ट्रेनिंग के दौरान बताए गए ज्ञान को शालीनतापूर्वक ग्रहण करने के बाद कार्य रूप में उतारें जीएनएम नर्सें

  • सदर अस्पताल मुंगेर सहित अनुमंडल अस्पताल तारापुर में नई जीएनएम के लिए इंडक्शन ट्रेनिंग का आयोजन
  • 16 से 20 और 23 से 26 अगस्त तक दो बैच में जीएनएम नर्स को दी जारी है इंडक्शन ट्रेनिंग

मुंगेर 16 अगस्त| इंडक्शन ट्रेनिंग के दौरान ट्रेनर द्वारा बताए गए ज्ञान को शालीनता पूर्वक ग्रहण करने के बाद जीएनएम नर्सें इसे कार्यरूप में उतारें| तभी इस ट्रेनिंग की सार्थकता सिद्ध हो सकती है। उक्त बातें सोमवार को सदर अस्पताल परिसर में आयोजित जीएनएम इंडक्शन ट्रेनिंग कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए मुंगेर के सिविल सर्जन डॉ. हरेन्द्र आलोक ने कही। उन्होंने बताया कि बिहार सरकार के स्वास्थ्य निदेशालय के निदेशक प्रमुख डॉ. कौशल कुमार के निर्देशानुसार सदर अस्पताल मुंगेर के साथ – साथ अनुमंडल अस्पताल तारापुर में 16 से 20 और 23 से 26 अगस्त तक दो बैच में नई जीएनएम नर्स के लिए चार दिवसीय जीएनएम इंडक्शन ट्रेनिंग का आयोजन किया जा रहा है। 19 अगस्त को छुट्टी की वजह से प्रशिक्षण नहीं होगा। उन्होंने बताया कि मुंगेर, धरहरा और हवेली खड़गपुर की कुछ जीएनएम नर्स का बुनियादी प्रशिक्षण सदर अस्पताल मुंगेर में और तारापुर, संग्रामपुर, और हवेली खड़गपुर के कुछ जीएनएम नर्स का बुनियादी प्रशिक्षण अनुमंडल अस्पताल तारापुर में सोमवार से शुरू हुआ है।
प्रशिक्षण कार्यक्रम में डीपीएम, डीएस सहित कई गणमान्य लोग थे मौजूद
केयर इंडिया की डीटीओएफ डॉ. नीलू ने बताया कि जीएनएम इंडक्शन ट्रेनिंग के उद्घाटन के अवसर पर सिविल सर्जन हरेन्द्र आलोक के अलावा डीपीएम नसीम रजि, सदर अस्पताल मुंगेर के अस्पताल उपाधीक्षक डॉ. पीएम सहाय, सदर अस्पताल के अस्पताल प्रबंधक तौसीफ हसनैन, अकॉन्टेन्ट उत्तम कुमार, केयर इंडिया के डीटीओ ऑन तबरेज आलम के साथ ही कई अन्य गणमान्य अतिथि और जीएनएम नर्स मौजूद थी। उन्होंने बताया कि बुनियादी प्रशिक्षण की शुरुआत प्रार्थना के साथ हुई और चार दिनों तक चलने वाले इस बुनियादी प्रशिक्षण के दौरान जीएनएम नर्स को रोल्स एंड रेस्पोंसबलिटी, जॉब डिस्क्रिप्शन, नर्सिंग एथिक्स एंड प्रोफेशनल कंडक्ट के साथ -साथ कॉम्युनिकेशन यूसिंग एसबीएआर, हैंडलिंग डिफिकल्ट सिचुएशन/प्रॉब्लम सॉल्विंग के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाएगी।
इन मानकों का करें पालन और कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर :

  • मास्क का उपयोग और शारीरिक दूरी का पालन जारी रखें।
  • अनावश्यक घरों से बाहर नहीं निकलें और भीड़-भाड़ वाले जगहों से परहेज करें।
  • विटामिन-सी युक्त पदार्थों का अधिक सेवन।
  • साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें और सैनिटाइजर का उपयोग करें।
  • नियमित तौर पर लगातार साबुन या अल्कोहल युक्त पदार्थों से अच्छी तरह हाथ धोएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.