बाढ़ राहत शिविर में दीदी की रसोई के माध्यम से परोसा जा रहा है गुणवत्तापूर्ण भोजन

  • मुंगेर के दो प्रखण्डों में चलाए जा रहे शिविर
  • मुंगेर संग्रहालय में जीविका दीदी के द्वारा प्रतिदिन 4000 से 5000 फ़ूड पैकेट की जा रही है पैकेजिंग
  • बाढ़ प्रभावित प्रखंड़ों में आपदा प्रबंधन विभाग कर रहा है जीविका दीदी के द्वारा निर्मित मास्क का वितरण

मुंगेर-

जिला में आई बाढ़ की विभीषिका में बेघर हुए बाढ़ पीड़ितों के लिए जिला प्रशासन के द्वारा जगह – जगह बाढ़ राहत शिविर चलाया जा रहा है। इन राहत शिविरों में बाढ़ पीड़ितों को गुणवत्तापूर्ण भोजन उपलब्ध कराने के लिए दीदी की रसोई के माध्यम से जीविका के द्वारा सामुदायिक किचन का संचालन हो रहा है। यहां जीविका दीदी के द्वारा बाढ़ पीड़ितों के लिए तीन टाइम सुबह में नाश्ता, दोपहर का खाना के साथ ही रात में गुणवत्तापूर्ण भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। राहत शिविर में रहने वाले छोटे-छोटे बच्चों के लिए दूध भी उपलब्ध कराया जा रहा है।
जीविका दीदी के द्वारा प्रतिदिन 1200 से 1500 लोगों के लिए तीन टाइम का गुणवत्तापूर्ण भोजन तैयार किया जा रहा
मुंगेर जिला में जीविका के जिला कार्यक्रम प्रबंधक (डीपीएम) रितेश कुमार ने बताया कि मुंगेर के सदर प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत आईटीसी चंडिका स्थान के पास स्थित नंद कुमार उच्य विद्यालय में बनाए गए बाढ़ राहत शिविर में दीदी की रसोई के माध्यम से जीविका दीदी के द्वारा प्रतिदिन 1200 से 1500 लोगों के लिए तीन टाइम का गुणवत्तापूर्ण भोजन तैयार किया जा रहा है। इसके साथ ही छोटे – छोटे बच्चों के लिए दूध भी उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके अलावा सदर प्रखंड के कुतुलपुर दियरा क्षेत्र के बाढ़ पीड़ितों के लिए धरहरा प्रखण्ड क्षेत्र अंतर्गत हेमजापुर क्लस्टर के अमरपुर उच्च विद्यालय में बनाए गए बाढ़ राहत शिविर में जीविका दीदी के द्वारा दीदी की रसोई के माध्यम से तीन टाइम का गुणवत्तापूर्ण भोजन तैयार किया जा रहा है।

बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा जीविका दीदी द्वारा तैयार मास्क का वितरण :
उन्होंने बताया कि जिला के विभिन्न प्रखंड़ों के बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में आपदा प्रबंधन विभाग के द्वारा तैयार किया गया मास्क का वितरण किया जा रहा है। आपदा प्रबंधन विभाग के द्वारा अभी तक कुल 4000 से 5000 बाढ़ पीड़ितों के बीच जीविका बहनों द्वारा बनाया गया मास्क वितरित किया गया है।

जिला मुख्यालय स्थित मुंगेर संग्रहालय में जीविका बहनों द्वारा 4 से 5 हजार फ़ूड पैकेट की पैकेजिंग :
जीविका के डीपीएम रितेश कुमार ने बताया कि जिला मुख्यालय स्थित मुंगेर संग्रहालय में आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा तैयार कराए जा रहे फ़ूड पैकेट को जीविका बहनें ही तैयार कर रही हैं है। प्रतिदिन 50 से 60 की संख्या में जीविका बहनें 4000 से 5000 हजार फ़ूड पैकेट की पैकेजिंग कर रही हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Notice: Undefined index: amount in /home/u709339482/domains/mobilenews24.com/public_html/wp-content/plugins/addthis-follow/backend/AddThisFollowButtonsHeaderTool.php on line 82
%d bloggers like this: