लखीसराय जिले में अब एएनएम करेंगी रैपिड एंटीजन किट से कोरोना जांच

  • जिला नोडल अधिकारी ने जिले के सभी पीएचसी और सीएचसी के मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी को जारी की चिट्ठी
  • जिले में जांच कर्मचारी ( प्रयोगशाला प्रोवैदिकी) की कमी को देखते हुए लिया गया निर्णय

लखीसराय, 20 मई 2021 :
जिले भर में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों और कोरोना जांच कर्मियों ( प्रयोगशाला प्रावैदिकी ) की कमी को देखते हुए जिले के सभी पीएचसी और सीएचसी क्षेत्र में काम करने वाली एएनएम के द्वारा रैपिड एंटीजन किट के माध्यम से कोरोना जांच करवाने का निर्णय लिया गया है।

जिले में कोविड 19 के नोडल अधिकारी डॉ. पीसी वर्मा ने कहा कि 15 मई को सिविल सर्जन लखीसराय के द्वारा जारी पत्र के आलोक में जिले के सभी पीएचसी और सीएचसी के मुख्य चिकित्सा पदाधिकारियों को पत्र जारी कर पीएचसी और सीएचसी क्षेत्र के साथ एपीएचसी और स्वास्थ्यय उपकेंद्र क्षेत्र में काम करने वाली एएनएम से रैपिड एंटीजन कोविड टेस्ट किट के माध्यम से कोरोना जांच करवाने का निर्देश दिया गया है।

डॉ. वर्मा ने बताया कि रैपिड एंटीजन कोविड टेस्ट किट से कोरोना संक्रमण की जांच अत्यंत ही सरल और सटीक है। इस जांच के बाद जांच रिपोर्ट भी कुछ देर के बाद ही मिल जाती है।

उन्होंने बताया कि जिले के सभी पीएचसी और सीएचसी के साथ ही रेफरल और अनुमंडलीय अस्पताल के मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी से यह अनुरोध किया गया है कि वह अपने क्षेत्र में कार्ररत एएनएम से उनके क्षेत्र में पूरी सावधानी के साथ रैपिड एंटीजन किट के माध्यम से कोरोना जांच करवाना सुनिश्चित कर लें। इसके साथ ही सबंधित डाटा ऑपरेटर के द्वारा इसकी ऑनलाइन प्रविष्टि भी सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए गए हैं।

कोरोना जांच के दौरान एएनएम को करना होगा कोरोना गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन :

डॉ. वर्मा ने बताया कि रैपिड एंटीजन किट से कोरोना जांच करने के दौरान सभी एएनएम पूरी सावधानी के साथ पीपीई किट, मास्क, फेसशील्ड, ग्लव्स पहनने के बाद ही कोरोना जांच करेंगी। इसके साथ ही एक निश्चित अंतराल के बाद अपने हाथों कि सफाई या सैनिटाइजेशन के लिए हैंड सैनिटाइजर का आवश्यक रूप से इस्तेमाल करेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.