पंचायत स्तरीय आम सभा में टेलीमेडिसीन से आम लोगों की हुई स्वास्थ्य जांच में मुंगेर राज्य में दूसरे स्थान पर 

 

– इस दौरान कोरोना टीका के प्रीकॉशन डोज से वंचित 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना टीकाकरण के लिए किया गया प्रेरित 

मुंगेर, 23 फरवरी-

22 फरवरी को पंचायत स्तर पर पंचायती राज संस्थाओं के द्वारा जिलाभर में आम सभा का आयोजन किया गया। इस दौरान कोरोना टीका के प्रीकॉशन डोज से वंचित 60 वर्ष से अधिक उम्र के सभी लोगों को कोरोना टीकाकरण के लिए प्रेरित करने के साथ ही टेलीमेडिसीन सर्विस के माध्यम से चिकित्सक के द्वारा आम लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई। 22 फरवरी को जारी डिस्ट्रिक्ट वाइज टेलीमेडिसीन फाइनल रिपोर्ट के अनुसार मुंगेर जिला इस मामले में पूरे बिहार में दूसरे स्थान पर आया है। 

जिला स्वास्थ्य समिति मुंगेर के जिला कार्यक्रम प्रबंधक नसीम रजि ने बताया कि 22 फरवरी को जिलाभर के पंचायती राज संस्थाओं के जनप्रतिनिधियों के द्वारा पंचायत स्तर पर आयोजित आम सभा में कोरोना टीकाकरण के प्रीकॉशन डोज से वंचित 60 वर्ष या उससे अधिक आयु वर्ग के कॉमोर्बिड श्रेणी के लाभार्थियों के ग्रामवार ड्यू लिस्ट के अनुसार टीकाकरण के लिए प्रेरित किया गया। इसके साथ ही टेलीमेडिसीन कंसल्टेंसी जैसे ई संजीवनी (हब और स्पोक) एवं  ई संजीवनी ओपीडी ( पेशेंट डॉक्टर) का लाइव डिमोन्सट्रेशन किया गया। ताकि सामुदायिक स्तर पर होने वाले लाभ से आमजनों को अवगत कराया जा सके। इस अवसर पर चिकित्सक के द्वारा टेलीमेडिसीन सर्विस के माध्यम से आम लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई। 
उन्होंने बताया कि 22 फरवरी को जारी डिस्ट्रिक्ट वाइज टेलीमेडिसीन फाइनल रिपोर्ट के अनुसार उस दिन टेलीमेडिसीन के माध्यम से आम लोगों के स्वास्थ्य की जांच करने में मुंगेर जिला राज्य में दूसरे स्थान पर रहा। वहीं सारण पहले और सुपौल तीसरे स्थान पर रहा । उन्होंने बताया कि टेलीमेडिसीन के माध्यम से आम लोगों को चिकित्सकीय परामर्श उपलब्ध कराने वाले मुंगेर में हब की संख्या 47 और स्पोक की संख्या 217 रही। वहीं कुल कंसल्टेंसी की संख्या 916 रही। जिला में यदि प्रति स्पोक किए गए औसत कंसल्टेंसी की यदि बात करें तो वो 4.1 रही । यानी प्रत्येक स्पोक से 4 से अधिक लोगों को टेलीमेडिसीन के माध्यम  डॉक्टर के साथ परामर्श और इलाज कराया गया।
उन्होंने बताया कि राज्य स्तर पर कुल 1714 हब और 13,883 स्पोक पर टेलीमेडिसीन के माध्यम से डॉक्टर के द्वारा आम लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई। राज्य स्तर पर कुल कंसल्टेंसी की संख्या 24,446 रही। राज्य स्तर पर प्रति स्पोक किए गए औसत कंसल्टेंसी रेट की यदि बात की जाय तो वो 1.6 रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: