वंचित परिवारों को सहयोग करने की हुई पहल, सहयोगी ने 84 परिवारों को राहत सामग्री का किया वितरण

• क्रिया संस्था के सहयोग से राहत सामग्री की गयी वितरित
• पिछड़े एवं निर्धन परिवारों को राहत सामग्री कराया गया उपलब्ध
• राशन एवं स्वच्छता-सफाई से सम्बन्धी सामग्रियों का भी हुआ वितरण

पटना-
शुक्रवार को सहयोगी संस्था ने कोविड-19 महामारी से प्रभावित परिवारों को राशन सामग्री एवं उनके व्यक्तिगत स्वच्छता-सफाई से सम्बंधित सामग्रियों का वितरण किया । कोविड-19 महामारी से उत्पन्न संकट काल में अत्यन्त पिछड़े एवं निर्धन परिवारों के बीच राहत सामग्री के द्वारा उन्हें तात्कालिक सहायता प्रदान की गई। सहयोगी संस्था के कार्यक्षेत्र में सम्मलित महिला, विधवा, विकलांग, वृद्ध, आदि को राहत सामग्री वितरित की गयी.

84 परिवारों में राहत सामग्री का हुआ वितरण:
इसके लिए सहयोगी ने अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की संस्था क्रिया के सहयोग से चिन्हित 84 परिवारों के लिए राहत सामग्री उपलब्ध करायी. जिसमें चावल, आटा, दाल, तेल, हॉर्लिक्स, मसाले, नमक के साथ नहाने एवं कपड़े साफ़ करने के साबुन, सेनिटरी पैड को शामिल किया गया। राहत सामग्री का वितरण पटना के दानापुर प्रखंड के अंतर्गत हथियाकांध, जमसौत, रघुरामपुर पंचायत, मनेर प्रखंड के अंतर्गत सराय पंचायत एवं पटना शहरी क्षेत्र में जलालपुर, रूपसपुर, अभिमन्युनगर एवं कपाडियाटोला मलिन बस्तियों में जरूरतमंद परिवारों को किया गया। राहत सामग्री पैकेट में इन परिवारों के लिए 15 दिनों की सामग्री की व्यवस्था की गई। इसके अतिरिक्त संस्था द्वारा अपने कार्यक्षेत्र में महामारी के दौरान प्रतिबंधित आवागमन के समय भी समुदाय को स्वच्छ-सुरक्षित बने रहने के लिए सोशल मीडिया के उपयोग द्वारा जागरूक किया गया, असहायों को नजदीकी स्वस्थ्यकेंद्र तक पहुँचाने हेतु सहायता की गई।

कोरोना काल में कई लोगों की मुश्किलें बढ़ी है:
सहयोगी संस्था की कार्यकारी निदेशक रजनी ने बताया कि कोरोना ने न सिर्फ़ आम लोगों के स्वास्थ्य को प्रभावित किया है. बल्कि इससे कई लोगों की जीविका भी प्रभावित हुयी है. कई लोगों के सामने अपने परिवार के लिए खाना जुटाना भी चुनौतिपूर्ण साबित हुआ है. ऐसे में इन परिवारों को राहत पहुँचाने के मकसद से सहयोगी ने एक छोटा सा प्रयास किया है.

वंचितों को मुख्यधारा से जोड़ने में सहयोगी है प्रयासरत:
रजनी ने कहा कि कोरोना काल के इतर सामान्य दिनों में भी इन परिवारों की जीविका बहुत कठिनाई से चलती है। लेकिन लॉकडाउन एवं प्रतिबंधित आवागमन के कारण इनके घरों में राशन एवं अन्य आवश्यक सामग्रियों की कमी में और इज़ाफा देखा गया। वहीं, सामान्यता इन परिवारों के पास विभिन्न योजनाओं के तहत मिलने वाले लाभों के लिए आवश्यक कागजात की भी कमी होती है. इससे वे इन लाभों से वंचित रह जाते हैं। इस दिशा में सहयोगी निरंतर प्रयास कर रही है. सहयोगी संस्था द्वारा किये जाने वाले हस्तक्षेपों से ऐसे परिवारों को योजनान्तर्गत लाभ सुनिश्चित कराने के लिए आवश्यक दस्तावेजों को बनवाने में सक्रिय रूप से सहायता की जाती है। इस तरह से सहयोगी वंचितों को मुख्यधारा से जोड़ने में निरंतर प्रयासरत है.
यह ज्ञातव्य हो कि सहयोगी द्वारा पटना के विभिन्न गांवों एवं मलिन बस्तियों में घरेलु हिंसा एवं जेंडर हिंसा के मुद्दे पर सामुदायिक जागरूकता का कार्यक्रम करती है एवं इस विषय पर सभी हितभागियों के साथ विभिन्न कार्यक्रमों के आयोजन कर अलग-अलग फोरम पर संवाद करती है। साथ ही, समुदाय के स्वच्छता-सफाई, रोजगार, आदि के मुद्दों पर भी विभिन्न अवसरों को उपलब्ध कराती है।
राहत सामग्री वितरण के अवसर पर सहयोगी संस्था की निदेशिका रजनी, धर्मेन्द्र कुमार, राजू पाल, उन्नति रानी के साथ सामाजिक संगठनकर्ता लाजवंती देवी, उषा देवी, रूबी कुमारी, संजू कुमारी, मुन्नी कुमारी, आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.