मुंगेर जिले भर में टीकाकरण के लिए बढ़ाई जाएगी टीकाकरण सत्रों की संख्या

  • 45 वर्ष और उससे ऊपर के आयु वर्ग का ज्यादा से ज्यादा टीकाकरण करने के लिए टीका एक्सप्रेस से चलाई जा रही है मुहिम
  • राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक ने पत्र जारी कर दिए विशेष दिशा- निर्देश

मुंगेर-

जिले में लोगों को कोरोना के संक्रमण से सुरक्षा देने के लिए टीकाकरण महाअभियान जारी है। इसके तहत 18 से 44 वर्ष के लोगों के साथ ही 45 से 59 आयु वर्ग के सभी लोगों और 60 वर्ष और उससे ऊपर के आयुवर्ग के लोगों का टीकाकरण जारी है। बावजूद इसके 45 से अधिक उम्र के सभी लोगों का टीकाकरण आशा के अनुरूप नहीं हो पा रहा है। इसे संज्ञान में लेते हुए राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने पत्र जारी कर राज्य के सभी सिविल सर्जन एवं जिला पदाधिकारी को आवश्यक निर्देश जारी किए हैं। जारी पत्र में बताया गया है कि 45 वर्ष और उससे ऊपर के आयु वर्ग को ज्यादा से ज्यादा टीकाकृत करने के लिए दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायतवार टीकाकरण सत्रों में वृद्धि की जाए जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग टीका ले सकें।

बढ़ाई जायेगी टीकाकरण सत्रों की संख्या :
जारी पत्र में बताया गया है कि लाभार्थियों की सुगमता के लिए पंचायतवार टीकाकरण सत्रों में वृद्धि की जाए और टीका एक्सप्रेस के माध्यम से घरों के नजदीक किसी सामुदायिक जगह/ विद्यालय/ पंचायत भवन पर टीकाकरण सत्र का संचालन किया जाए । इसका आशय यह है कि लाभार्थियों को सुगमता के साथ टीकाकरण का लाभ मिल सके जिससे उनकी रुचि टीकाकरण की ओर बढ़े और ज्यादा से ज्यादा लोग टीकाकृत होकर अपने साथ अपने परिवार को भी संक्रमण से सुरक्षित रख सकें।

पंचायतवार चार से पांच सत्र किये जायेंगे संचालित :
जारी पत्र में यह निर्देश दिया गया है कि ज्यादा से ज्यादा आबादी को टीकाकृत करने लिए प्रत्येक पंचायत में कम से कम चार से पांच टीकाकरण सत्र का आयोजन किया जाए। 45 वर्ष और उसके ऊपर के आयुवर्ग के लोगों को ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा सरकार द्वारा उपलब्ध करायी गई है ताकि अधिक से अधिक इस आयुवर्ग के लोग टीका लेकर संक्रमण से सुरक्षित रहें।

टीका एक्सप्रेस के माध्यम से चलंत टीकाकरण टीम पंचायतों में दे रही है सेवा:
जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. पंकज सागर ने बताया स्वास्थ्य विभाग ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन की सुरक्षाचक्र के अन्दर लाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है। पिछले 26 मई से ही जिला के सभी पंचायतों में टीका एक्सप्रेस के माध्यम से चलंत टीकाकरण टीम द्वारा लोगों को टीका लगाया जा रहा है । प्रत्येक पंचायत के सामुदायिक स्थल पर टीकाकरण सत्र का आयोजन किया जा रहा और इनकी संख्या बढ़ाने के लिए विभाग द्वारा निरंतर प्रयास किया जा रहा है।

आशा और एएनएम के सहयोग से लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा
डॉ. पंकज सागर ने बताया कि चलंत टीकाकरण टीम को ग्रामीण क्षेत्रों में विरोध का सामना करना पड़ रहा है। ऐसा इसलिए है क्योंकि ग्रामीण क्षेत्रों में अभी भी कोविड टीकाकरण को लेकर लोगों के मन में कई तरह की भ्रांतियां और भय व्याप्त है। विभाग द्वारा समेकित बाल विकास विभाग की कार्यकर्ताओं, आशा और एएनएम के सहयोग से लोगों को जागरूक करने का प्रयास किया जा रहा है और लोगों को टीकाकरण के लाभ के बारे में बताया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.