लखीसराय पीएचसी पर आशा डायरी को लेकर आशा कार्यकर्ताओं की बैठक

-गांव संबंधी सूचनाओं के लेखा-जोखा करने के लिए भारत सरकार के द्वारा ग्राम सूचकांक पंजिका या डायरी दी जा रही है

  • भारत सरकार ने प्रत्येक आशा कार्यकर्ता को उनके गांव संबंधी सूचनाओं के लेखा-जोखा के लिए दी है डायरी
  • आशा कार्यकर्ता के द्वारा डायरी के माध्यम से कार्यों की सूची बनाने के साथ ही उसे किया जाना है अपडेट

लखीसराय 11 अगस्त| लखीसराय पीएचसी पर आशा डायरी को लेकर बुधवार को आशा कार्यकर्ताओं की बैठक हुई । इस बैठक में आशा कार्यकर्ता के लिए डायरी के महत्व और उसके उपयोग के बारे में बीएचएम निशांत राज के द्वारा विस्तार से जानकारी दी गई। मालूम हो कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत समुदाय की स्वास्थ्य आवश्यकताओं को स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं तक पहुंचाने एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रदत्त विभिन्न सेवाओं का लाभ उठाने में समुदाय को सहयोग करने के लिए आशा कार्यकर्ता और आशा फैसिलिटेटर का चयन किया गया है। वर्तमान में स्वास्थ्य संबंधी विभिन्न कार्यक्रमों के अलावा पोषण, स्वच्छता कार्यक्रम, पेयजल आपूर्ति आदि कार्यक्रम से भी आशा को जोड़ा जा रहा है। इसके लिए उन्हें अलग से प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।
गांव संबंधी सूचनाओं के लेखा-जोखा के लिए भारत सरकार के द्वारा ग्राम सूचकांक पंजिका या डायरी दी जा रही
लखीसराय सदर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रखण्ड स्वास्थ्य प्रबंधक (बीएचएम) निशांत राज ने बताया कि प्रत्येक आशा को अपने गांव संबंधी सूचनाओं के लेखा-जोखा करने के लिए भारत सरकार के द्वारा ग्राम सूचकांक पंजिका या डायरी दी जा रही है। इसमें वो विभिन्न सूचनाओं और कार्यों को सूचीबद्ध करने के साथ ही उसे अपडेट भी करेगी। उन्होंने बताया कि अपने -अपने डायरी में सभी आशा कार्यकर्ता निम्नलिखित कार्यों की सूची बनाने के साथ उसे अपडेट भी करेगी।

  • वर्ष के आरंभ में अपने क्षेत्र के सभी घरों की सूची बनाना एवं प्रत्येक महीने उसे अपडेट करना
  • अपने क्षेत्र में सभी जन्म मृत्यु का रजिस्ट्रेशन करना एवं उसे अपडेट करना
  • एएनसी जांच के लिए गर्भवती महिलाओं की सूची बनाना एवं प्रत्येक महीने उसे अपडेट करना
  • अपने क्षेत्र के योग्य दम्पतियों की सूची बनाना एवं उसे अपडेट करना
  • अपने क्षेत्र के नियमित टीकाकरण सत्र स्थल पर लाभार्थियों का ड्यू लिस्ट बनाना एवम उसे अपडेट करना।
    यह डायरी आशा को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि के बारे में महत्वपूर्ण अभिलेख है-
    उन्होंने बताया कि आशा डायरी को इस प्रकार से बनाया गया है कि आशा अपने भ्रमण के दौरान कार्यस्थल /सत्र स्थल पर ही डायरी से संबंधित जानकारी को पूर्ण कर लेगी। इसके साथ ही आशा को विभिन्न कार्यक्रम अंतर्गत मिलने वाली प्रोत्साहन राशि के विवरण के साथ दावा प्रपत्र भी डायरी के साथ उपलब्ध कराया जा रहा है। इससे आशा के द्वारा अपने प्रोत्साहन राशि के संबंध में रिकॉर्ड रखने में आसानी होगी। यह डायरी आशा को मिलने वाली प्रोत्साहन राशि के बारे में महत्वपूर्ण अभिलेख है जिसकी सहायता से आशा के कार्यों का सत्यापन किया जा सकेगा। इसके साथ ही अश्विन पोर्टल से संबंधित जानकारियां एवं दावा प्रपत्र भी डायरी के साथ प्रत्येक आशा कार्यकर्ता को उपलब्ध कराया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Notice: Undefined index: amount in /home/u709339482/domains/mobilenews24.com/public_html/wp-content/plugins/addthis-follow/backend/AddThisFollowButtonsHeaderTool.php on line 82
%d bloggers like this: