जिले में 15नवंबर से फिर से शुरू होगा परिवार नियोजन पखवाड़ा


-कार्यपालक निदेशक ने पत्र जारी कर दिया आदेश
– दो चरणों में मनया जाएगा पखवाड़ा
-दम्पत्ति संपर्क सप्ताह एवं पुरुष नसबंदी पखवाड़ा

लखीसराय,12नवंबर । कोविड के प्रभाव के कम होते ही स्वास्थ्य विभाग ने फिर से अपनी मूलभूत सुविधा को बहाल करना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में कार्यपालक निदेशक के आदेश पर जिलाधिकारी संजय कुमार सिंह के नेतृत्व में परिवार नियोजन सेवा की सफलता को लेकर बैठक आयोजित हुई । इस बैठक में जिला सिविल सर्जन डॉ देवेन्द्र चौधरी एवं अपर मुख्य-चिकित्सा पाधिकारी के साथ जिले के सभी चिकत्सा पदाधिकारी ,प्रखण्ड स्वास्थ्य प्रबन्धक ,प्रखण्ड समुदायिक उत्प्रेरक के साथ पी आर आई ,केयर इंडिया एवं जीविका के पदाधिकारी मौजूद थे ।
बैठक को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि इस बार “पुरुषों ने परिवार नियोजन अपनाया सुखी परिवार का आधार बनाया “ थीम पर ये पखवाड़ा मनाया जाएगा। इसके लिए आशा एवं जीविका दीदी एवं आंगनबाड़ी सेविका घर –घर जाकर योग्य पुरुषों को इस बात के लिए जागरूक करेंगी। साथ ही इस बात के लिए भी जागरूक करें कि छोटा परिवार सुखी परिवार होता है । उन्होने आगे बताया कि जिले के हर प्रखण्ड से एक सौ पाँच पुरुषों की नसबंदी करवानी है । इसके लिए जिला सदर अस्पताल के साथ सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर समुचित व्यवस्था रहेगी ।
दो चरणों में मनाया जाएगा पखवाड़ा :
केयर इंडिया के जिला टीम लीड नावेद उर रहमान ने बताया कि परिवार नियोजन पखवाड़ा को दो चरणों में मनाया जाएगा। पहला 15 से 22 नवंबर तक दम्पत्ति संपर्क सप्ताह के रूप में एवं 22 नवंबर 4 दिसंबर तक पुरुष नसबंदी पखवाड़ा के रूप में मनाया जाएगा । उन्होंने बताया कि हम पुरुषों को इस बात को समझना होगा कि अगर हम छोटा परिवार रखते हैं तो हम हर तरह से प्रगति के रास्ते पर रहेंगे। चाहे वो शिक्षा का हो या कोई और क्षेत्र हमें इस मानसिकता को भी दूर करने की जरूरत है कि सिर्फ महिला ही परिवार नियोजन को अपना सकती है हम पुरुष नहीं ।
दम्पत्ति संपर्क सप्ताह में आशा कार्यकर्ता एवं आंगनबाड़ी सेविका के साथ जीविका दीदी अपने क्षेत्र के हर घर जाकर योग्य दम्पत्ति को परिवार नियोजन के स्थाई एवं अस्थाई सेवा के लिए जागरूक करेंगी। साथ ही योग्य दम्पत्ति का सर्वे भी अद्यतन करेंगी ।
मिलेगी प्रोत्साहन राशि :
केयर के जिला एफपीसी अनुराग गुंजन ने बताया कि आशा कार्यकर्ता ,आंगनबाड़ी सेविका के साथ जीविका दीदी की इस कार्य में मुख्य भूमिका है और उन्हें इसके लिए चार सौ रुपये हर नसबंदी पर दी जाएगी। लाभार्थी को भी उनके खाते में तीन हजार प्रोत्साहन राशि के रूप में दी जाएगी । साथ ही जिले के हर अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं हेल्थ एंड वेलनेस केन्द्रों पर शिविर लगाकर लोगों को अस्थाई सेवा के बारे में भी जागरूक किया जाएगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Notice: Undefined index: amount in /home/u709339482/domains/mobilenews24.com/public_html/wp-content/plugins/addthis-follow/backend/AddThisFollowButtonsHeaderTool.php on line 82
%d bloggers like this: