मायागंज अस्पताल का ओपीडी सामान्य मरीजों के लिए शुरू

ओपीडी में पहले दिन 320 मरीजों का किया गया इलाज
भागलपुर समेत आसपास के जिले के लोगों को मिली राहत
भागलपुर, 21 जून

मायागंज अस्पताल का ओपीडी सोमवार को सामान्य मरीजों के लिए खोल दिया गया। इससे भागलपुर समेत आसपास के जिले के लोगों ने राहत की सांस ली है। पहले ही दिन 320 की संख्या में मरीज इलाज कराने के लिए पहुंचे। सभी मरीजों का जरूरत के मुताबिक इलाज किया गया। अस्पताल अधीक्षक डॉ. असीम कुमार दास ने बताया कि राज्य सरकार से आदेश मिलने के बाद अस्पताल का ओपीडी शुरू हो गया है। इसके पहले ओपीडी में बैठने वाले डॉक्टरों और नर्सों का रोस्टर जारी कर दिया गया। साथ ही ओपीडी बिल्डिंग को पिछले 24 घंटे में दो बार सैनिटाइज किया गया। लोगों में किसी तरह का संक्रमण नहीं हो, इसे देखकर अस्पताल में बेहतर इंतजाम किए गए हैं।
दवा के लिए बनाए गए हैं दो काउंटरः
अधीक्षक ने बताया कि ओपीडी शुरू करने के साथ ही यहां आने वाले मरीजों के लिए दवा के दो काउंटर बनाए गए हैं। इसके अलावा पहले की ही तरह ओपीडी बिल्डिंग में मरीजों की खून समेत अन्य जांच के लिए पैथोलॉजी सैंपल कलेक्शन सेंटर खोल दिया गया है। वहीं तत्काल मरीजों को अब 10 दिन की दवा देने की व्यवस्था की गई है। दरअसल, दो महीने तक ओपीडी बंद रहने से दवा का काफी स्टॉक हो गया है। ये दवा बर्बाद न हो जाए, इस वजह से अस्पताल प्रशासन ने अभी कुछ दिनों तक मरीजों को 10 दिनों की दवा देने का निर्णय लिया है।
18 अप्रैल से था बंदः
मालूम हो कि कोरोना की दूसरी लहर के बाद मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद मायागंज अस्पताल को राज्य सरकार के निर्देश के बाद कोरोना अस्पताल में तब्दील कर दिया गया था। इसके बाद से यहां पर सिर्फ कोरोना मरीजों का इलाज हो रहा था, लेकिन अब कोरोना की दूसरी लहर लगभग खत्म हो गयी है तो फिर से मरीजों की सुविधा को लेकर आउटडोर सेवा शुरू कर दी गई है। इससे बड़ी संख्या में मरीजों को राहत मिली है।
अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है मायागंज अस्पतालः
मालूम हो कि मायागंज अस्पताल पूर्वी बिहार का सबसे बड़ा अस्पताल माना जाता है। यहां पर अत्याधुनिक तरीकों से मरीजों का इलाज किया जाता है। गंभीर से गंभीर मरीजों के इलाज के लिए यहां पर लेटेस्ट तकनीक मौजूद है। इस अस्पताल में जितनी आधुनिक सुविधाएं उलपब्ध हैं, उससे अधिक सुविधाएं कई बड़े निजी अस्पतालों में भी नहीं है। यही कारण है कि बड़ी संख्या में लोग यहां पर इलाज कराने के लिए आते हैं।
15 जिलों के मरीज आते हैं यहां परः
मायागंज अस्पताल में इलाज कराने के लिए आसपास के जिलों समेत कोसी-सीमांचल से भी मरीज आते हैं। इसके अलावा झारखंड के गोड्डा, पाकुड़ और साहेबगंज से भी मरीज आते हैं। कई बार झारखंड के दुमका और देवघर से भी मरीज यहां पर आते दिखाई दिए हैं। मायागंज में ओपीडी सेवा बंद रहने से इन जगहों के मरीजों को दिक्कत हो रही थी। उन्हें सिलीगुड़ी या फिर कहीं अन्य जाना पड़ रहा था बेहतर इलाज कराने के लिए। अब जब मायागंज अस्पताल में ओपीडी सेवा शुरू हो गई है तो उनलोगों को बहुत राहत मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.