडीएस, जीविका और केयर इंडिया के प्रतिनिधि
  • ” आपदा में भी परिवार नियोजन कि तैयारी, सक्षम राष्ट्र और परिवार की पूरी जिम्मेदारी ” के थीम पर आयोजित किया जा रहा है अभियान

मुंगेर –
प्रतिवर्ष 11 जुलाई को मनाया जाने वाले विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर 27 जून से 10 जुलाई तक और 11 जुलाई से 24 जुलाई तक दो चरणों में विश्व जनसंख्या दिवस अभियान आयोजित किया जा रहा है। मंगलवार को इस अभियान की सफलता को ले मुंगेर के सिविल सर्जन डॉ. हरेन्द्र आलोक, और अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. अजय कुमार भारती की अध्यक्षता में एक ज़ूम मीटिंग आयोजित की गई। इस ज़ूम मीटिंग में जिला स्वास्थ्य समिति के डीपीएम नसीम रजि, डीसीएम निखिल राज, आईसीडीएस और जीविका के प्रतिनिधि, मुंगेर के सभी सीएचसी और पीएचसी के मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी, प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक, प्रखंड सामुदायिक उत्प्रेरक के साथ ही केयर इंडिया की डीटीओऑफ़, फैमिली प्लांनिग कॉर्डिनेटर के साथ मुंगेर के सभी प्रखंडों में कार्यरत केयर इंडिया के प्रखंड प्रबंधक शामिल हुए।
27 जून से 10 जुलाई तक दंपति सम्पर्क पखवाड़ा मनाया जा रहा
मुंगेर में कार्यरत केयर इंडिया के फैमिली प्लानिंग कॉर्डिनेटर तस्नीम रजि ने बताया कि नेशनल हेल्थ मिशन द्वारा जारी किए गए कार्यक्रम के अनुसार प्रथम चरण में 27 जून से 10 जुलाई तक पॉपुलेशन मोबिलाइजेशन फोर्टनाइट ( दंपति सम्पर्क पखवाड़ा) मनाया जा रहा है। यह पखवाड़ा फैमिली प्लानिंग के महत्व के प्रति लोगों को जागरूक करने के ऊपर फोकस है। इसी तरह 11 से 24 जुलाई तक पॉपुलेशन स्टेबिलिसेशन फोर्टनाइट( जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा ) मनाया जाएगा । यह पखवाड़ा सर्विस प्रोविशन पर आधारित होगा। उन्होंने बताया कि इस वर्ष विश्व जनसंख्या दिवस अभियान ” आपदा में भी परिवार नियोजन की तैयारी, सक्षम राष्ट्र और परिवार की पूरी जिम्मेदारी ” थीम पर आधारित है।
ऑनलाइन तरीके से कॉउंसलिंग की जा रही
उन्होंने बताया कि मंगलवार को वर्ल्ड पॉपुलेशन डे कैंपेन के आयोजन को ले मुंगेर में सिविल सर्जन और एसीएमओ की अध्यक्षता में जिलास्तरीय और प्रखंड स्तरीय पदाधिकारियों की कैपिसिटी बिल्डिंग के लिए ज़ूम एप के माध्यम से वर्चुअल मीटिंग आयोजित हुई । इसके साथ ही आशा वर्कर, आईसीडीएस वर्कर के लिए भी ऑनलाइन कॉन्फ़्रेंस आयोजित किया जा रहा है। इसके अलावा डिस्प्ले पोस्टर के माध्यम से जनसंख्या स्थिरीकरण की आवश्यकता, विवाह में देरी और पहले बच्चे का जन्म समय और दो बच्चों के बीच कम से कम तीन साल के अंतराल के बारे में जागरूक किया जा रहा है। इसके साथ ही कॉन्ट्रासेप्टिव मेथड के इस्तेमाल के बारे में भी ऑनलाइन तरीके से कॉउंसलिंग की जा रही है।
कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए सर्विस प्रोवाइड कराया जाएगा-
उन्होंने बताया कि फैमिली प्लानिंग सर्विस के तौर पर मुख्य रूप से आईयूसीडी, इंसर्शन, कॉन्ट्रासेप्टिव इंजेक्टेबल एमपीए, टुबेक्टोमी, वैक्सोटोमी मेथड से अगले दो सप्ताह तक सभी जिला और प्रखण्ड मुख्यालय में कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए सर्विस प्रोवाइड कराया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Notice: Undefined index: amount in /home/u709339482/domains/mobilenews24.com/public_html/wp-content/plugins/addthis-follow/backend/AddThisFollowButtonsHeaderTool.php on line 82
%d bloggers like this: