टाइफाइड के मरीजों की संख्या बढ़ रही, रहें सतर्क

बासी भोजन करने से बचें, पानी को उबालकर पीएं
दो-तीन दिन तेज बुखार हो तो तत्काल जांच कराएं

भागलपुर, 11 अगस्त
हाल के दिनों में जिले में टाइफाइड के मामले बढ़े हैं। बड़ी संख्या में टाइफाइड के मरीज इलाज के लिए अस्पतालों में आ रहे हैं। ऐसे में इसे लेकर सतर्क रहना जरूरी है। इससे बचाव के लिए तत्काल इलाज की जरूरत है। देखा जा रहा है कि लोग पहले सामान्य बुखार की चपेट में आ रहे हैं। दो-तीन बाद बुखार 102 डिग्री के पार चला जाता है। बाद में जांच में टाइफाइड की पुष्टि हो रही है। ऐसे में लक्षणों पर गौर करने की जरूरत है। अगर दो-तीन दिन तक लगातार बुखार रहे तो तत्काल जांच कराकर इलाज कराने की जरूरत है।
खरीक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ. नीरज कुमार सिंह का कहना है कि हाल के दिनों में टाइफाइड के मरीज बढ़े जरूर हैं, लेकिन इससे घबराने की जरूरत नहीं है। अगर किसी को लगातार 100 डिग्री से अधिक बुखार रह रहा है तो उसे तत्काल नजदीकि सरकारी अस्पताल में जाकर जांच कराने की आवश्यकता है। जांच में अगर टाइफाइड की पुष्टि हो जाती है तो तत्काल इलाज शुरू कर देने की आवश्यकता है। टाइफाइड के शुरुआती लक्षण दिखने पर ईलाज शुरू होने से मरीज के गंभीर होने की सम्भावना कम होती है, गंभीर होने पर भी चिंता की कोई बात नहीं है। गंभीर मामले भी चिकित्सकीय देखभाल से ठीक हो जाते हैं। इसलिए अगर लक्षण से लगे कि आप टाइफाइड से पीड़ित हैं तो तत्काल डॉक्टर को दिखाएं।
दूषित पानी पीने से बचेः अभी बाढ़ का समय है। अधिकतर क्षेत्र में बाढ़ा का पानी जमा हो गया है। टाइफाइड होने में दूषित पानी पीना महत्वपूर्ण कारण बनता है। इसलिए दूषित पानी पीने से बचेंइसलिए सामान्य तौर पर भी बुखार हो तो पानी को उबाल कर पीएं। सामान्य व्यक्ति भी अभी के मौसम में पानी को उबालकर पीएं ही तो बेहतर रहेगा। गंदगी, नाले-नालियों के आसपास और गंगा किनारे रहने वाले लोगों को इसे लेकर खासा सतर्क रहने की जरूरत है। साथ में गर्म भोजन ही करें। बासी भोजन या काफी देर का बना खाना खाने से बचें। बासी भोजन को गर्म कर खाने की आदत से भी परहेज रखें। बहुत लोगों को देखा जाता है कि बासी खाना को गर्म कर ताजा खाना समझने की भूल कर बैठते हैं। ऐसी गलती करने से बचें।
जंक फूड से रहें सावधानः अभी के समय में जंक फूड खाने का चलन बढ़ा है। इससे न सिर्फ टाइफाइड के मामले बढ़े, बल्कि दूसरी बीमरियां भी हो रही हैं। जंक फूड किसी भी सूरत में सेहतमंद नहीं रहता है। ऊपर से साफ-सफाई का बेहतर ध्यान भी नहीं रखा जाता है। इसलिए जंक फूड खाने से बचें। जंक फूड में जो गंदगी मौजूद रहती है, उससे भी टाइफाइड होने का खतरा रहता है। इसलिए अगर टाइफाइड समेत अन्य बीमारियों से बचने के लिए जंक फूड का इस्तेमाल नहीं करें। खुले में बिक रहे चाट-पकौड़ियों को खाने से हर हाल में परहेज करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *