दिल्ली में इस बार फीका रहेगा नवरात्रि, केजरीवाल ने लोगों से नियमों का पालन करने की अपील

कोविड-19 महामारी के मद्देनजर दिल्ली की तीन सबसे बड़ी रामलीलाओं की मेजबानी करने वाला लाल किले का मैदान इस बार खाली रहेगा और शनिवार से शुरू हुआ नवरात्रि उत्सव भी फीका रहने की उम्मीद है। इस बार कहीं पर भी 11-दिवसीय इस उत्सव को धूमधाम से मनाने की कोई गुंजाइश नहीं है, कई कमेटियां सिर्फ छोटे स्तर पर प्रतीकात्मक पूजन कर रही हैं। हालांकि, कहीं भी मेलों का आयोजन नहीं किया जा रहा है, इसके बावजूद मंदिरों ने श्रद्धालुओं की भीड़ से निपटने के लिए इंतजाम शुरू कर दिए हैं। राजधानी में अब भी कोरोना के 22,814 एक्टिव मामले हैं, वहीं यह बीमारी दिल्ली में अब तक 5,946 लोगों की जान ले चुकी है।

केजरीवाल ने हिंदी में एक ट्वीट कर कहा, “आज से नवरात्र शुरू हो रहे हैं। आप सबको इस पावन पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं। माँ दुर्गा की कृपा आप सभी पर सदा बनी रहे। कोरोना संकट के कारण मेरी आप सभी से अपील है कि सार्वजनिक जगहों पर नियमों का ख्याल जरूर रखें और हमेशा मास्क पहन कर ही बाहर जाएं।”

हर साल लाल किले में 11 दिवसीय कार्यक्रम आयोजित करनी वाली लव-कुश रामलीला कमेटी के महासचिव अर्जुन कुमार ने कहा कि उन्होंने इस साल वह कोई उत्सव नहीं कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि 40 साल में ऐसा पहली बार हुआ कि लव कुश रामलीला नहीं होगी। दिल्ली सरकार ने नवरात्रि की शुरुआत से बड़ी मुश्किल से पांच दिन पहले 11 अक्टूबर को उत्सवों पर दिशानिर्देश जारी किए, इसलिए, हमारे लिए इतने कम समय में योजना बनाना और तैयारी करना असंभव था।

दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने 11 अक्टूबर को एक आदेश जारी कर नवरात्रि और दुर्गा पूजा को राजधानी में सीमित संख्या लोगों के साथ आयोजित करने की अनुमति दी थी। इसके साथ ही डीडीएमए ने 31 अक्टूबर तक सभी प्रकार के मेलों, फूड स्टॉलों, प्रदर्शनियों, रैलियों और जुलूसों पर रोक लगा दी है।

अर्जुन कुमार ने कहा कि कोई भी जोखिम नहीं लेना चाहता क्योंकि इस तरह के आयोजनों में सैकड़ों कलाकार भारी भीड़ जुटती है, जिससे बड़ी संख्या में लोगों को बीमारी का खतरा होता है। उन्होंने कहा कि हमारी रामलीला में 250 कलाकार शामिल होते हैं जो एक-दूसरे के चेहरे का मेकअप करते हैं जिसका अर्थ है एक-दूसरे के संपर्क में आना। अगर संयोग से किसी को संक्रमण हो जाता है, तो 11 दिनों के लिए व्यवस्था करने का सारा प्रयास व्यर्थ चला जाएगा क्योंकि बाकी दिनों के लिए स्थान को सील के लिए सील कर दिया जाएगा।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *