मैंने तो टीका ले लिया, आप कब ले रहे…

कोरोना से बचने के लिए टीका जरूर लें टीका
जिले में तेज गति से चल रहा टीकाकरण अभियान

बांका-

कोरोना से बचाव के लिए मैंने तो टीका ले लिया। अब आप कब ले रहे हैं। कोरोना से बचने के लिए टीका बहुत जरूरी है। टीका लेने से न सिर्फ कोरोना से सुरक्षित रहेंगे, बल्कि कोरोना की चेन भी टूटेगी और समाज के लोग भी इससे बचे रहेंगे। इसलिए टीका लेना न सिर्फ अपना बचाव है, बल्कि एक सामाजिक जिम्मेदारी भी है।ऐसा कहना है डोकानिया मार्केट और कटोरिया बस स्टैंड पर शनिवार को टीका लेने वालों का। कटोरिया बस स्टैंड पर टीका लेने वाले 55 वर्षीय शंभू दास ने कहा कि मैंने अपना टीका ले लिया है। मैं अन्य लोगों से भी कहना चाहता हूं कि वे भी अपना टीका ले लें। जितना जल्द टीका लेंगे, उतना ही जल्द कोरोना भी खत्म होगा। इसलिए कोरोना का टीका लेने में देरी नहीं करें। वहीं 62 वर्ष के विथल साह ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग टीके को लेकर तमाम जागरूकता कार्यक्रम चला रहा है। जागरूकता कार्यक्रम के दौरान जब मुझे टीका से होने वाले फायदे के बारे में पता चला तो मैं अपने आप को रोक नहीं सका।

कोरोना से बचना है तो अवश्य लें टीका:
वहीं डोकानिया मार्केट में टीका लेने आए अशोक प्रसाद चौधरी ने कहा कि टीका लेने के बाद मैं बेहतर महसूस कर रहा हूं। अब लग रहा है कि हम कोरोना से सु्रक्षित हो गए। कोरोना से बचना है तो सभी को टीका ले लेना चाहिए। वहीं 62 साल की राजकुमारी देवी ने कहा कि कोरोना का टीका लेने के बाद मुझे कोई शिकायत नहीं आई। टीका के बारे में लोगों को भ्रम से बचना चाहिए। स्वास्थ्य विभाग के लोग टीका को लेकर तमाम तरह के जागरूकता कार्यक्रम चला रहे हैं। उसे समझना चाहिए और लोगों को टीका ले लेना चाहिए।

बढ़ रही है लोगों की भागीदारी:
शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ. सुनील कुमार चौधरी कहते हैं कि जिले में टीका लेने वालों की संख्या लगातार बढ़ रही है। जागरूकता कार्यक्रम चलने के बाद लोग टीकाकरण में अपनी भागीदारी बढ़ा रहे हैं। यह सुखद संकेत है। इस तरह से अभियान चला तो जल्द ही कोरोना खत्म हो जाएगा। हालांकि इसके बावजूद मैं लोगों से अपील करना चाहता हूं कि अभी कोरोना की गाइडलाइन का पालन करना नहीं भूलें। जब तक कोरोना पूरी तरह से खत्म नहीं हो जाता, तब तक घर से बाहर निकलते वक्त डबल लेयर मास्क पहनें। भीड़भाड़ से बचें। सामाजिक दूरी का पालन करते हुए एक-दूसरे के बीच दो गज दूरी का अवश्य पालन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.