नवजात को पोलियो की दो बूँद दवा पिलाकर सिविल सर्जन ने की पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान की शुरुआत

  • सदर अस्पताल सहित जिला के सभी पीएचसी में लगभग दो लाख बच्चों को पिलाई जाएगी पोलियो की दो बूंद खुराक
  • ऑगनबाड़ी सेविका-सहायिका के साथ- साथ आशा कार्यकर्ता घर- घर जाकर बच्चों को पिलाएगी दवा

लखीसराय-

सदर अस्पताल लखीसराय में रविवार को सिविल सर्जन डॉ. देवेंद्र चौधरी के द्वारा नवजात शिशु को पोलियो की दो बूंद की खुराक पिलाए जाने के साथ जिला में पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान की शुरुआत हो गई। आगामी 01 जुलाई तक चलने वाले पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान की सफलता के लिए ड्यूटी में लगे सभी स्वास्थ्य कर्मी चौक-चौराहों , रेलवे स्टेशन के साथ ही घर-घर जाकर बच्चों को पोलियो दवा की दो बूंद दवा पिलायेंगे। इस दौरान यह ख्याल रखना ज्यादा आवश्यक है कि कोई भी बच्चा दवा पीने से छूटे नहीं।

जिला के सभी पीएचसी में हुआ पल्स पोलियो अभियान का शुभारंभ :
जिला सिविल सर्जन डॉ. देवेन्द्र चौधरी ने बताया, पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान का जिला के सभी पीएचसी में शुभारंभ हुआ। इस अभियान के सफल संचालन के लिए सुपरवाइजर सहित अन्य कर्मियों की टीम गठित की गई है, जिसमें मुख्य रूप से स्वास्थ्य विभाग से जुड़ी आशा कार्यकर्ता व आंगनबाड़ी सेविका- सहायिका को शामिल किया गया है। यह टीम घर-घर जाकर 0 से 05 वर्षों तक बच्चों को पोलियो की दवा पिलएंगी। इसके अलावा चौक- चौराहों, रेलवे स्टेशन सहित अन्य सार्वजनिक जगहों पर भी दवा पिलाने के लिए कर्मियों की तैनाती की गई है ताकि सफर पर निकले बच्चे भी दवा पीने से नहीं छूटे और शत-प्रतिशत बच्चों को दवा पिलाई जा सके।

दो लाख के करीब बच्चों को पिलाई जाएगी पोलियो की दो बूँद खुराक :
जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. अशोक कुमार भारती ने बताया कि पूरे जिला में कुल 01लाख, 89 हजार, 07 सौ 20 बच्चों को पोलियो की दो बूंद दवा पिलाने का लक्ष्य है। यह लक्ष्य अभियान के लिए निर्धारित दिनों 27 जून से 01 जुलाई के बीच पूरा किया जाएगा। पोलियो की दवा पीने से एक भी बच्चा वंचित नहीं रहे इसको ले सभी कर्मियों को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं।

  • पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान की 509 टीमों की मॉनिटरिंग के लिए नियुक्त किए गए हैं 156 पर्यवेक्षक :
    जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. अशोक कुमार भारती ने बताया, पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए जिला भर में कुल 509 टीमों का गठन किया गया है। जिसमें घर- घर जाकर दवा पिलाने के 422 टीम, 76 ट्रांजिट टीम, 11 वन मैन टीम का गठन किया गया है। इन टीमों की मॉनिटरिंग के लिए कुल 156 पर्यवेक्षकों की तैनाती की गई है। जो अभियान को सफल बनाने के लिए टीम द्वारा किए जा रहे कार्यो की मॉनेटरिंग करेंगे। उन्होने बताया कि इस अभियान की डब्ल्यूएचओ और यूनिसेफ के पदाधिकारी व कर्मी भी मॉनिटरिंग करेंगे ।साथ ही इसे सफल बनाने में आवश्यक सहयोग भी करेंगे।

-कोविड-19 से सुरक्षा मद्देनजर कर्मियों को दिया गया मास्क व सैनिटाइजर :
यूनिसेफ के एसएमसी नैय्यर उर आजम ने बताया, कोविड-19 सुरक्षा के मद्देनजर अभियान के शुभारंभ से पूर्व सभी कर्मियों को मास्क व सैनिटाइजर दिया गया है। इसके साथ ही कोविड-19 से बचाव के लिए के अन्य आवश्यक जानकारियां भी दी गई और कोविड-19 से बचाव के लिए जारी हर मानकों का पालन करने का भी निर्देश दिया गया। इस दौरान आज की आवाज, पोलियो रहित समाज, पोलियो हटाएं, देश बचाएं जैसे जैसे स्लोगन पर बल देते हुए कर्मियों को अन्य आवश्यक टिप्स भी दिये गए। सभी कर्मियों को प्रत्येक दिन एक नया मास्क दिया जाएगा। इसको लेकर पीएचसी स्तर पर कर्मियों के अनुसार पर्याप्त मात्रा में मास्क व सैनिटाइजर स्वास्थ्य विभाग द्वारा उपलब्ध कराया गया है।

कोविड-19 का हर मानकों का रखा जाएगा ख्याल :
पल्स पोलियो अभियान के दौरान कोविड-19 के हर मानकों का ख्याल रखते हुए अभियान का सफलता के साथ समापन होगा। इसको लेकर विभाग द्वारा मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करने, शारीरिक-दूरी का हमेशा पालन करने, सैनिटाइजर का उपयोग सहित अन्य सभी प्रोटोकॉल का पालन करने का निर्देश दिया गया। ताकि संक्रमण का खतरा उत्पन्न नहीं हो। इसके साथ ही लोगों को भी कोविड-19 से बचाव के लिए भी कर्मियों के द्वारा आवश्यक जानकारी दी जाएगी।

इन मानकों का करें पालन, कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर :

  • मास्क का उपयोग और शारीरिक दूरी का पालन जारी रखें।
  • विटामिन-सी युक्त पदार्थों का अधिक सेवन करें।
  • अनावश्यक घरों से बाहर नहीं निकलें और भीड़-भाड़ वाले जगहों से परहेज करें।
  • साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें और सैनिटाइजर का उपयोग करें।
  • समय पर खाना खाएं और अधिक देर तक भूखा नहीं रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: