फाइलेरिया उन्मूलन अभियान की सफलता को जीविका के सीएम दीदी को दिया गया प्रशिक्षण

जिले के चौथम सीएचसी अंतर्गत लालपुर गाँव में केयर इंडिया एवं जीविका द्वारा संयुक्त रूप से दिया गया प्रशिक्षण
ठुठ्ठी मोहनपुर, रोहियार एवं मलपा पंचायत की सीएम दीदी प्रशिक्षण में हुई शामिल
खगड़िया, 16 सितम्बर- जिले में आगामी 20 सितम्बर से शुरू होने वाले फाइलेरिया उन्मूलन के लिए एमडीए (मास ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन) अभियान की सफलता को लेकर स्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ केयर इंडिया, आईसीडीएस, जीविका समेत तमाम विभागों के पदाधिकारी एवं कर्मी पूरी मुस्तैदी के साथ तैयारी को अंतिम रूप देने में दिन-रात एककर अपनी जिम्मेदारी पर डटे हुए हैं। इस अभियान को सफल बनाने के लिए जिले में लगातार प्रशिक्षण आयोजित संबंधित कर्मियों को प्रशिक्षण दी जा रही है। ताकि समाज के प्रत्येक व्यक्ति को इस बीमारी से बचाव के लिए विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करते दवा खिलाई जा सके और हर हाल में अभियान सफल हो सके। इसी कड़ी में गुरूवार को केयर इंडिया एवं जीविका के संयुक्त तत्वावधान में चौथम सीएचसी अंतर्गत लालपुर गाँव में जीविका के सीएम दीदी को प्रशिक्षण दिया गया। जिसमें प्रशिक्षक द्वारा सीएम दीदी को उक्त अभियान को सफल बनाने के लिए विस्तृत जानकारी दी गई एवं इस बीमारी पर रोकथाम एवं इससे बचाव के लिए लोगों को दी जाने वाली जानकारियाँ को भी बताया गया। इस प्रशिक्षण में प्रशिक्षक के रूप में केयर इंडिया प्रखंड प्रबंधक करण कुमार, एमडीए समन्वयक प्रशांत कुमार सिंह, जीविका के क्षेत्रीय समन्वयक (एसी) विनीत भूषण, संदीप कुमार एवं सामुदायिक समन्वयक (सीसी) प्रियंका कुमारी, प्रमीला कुमारी मौजूद थे।
गृह भेंट के तहत घर-घर जाकर लोगों के बीच दवा वितरण करेंगी आशा कार्यकर्ता :
केयर इंडिया के प्रखंड प्रबंधक करण कुमार ने बताया, 20 सितंबर से जिले में फाइलेरिया उन्मूलन के लिए एमडीए अभियान का शुभारंभ होना सुनिश्चित हुआ है। अभियान की सफलता को लेकर गृह भेंट की तर्ज पर घर-घर जाकर योग्य व्यक्तियों के बीच एलबेंडाजोल एवं डीईसी की दवाएं वितरित की जाएँगी। ताकि एक भी व्यक्ति दवाई खाने से वंचित नहीं रहे और अभियान सफल हो सके। उक्त दवा गर्भवती महिलाओं एवं गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्ति के अलावा दो वर्ष से कम आयु वर्ग के बच्चों को छोड़कर शेष सभी लोगों को आशा कार्यकर्ताओं द्वारा खिलाई जाएगी। साथ ही इस बीमारी से बचाव के लिए आवश्यक जानकारी देते हुए जागरूक किया जाएगा। वहीं, उन्होंने बताया, 2 से 5 साल तक के बच्चों को 100 मिलीग्राम की डीईसी एवं 400 मिलीग्राम की अलबेंडाजोल की एक-एक गोली, 6 से 14 साल तक के किशोरों को डीईसी की दो एवं अलबेंडाजोल की एक गोली एवं 15 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को डीईसी की तीन गोलियां एवं अलबेंडाजोल की एक गोली खिलायी जानी है। इस दौरान इस बात का ख्याल रखना है कि किसी व्यक्ति को खाली पेट दवाई नहीं खिलानी है।

  • कोविड प्रोटोकॉल का पालन के साथ खिलाई जाएगी दवा :
    जीविका के एसी विनीत भूषण ने बताया, प्रशिक्षण में मौजूद सभी जीविका के सीएम दीदी को दवा वितरण के दौरान किन-किन बातों का ख्याल रखते हुए दवाई खिलानी है, यह विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई। जिसमें बताया गया कि हर हाल में कोविड प्रोटोकॉल का ख्याल रखते दवा खिलाई जानी है। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखना है कि एक भी व्यक्ति दवा खाने से छूटे नहीं है। इसके लिए लगातार घर-घर जाकर एक-एक व्यक्ति का फोलोअप करना है। इस दौरान कोविड से बचाव एवं वैक्सीनेशन के प्रति भी लोगों को जागरूक किया जाएगा।
  • बचाव के लिए दवाई का सेवन जरूरी :
    केयर इंडिया के एमडीए प्रखंड समन्वयक प्रशांत कुमार सिंह ने बताया, इस बीमारी से बचाव के लिए दवाई के साथ-साथ एहतियात भी जरूरी है। इसलिए, अभियान के दौरान योग्य व्यक्तियों को दवाई तो खिलाई ही जाएगी। इसके अलावा इस बीमारी से बचाव के लिए लोगों को आवश्यक जानकारी भी दी जाएगी। जैसे कि, घर के आस-पास गंदगी जमा नहीं होने दें एवं घरों में सोने से पहले मच्छरदानी का उपयोग करें। साथ ही अन्य लोगों को दवा सेवन के प्रति जागरूक भी करें, ताकि फाइलेरिया जैसी बीमारी जड़ से समाप्त हो सके

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *