पोषण माह: गाँव-गाँव पहुँचाया जाएगा पोषण का संदेश, घर-घर जाकर लोगों को किया जाएगा जागरूक

जिले के ऑगनबाड़ी केंद्रों पर गोदभराई, पौधारोपण का आयोजन, दी गई उचित पोषण की जानकारी
-गर्भवती महिलाओं को चुनरी ओढ़ाकर और टीका लगाकर गोदभराई रस्म पूरी की गई- गर्भवती महिला को उपहार स्वरूप पोषण की पोटली दी गई

कोविड प्रोटोकॉल का पालन के साथ विभिन्न कार्यक्रमों का हुआ आयोजन

खगड़िया-

पोषण माह को सफल बनाने के लिए स्थानीय आईसीडीएस द्वारा लगातार तमाम कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। मिशन, हर हाल में पोषण माह सफल बनाने का और समाज के प्रत्येक व्यक्ति तक पोषण का संदेश पहुँचाने का । दरअसल, समाज के प्रत्येक व्यक्ति की जागरूकता से ही पोषण माह सफल होगा और सामुदायिक स्तर पर लोग जागरूक होंगे। इसी कड़ी में मंगलवार को जिले में विभिन्न प्रखंडों में संचालित ऑगनबाड़ी केंद्रों पर गोदभराई, पौधारोपण समेत विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया गया | इस मौके पर आईसीडीएस के तमाम पदाधिकारी एवं कर्मी समेत सेविका-सहायिका ने पोषण माह को सफल बनाने एवं इस संदेश को समाज के प्रत्येक व्यक्ति तक पहुँचाने की शपथ ली। ताकि हर हाल में सफलतापूर्वक पोषण माह का समापन हो सके और सामुदायिक स्तर पर लोगों को उचित पोषण की जानकारी मिल सके।

  • कोविड प्रोटोकॉल का पालन के साथ कार्यक्रमों का हुआ आयोजन :
    आईसीडीएस की जिला कार्यक्रम पदाधिकारी सुनीता कुमारी ने बताया, पोषण माह को हर में सफल बनाने एवं पोषण के महत्व और उद्देश्य को प्रत्येक व्यक्ति पहुँचाने के लिए जिले में लगातार तमाम कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। जिसके माध्यम से जहाँ लोगों को उचित पोषण की जानकारी दी जा रही है। वहीं, उचित पोषण के महत्व और उद्देश्य को भी बताया जा रहा है। ताकि सामाजिक स्तर पर लोग सरकार के इस पहल को समझ सके और इसे बढ़ावा देने के लिए आगे आ सके।
  • गाँव-गाँव पहुँचाया जाएगा पोषण का संदेश और घर-घर जाकर लोगों को किया जाएगा जागरूक :
    आईसीडीएस के जिला समन्वयक अंबुज कुमार ने बताया, पोषण माह की सफलता को लेकर गाँव-गाँव पोषण का संदेश पहुँचाया जाएगा और घर-घर जाकर लोगों को जागरूक किया किया जाएगा। इस दौरान लोगों को उचित पोषण की विस्तृत जानकारी और कुपोषण मुक्त समाज निर्माण को लेकर पोषण के महत्व और उद्देश्य की भी जानकारी दी जाएगी। वहीं, उन्होंने बताया, पोषण माह के तहत मंगलवार को जिले के सभी ऑगनबाड़ी केंद्रों पर कोविड प्रोटोकॉल के साथ गोदभराई उत्सव का आयोजन किया गया। मंगल गीतों से कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया और गर्भवती महिला को उपहार स्वरूप पोषण की पोटली दी गई है। जिसमें गुड़, चना, हरी पत्तेदार सब्जियां, आयरन की गोली, पोषाहार व फल आदि शामिल थे। महिलाओं को उपहार स्वरूप पोषण की थाली भी भेंट की गयी। जिसमें सतरंगी व अनेक प्रकार के पौष्टिक भोज्य पदार्थ शामिल थे। गर्भवती महिलाओं को चुनरी ओढ़ाकर और टीका लगाकर गोदभराई रस्म पूरी की गई। वहीं, सभी महिलाओं को अच्छी सेहत के लिए पोषण की आवश्यकता व महत्व के बारे में जानकारी दी गई।
  • एनीमिया प्रबंधन की दी गई जानकारी:-
    अलौली सीडीपीओ किरण कुमारी ने बताया, इस दौरान यह भी जानकारी दी गई कि गर्भवती माता, किशोरियां व बच्चों में एनीमिया की रोकथाम जरूरी है। गर्भवती महिला को 180 दिन तक आयरन की एक लाल गोली जरूर खानी चाहिए। 10 वर्ष से 19 साल की किशोरियों को भी प्रति सप्ताह आयरन की एक नीली गोली का सेवन करनी चाहिए। छह माह से पांच साल तक के बच्चों को सप्ताह में दो बार एक-एक मिलीलीटर आयरन सिरप देनी चाहिए।
  • इन मानकों का रखें ख्याल, कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर :-
  • मास्क का उपयोग और शारीरिक दूरी का पालन जारी रखें।
  • बारी आने पर निश्चित रूप से वैक्सीनेशन कराएं और दूसरों को भी प्रेरित करें।
  • लक्षण महसूस होने पर कोविड-19 जाँच कराएं।
  • भीड़-भाड़ वाले जगहों से परहेज करें।
  • अनावश्यक यात्रा से परहेज करें।
  • साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें और सैनिटाइजर का उपयोग करें।
  • आवश्यकतानुसार लगातार साबुन या अल्कोहल युक्त पदार्थों से हाथ धोएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Notice: Undefined index: amount in /home/u709339482/domains/mobilenews24.com/public_html/wp-content/plugins/addthis-follow/backend/AddThisFollowButtonsHeaderTool.php on line 82
%d bloggers like this: