नवगछिया अनुमंडल अस्पताल पहुंचा ऑक्सीजन प्लांट का कंटेनर

-कंटेनर को नवगछिया अनुमंडल अस्पताल में किया जाएगा इंस्टॉल
-कंटेनर इंस्टॉल होने के बाद ऑक्सीजन का उत्पादन जल्द होगा शुरू

भागलपुर, 18 अगस्त| कोरोना की तीसरी लहर से निबटने की तैयारी जिले में काफी तेज गति से चल रही है। तीसरी लहर आए या नहीं आए, लेकिन स्वास्थ्य विभाग अपने स्तर से तैयारी में कोई कमी नहीं रखना चाहता है। इसी सिलसिले में बुधवार को ऑक्सीजन प्लांट का कंटेनर नवगछिया अनुमंडल अस्पताल पहुंचा। कंटेनर को जल्द इंस्टॉल किया जाएगा। इसके बाद ऑक्सीजन का उत्पादन भी जल्द ही शुरू होने लगेगा। मालूम हो कि कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर जिले में कई ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण कराया जा रहा है, उनमें से एक नवगछिया अनुमंडल अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण कराया जा रहा है। यहां पर बियाडा द्वारा प्लांट का निर्माण कराया जा रहा है। इसे लेकर जमीन चिह्नित करने से लेकर अन्य काम पहले ही कर लिया गया है।
अनुमंडल अस्पताल के डीएस डॉ. अरुण कुमार ने कहा कि ऑक्सीजन प्लांट का कंटेनर पहुंच गया है। पटना से टेक्नीशियन की टीम आकर जल्द इसे इंस्टॉल करेगी। कंटेनर इंस्टॉल होने के बाद ऑक्सीजन उत्पादन की ओर तेजी से काम किया जाएगा। जब नवगछिया के अनुमंडल अस्पताल में ऑक्सीजन का उत्पादन होने लगेगा तो यहां इलाज कराने के लिए आने वाले मरीजों को काफी फायदा पहुंचेगा। गंभीर से गंभीर मरीजों को ऑक्सीजन के लिए भागलपुर नहीं जाना पड़ेगा। साथ ही कोरोना की तीसरी लहर अगर आती है तो उसमें भी काफी सहूलियत मिलेगी। नवगछिया अनुमंडल अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट शुरू होने से क्षेत्र के लोगों को काफी फायदा पहुंचेगा।
30 बेड पर होगी ऑक्सीजन की आपूर्तिः
नवगछिया अनुमंडल अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट शुरू होने के बाद 30 बेड पर ऑक्सीजन की पाइपलाइन के जरिये आपूर्ति होगी। यानी कि एक साथ 30 गंभीर मरीजों को यहां पर ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा सकेगी। इसे लेकर अस्पताल में सभी तरह की आधारभूत संरचना विकसित की जा रही है। ऑक्सीजन ऑपूर्ति करने को लेकर जो भी जरूरी संसाधन हैं, उसे जुटाने का काम अंतिम चरण में है। ऑक्सीजन प्लांट शुरू होने तक सभी तरह के संसाधन जुटा लिए जाएंगे।
गंगा पार के मरीजों को नहीं जाना पड़ेगा भागलपुरः
मालूम हो कि नवगछिया अनुमंडल अस्पताल में नवगछिया पुलिस जिला के अंतर्गत आने वाले सात प्रखंड के लोग काफी संख्या में इलाज के लिए आते हैं। यहां पर इलाज की बेहतर व्यवस्था होने के कारण भी काफी संख्या में मरीज आते हैं, लेकिन ऑक्सीजन की जरूरत पड़ने पर उन्हें भागलपुर जाना पड़ता है। लेकिन जब नवगछिया अनुमंडल अस्पताल में ही ऑक्सीजन की आपूर्ति शूरू हो जाएगी तो वैसे मरीजों को भागलपुर नहीं जाना पड़ेगा। उनका नवगछिया अनुमंडल अस्पताल में बेहतर इलाज हो सकेगा। इस तरह से मरीजों को आर्थिक के साथ अन्य परेशानियों से भी राहत मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.