भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा आरा में चुनावी जनसभा को संबोधित किया।

मैं इस धरती का ऋणी हूं।

क्योंकि जो कुछ भी राजनीतिक चेतना मुझमें आई और जो कुछ भी मैंने सीखा, वो सारी सीख मुझे इस बिहार की धरती से मिली है।

जिसकी शुरुआत इस आरा की धरती से हुई। एक समय था जब कोई भी उम्मीदवार खड़ा होता था, तो कहते थे कि कौन जाति का है भाई, अगड़ा है पिछड़ा ह के साथ देई, के न देई साथ।

फिर ये भी सुनते थे कि ई तो बाहुबली है, एकरा के हरायी।

और हमने ये भी सुना है कि जो हमरे सामने खड़ा होई वो स्वर्गीय हो जाई।
जब लॉकडाउन लगया गया था तब हमारे पास एक भी कोविड डेडिकेटेड हॉस्पिटल नहीं था।

आज देश में 1600 कोविड डेडिकेटेड हॉस्पिटल हैं।

उस समय PPE किट विदेश से मंगानी पड़ती थी और आज भारत 4.5 लाख PPE किट प्रति दिन बना रहा है साथ ही दुनिया को भी दे रहा है। मोदी जी ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज के अंतर्गत मार्च से लेकर छठ पूजा तक 80 करोड़ गरीबों को प्रति व्यक्ति पांच किलो गेहूं/चावल और प्रति परिवार एक किलो दाल दिया जा रहा है: पहले लोग नेता बनते थे नोट कमाने, मेवा खाने और कुर्सी संभालने के लिए।

लेकिन मोदी जी ने प्रधानसेवक के रूप में प्रधानमंत्री के पद को सुशोभित करके राजनीति में  एक नया आयाम लिख डाला है।
मोदी जी ने 1,000 दिन में 18,000 गांव में बिजली पहुंचाने का संकल्प लिया था।

इस संकल्प को समय से पूरा किया गया और बिहार के लोगों को 1 करोड़ 95 लाख लोगों को LED बल्ब भी दिए गए। ये माले, कांग्रेस और राजद का गठबंधन साधारण नहीं।

ये एक अपवित्र और अस्वाभाविक गठबंधन है।ये तीनों समाज के प्रेमी नहीं बल्कि समाज को तोड़ने वाले और समाज में अशांति फैलाने वाले हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.