तमाम चुनौतियों के बाबजूद अपने कर्तव्य पथ पर नहीं थकीं हैं एएनएम लवली कुमारी

  • गाँव-गाँव जाकर लोगों को दे रहीं है वैक्सीन,
    -अबतक तीन हजार से अधिक लोगों का कर चुकी हैं वैक्सीनेशन
  • जिले में कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान की शुरुआत से ही दे रही हैं अनवरत सेवा

खगड़िया, 02 अगस्त-

जिले में कोविड-19 संक्रमण वायरस के खिलाफ शुरू हुए वैक्सीनेशन अभियान को सफल बनाने में स्वास्थ्य कर्मियों को तरह-तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ा रहा है। किन्तु, तमाम समस्याओं और चुनौतियों को झेलने के बाबजूद स्वास्थ्य कर्मी इस अभियान को पूरी तरह सफल बनाने के लिए अपने कर्तव्य पथ पर अग्रसर हैं। ताकि एक भी व्यक्ति वैक्सीन से वंचित नहीं रहें और इस महामारी को पूरी तरह जड़ से मिटाया जा सके। ऐसे ही कर्मियों में चौथम सीएचसी की एएनएम लवली कुमारी का नाम जिले में शुमार है। लवली, जब वैक्सीन अभियान का जिले में शुभारंभ हुआ था, तब से वैक्सीनेशन कार्य में जुटी हैं और लगातार लोगों का वैक्सीनेशन कर रही हैं । इतना ही नहीं, वैक्सीनेशन के साथ-साथ लोगों को वैक्सीन लेने के लिए प्रेरित भी कर रही हैं। इसके लिए वह समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुँच कर लोगों को वैक्सीन की सही जानकारी, वैक्सीन लेने के फायदे समेत अन्य जानकारियाँ दे रही हैं। ताकि लोग अफवाहों से बाहर आकर वैक्सीन लें और शत-प्रतिशत लोगों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित हो सके।

  • मुश्किल वक्त में सकारात्मक परिणाम की उम्मीद के साथ कर्तव्य पथ पर डटी :
    एएनएम लवली बताती हैं , वक्त जरूरी मुश्किल था, पर मेरी जिम्मेदारी बड़ी थी। इसलिए, सकारात्मक परिणाम की उम्मीद के साथ अपने कर्तव्य पथ पर डटी रही हैं । इस दौरान तमाम चुनौतियों का सामना करना पड़ा। दरअसल, जिले में वैक्सीनेशन अभियान के साथ अफवाहों का भी दौर शुरू हो गया, जो ना सिर्फ मेरे लिए बल्कि पूरे सिस्टम के लिए सबसे बड़ी चुनौतियों के रूप उभर कर सामने आई। किन्तु, तमाम स्वास्थ्य कर्मी इसे चुनौती नहीं, बल्कि अवसर समझकर अपने कर्तव्य पथ पर डटी रही । जिसका परिणाम यह रहा कि लोगों में वैक्सीन के प्रति विश्वास बढ़ा और अब लोग खुद वैक्सीन लेने के प्रति आगे आने लगे हैं। इससे ना सिर्फ वैक्सीनेशन अभियान को गति मिली, बल्कि लोगों के सहयोग से अफवाहों को भी मात मिली।
  • माँ की ममता पर भारी पड़ी कर्तव्य की निष्ठा :
    एएनएम लवली ने बताया, मेरे पति बेगुसराय में शिक्षक हैं| वह वहीं रहते हैं। जबकि, मैं खगड़िया में ही अपने मायके के समीप की गाँव में किराए पर मकान लेकर रहती हूँ। मुझे दो बच्चे हैं, एक की उम्र 12 वर्ष तो दूसरे की मात्र ढाई साल है। बड़ा बेटा अपने पिता के साथ बेगूसराय में रहता है तो ढाई साल का छोटा बेटा मेरे साथ रहता है। जिसे मैं अपने मायके के वालों के पास छोड़ कर नियमित अपनी ड्यूटी पर आती हूँ और वैक्सीनेशन अभियान के शुभारंभ के साथ लगातार ड्यूटी पर ही डटी हूँ। वहीं, लवली ने बताया, इस दौरान मुझे परिवार वालों का भी काफी सहयोग मिल रहा और उसी सहयोग के बदौलत अपने कर्तव्य का पालन करने में खुद सक्षम महसूस कर रही है। लवली, अपने कर्तव्य के प्रति इतनी निष्ठावान हैं कि वह इस दौरान घर तक नहीं गई।
  • तीन हजार से अधिक लोगों का कर चुकी हैं वैक्सीनेशन :
    चौथम सीएचसी में तैनात केयर इंडिया के प्रखंड प्रबंधक करण ने बताया, लवली हमेशा अपने कार्य के प्रति मुस्तैद और सजग रहती हैं । वह तमाम चुनौतियों के बाबजूद कभी अपने कर्तव्य पथ पर नहीं थकी और पूरी मुस्तैदी के साथ डटी रही। जिसका परिणाम यह रहा लवली की इस पहल का लोगों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा और अफवाहों को मात मिली। वह अबतक तीन हजार से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन कर चुकी हैं | र एक भी व्यक्ति वैक्सीन लेने से वंचित नहीं रहें, इसके लिए हमेशा तत्पर रहती हैं।
  • इन मानकों का करें पालन और कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर :
  • मास्क का उपयोग और शारीरिक दूरी का पालन जारी रखें।
  • विटामिन-सी युक्त पदार्थों का अधिक सेवन।
  • साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें और सैनिटाइजर का उपयोग करें।
  • बारी आने पर निश्चित रूप से वैक्सीनेशन कराएं और दूसरों को भी प्रेरित करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.