परिवार नियोजन संचार अभियान को सफल बनाने के लिए दिए निर्देश

सिविल सर्जन डा ने ऑनलाइन सभी प्रभारियों व केयर इंडिया के प्रतिनिधि के साथ की बैठक

भागलपुर-

परिवार नियोजन को लेकर जनवरी से मार्च तक संचार अभियान संचालित किया जा रहा है. इसे लेकर सिविल सर्जन डॉ विजय कुमार सिंह ने बुधवार को सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी एवं केयर इंडिया के प्रतिनिधियों के साथ ऑनलाइन चर्चा की. सीएस ने सभी प्रभारियों एवं केयर इंडिया के प्रतिनिधि को इस अभियान में जोर-शोर से लग जाने के लिए कहा. यह अभियान मार्च तक चलेगा.

1 बच्चे वाले दंपति का किया गया है सर्वे: इस अभियान के तहत प्रखंडों में 1 बच्चे वाले दंपति का आशा कार्यकर्ताओं ने सर्वे किया है. अब इन लोगों को दूसरे बच्चे की प्लानिंग कब करनी है, इस बारे में बताया जाएगा. साथ ही 2 बच्चे के बीच में कितने का गैप रहेगा, यह जानकारी भी दी जाएगी.

महीने में 10 दिन कराई जाएगी माइकिंग: इस अभियान के तहत महीने में 10 दिन माइकिंग कराकर लोगों को परिवार नियोजन के प्रति जागरूक किया जाएगा. दंपतियों को परिवार नियोजन के फायदे गिनाए जाएंगे. माइकिंग धीमी गति के वाहनों से कराया जाएगा, ताकि लोग परिवार नियोजन हूं बारे में अच्छी तरह से समझ सके. माइकिंग आरोग्य दिवस के दिन कराया जाएगा.
एक से दूसरे बच्चे के बीच 3 साल का अंतराल जरूरी: आलोक कुमार ने बताया कि काउंसलिंग के दौरान दंपति को यह बताया जाएगा कि एक से दो बच्चे के बीच 3 साल का अंतराल रहने के क्या-क्या फायदे हैं. उन्हें समझाया जाएगा कि अगर आप दो बच्चे के बीच 3 साल का अंतराल रखते हैं तो इससे ना सिर्फ बच्चे स्वस्थ होंगे, बल्कि मां भी स्वस्थ रहेंगी. बच्चे कुपोषित नहीं होंगे. उनकी प्रतिरोधक क्षमता मजबूत रहेगी, जिससे भविष्य में किसी भी बड़ी बीमारी का खतरा नहीं रहेगा.

नुक्कड़ नाटक कर परिवार नियोजन को लेकर किया जाएगा जागरूक: आलोक कुमार ने बताया कि क्षेत्र में सर्वे करने के दौरान जहां पर परिवार नियोजन को लेकर जागरूकता कम दिखेगी या 2 से अधिक बच्चे वाले दंपति अधिक दिखेंगे वहां एजेंसी के जरिए नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया जाएगा. नुक्कड़ नाटक के जरिए लोगों को परिवार नियोजन के फायदे बताए जाएंगे. उन्हें समझाया जाएगा कि परिवार नियोजन से क्या फायदे हैं. कम बचे रहने से आर्थिक आजादी भी लोगों को रहती है इसकी भी जानकारी दी जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *