नियमित टीकाकरण कार्यक्रम- के तहत जिले के सभी ऑगनबाड़ी केंद्रों पर बच्चों और गर्भवती महिलाओं को लगाया गया टीका

  • 12 अलग – अलग बीमारियों से बचाव के लिए गर्भवती महिलाओं व बच्चों को लगाया जाता है टीका
  • कोविड-19 के गाइडलाइन का पालन करते हुए किया गया टीकाकरण कार्यक्रम का आयोजन

लखीसराय-

शनिवार को जिले के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर गर्भवती महिलाओं और बच्चों को लगने वाले टीका के लिए नियमित टीकाकरण कार्यक्रम आयोजित किया गया की गई। इस कार्यक्रम में संबंधित आंगनबाड़ी क्षेत्र की कि एएनएम और सेविका – सहायिका ने महत्वपूर्ण भूमिका भुमिका निभाते हुए गर्भवती महिलाओं और बच्चों को टीका लगाया। इस अवसर पर टीकाकरण के लिए आई गर्भवती महिलाओं और बच्चों को गर्भावस्था के दौरान खानपान, रहन-सहन सहित बच्चों के समुचित भोजन और रखरखाव से सम्बंधित आवश्यक जानकारियाँ भी दी गयी ।

जिले के सभी पीएचसी क्षेत्र अंतर्गत आंगनबाड़ी केंद्रों पर हुआ नियमित टीकाकरण का आयोजन : –
जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. अशोक कुमार भारती ने बताया कि जिले के सभी पीएचसी क्षेत्र अंतर्गत ऑगनबाड़ी केंद्रों पर टीकाकरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर स्वास्थ्य कर्मियों ने गर्भवती महिलाओं को सुरक्षित प्रसव के लिए आवश्यक सलाह देते हुए संस्थागत प्रसव के लिए जागरूक किया । उन्होंने सुरक्षित संस्थागत प्रसव के लिए गर्भवती महिलाओं को सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में ही प्रसव कराने की सलाह दी।

सुरक्षित प्रसव के लिए पौष्टिक और प्रोटीनयुक्त आहार जरूरी :-
नियमित टीकाकरण के लिए आयी गर्भवती महिलाओं और उनके परिजनों को मौके पर मौजूद स्वास्थ्य कर्मियों ने बताया कि सुरक्षित प्रसव के लिए पौष्टिक और प्रोटीन युक्त आहार लेना जरूरी है। क्योंकि, स्वस्थ शरीर वाली माँ ही स्वस्थ बच्चे को जन्म दे सकती है और सुरक्षित व सामान्य प्रसव को बढ़ावा मिल सकता है।

स्वच्छता पर दिया गया बल : –
टीकाकरण कार्यक्रम के दौरान स्वच्छता पर भी बल दिया गया। इसको ले गर्भवती महिलाओं को व्यक्तिगत साफ- सफाई के साथ ही आसपास के परिसर के साफ-सफाई का भी विशेष ख्याल रखने को कहा गया ताकि किसी प्रकार की अनावश्यक परेशानी नहीं हों।

इस दौरान कोविड-19 के गाइड लाइन का रखा गया ख्याल : –
टीकाकरण के दौरान कोविड-19 के हर मानकों का पालन किया गया। ताकि संक्रमण की का संभावना खतरा उत्पन्न नहीं हो सके सकें। इसके साथ ही टीकाकरण के लिए केंद्र पर आई गर्भवती महिलाओं एवं उनके परिजनों को कोविड-19 से बचाव के लिए आवश्यक जानकारी देते हुए कोविड-19 से बचाव के लिए गाइडलाइन का पालन करने के लिए भी प्रेरित किया गया।

संस्थागत प्रसव को ले किया गया जागरूक :-
टीकाकरण के दौरान मौजूद गर्भवती महिलाओं को सुरक्षित प्रसव के लिए संस्थागत प्रसव को प्राथमिकता देने के लिए जागरूक किया गया। इसके साथ ही सरकारी अस्पतालों में सुरक्षित प्रसव के उपलब्ध समुचित व्यवस्था की भी जानकारी दी गई।

सुरक्षित प्रसव के लिए प्रसव पूर्व जाँच जरूरी : –
टीकाकरण के दौरान स्वास्थ्य कर्मियों ने केंद्र पर मौजूद गर्भवती महिलाओं को सुरक्षित प्रसव के प्रसव पूर्व जाँच कराने के महत्व के बारे भी बताया । उन्होंने राज्य सरकार द्वारा जाँच के लिए पीएचसी स्तर पर मुफ्त व्यवस्था करने की भी जानकारी दी ताकि हर गर्भवती महिला आसानी से यहां अपना जाँच करा सकें। स्वास्थ्य कर्मियों ने बताया कि प्रत्येक माह की 09 तारीख को सभी पीएचसी में प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना के तहत गर्भवती महिलाओं की कि एएनसी जांच की जाती है । इसके साथ मौके पर मौजूद चिकित्सकों द्वारा आवश्यक चिकित्सकीय परामर्श भी दी जाती है।

कोरोना काल में इन मानकों का पालन कर रहें कोविड 19 के संक्रमण से दूर : –
हमेशा दो गज की शारीरिक दूरी के नियम का करें पालन ।

  • भीड़ वाले जगहों पर जाने से करें परहेज ।
  • अनिवार्य रूप से करें मास्क का उपयोग ।
  • एक निश्चित अंतराल के बाद लगातार अपने हाथों को साबून या अल्कोहल युक्त पदार्थों से करें साफ।
  • अपने ऑख, नाक, मुँह को अनावश्यक छूने से बचें।
  • किसी से बातचीत करने के दौरान आवश्यक दूरी का रखें ख्याल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: