परिवार नियोजन अभियान को सफल बनाने के लिए पुरुष जागरूकता सह सहभागिता कार्यक्रम का आयोजन

  • बेलदौर प्रखंड प्रखंड के बेलदौर गाँव स्थित ऑगनबाड़ी केंद्र संख्या 03 पर कार्यक्रम का आयोजन
  • परिवार नियोजन योजना अपनाने के लिए पुरुष सहभागिता जरूरी, स्थाई और अस्थाई उपायों पर हुई चर्चा

खगड़िया-

जिले में चल रहे परिवार नियोजन अभियान को पूर्ण रूप से सफल बनाने के लिए केयर इंडिया एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार लोगों को जागरूक किया जा रहा है। इसी कड़ी में मंगलवार को केयर इंडिया का `परिवार नियोजन सुरक्षित है ʼ अभियान के तहत जिले बेलदौर प्रखंड के बेलदौर गाँव स्थित ऑगनबाड़ी केंद्र संख्या 03 पर पुरुष जागरूकता सह सहभागिता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें उक्त ऑगनबाड़ी केंद्र के पोषक क्षेत्र के पुरुषों ने बड़ी संख्या में भाग लिया। कार्यक्रम के दौरान मौजूद पुरुषों को केयर इंडिया एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा परिवार नियोजन योजना की विस्तार से जानकारी दी गई। साथ हीं इस योजना का लाभ लेने के लिए प्रेरित भी किया गया। इस मौके पर केयर इंडिया के फैमिली प्लानिंग के जिला समन्वयक राजेश पांडेय, प्रखंड प्रबंधक चेतन पाठक, सेविका अंगीरा कुमारी, आशा पुनम कुमारी आदि मौजूद थीं।

  • परिवार नियोजन योजना को अपनाने के लिए घर के पुरुषों की सहभागिता जरूरी :-
    कार्यक्रम के दौरान केयर इंडिया के फैमिली प्लानिंग के जिला समन्वयक राजेश पांडेय ने कहा कि परिवार नियोजन योजना को अपनाने के लिए इच्छुक महिलाएं भी अक्सर पुरुषवादी सोच की शिकार हो जाती हैं । जिसके कारण वह इन योजना को अपनाने से वंचित रह जाती हैं । इसलिए, इस योजना को अपनाने के लिए खासकर घर के पुरुष की सहभागिता बेहद जरूरी है और जब पुरुष सहभागिता बढ़ेगी तो इच्छुक महिलाओं को इस योजना को अपनाने से कोई नहीं रोक सकता है। मैं आपलोगों से अपील करता हूँ कि परिवार नियोजन पूरी तरह सुरक्षित है। इसलिए, आपलोग पुराने ख्यालात एवं मन में पल रही अवधारणा से बाहर आकर अपने घर की महिलाओं को कम से कम इसे अपनाने के लिए प्रेरित करें। इसे अपनाने से ही खुशहाल, शिक्षित और छोटा परिवार का निर्माण संभव है।
  • स्थाई व अस्थाई उपायों को अपनाने पर भी हुई चर्चा :-
    केयर इंडिया के प्रखंड प्रबंधक चेतन पाठक ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान स्थाई एवं अस्थाई उपायों को अपनाने के विषय पर भी विस्तार से चर्चा हुई। जिसमें मौजूद पुरुषों को बताया गया कि स्थाई व अस्थाई दोनों साधन पूरी तरह सुरक्षित हैं । दोनों में से किसी भी उपाय को अपनाने से किसी प्रकार की परेशानी नहीं होगी। किन्तु, अपनाने के पूर्व निश्चित रूप से चिकित्सकों से सलाह लें। जिले के सभी सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में अस्थाई उपाय मुफ्त उपलब्ध हैं । इसलिए, जो महिलाएं अस्थाई उपाय अपनाना चाहती हैं वह कंडोम, छाया, अंतरा, काॅपर – टी समेत अन्य वैकल्पिक व्यवस्था अपना सकती हैं।
  • पुरुष नसबंदी को लेकर भी किया गया जागरूक :-
    सेविका अंगीरा कुमारी ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान मौजूद पुरुषों को पुरुष नसबंदी को लेकर भी जागरूक किया गया। जिसमें बताया गया कि परिवार विकास मिशन के तहत सरकार द्वारा जिले के सभी सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में पुरुष नसबंदी की भी मुफ्त सुविधा उपलब्ध कराई गई। ताकि अगर महिलाएं शारीरिक या अन्य किसी परेशानी को लेकर बंध्याकरण कराने में असक्षम हैं तो ऐसी स्थिति में पुरुष भी नसबंदी को अपनाकर सरकार के मिशन को गति दे सकते हैं। इसलिए, जो भी इच्छुक पुरुष हैं वह नसबंदी को अपना सकते हैं। क्योंकि छोटा, खुशहाल व शिक्षित परिवार निर्माण एवं गुणवत्तापूर्ण जिंदगी जीने के लिए परिवार नियोजन योजना सबसे बेहतर और आसान उपाय है।
  • स्वस्थ माँ एवं मजबूत बच्चा के लिए बच्चे के जन्म में तीन साल का अंतराल जरूरी :-
    इस दौरान मौजूद पुरुषों को यह भी बताया गया कि स्वस्थ माँ एवं मजबूत बच्चा के लिए एक बच्चे के जन्म के बाद दूसरे बच्चे के जन्म में कम से कम तीन साल अंतराल रखना भी जरूरी है। क्योंकि, स्वस्थ माँ ही मजबूत बच्चा को जन्म दे सकती है।
  • इन मानकों का करें पालन, कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर :-
  • दो गज की शारीरिक दूरी का हमेशा पालन करें।
  • भीड़-भाड़ वाले जगहों से परहेज करें।
  • साफ- सफाई का विशेष ख्याल रखें।
  • साबुन या अल्कोहल युक्त पदार्थों से हाथ धोएं।
  • सैनिटाइजर का उपयोग करें।
  • मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें।
  • ताजा और गर्म खाने का उपयोग करें।
  • बासी और बाहरी खाना खाने से परहेज करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.