विश्व नर्स दिवस विशेष :तमाम चुनौतियां के बावजूद मानवता की मिसाल बनी एएनएम रजनीकांत और सुधा कुमारी

  • कोविड-19 वैक्सीनेशन में खुद के साथ परिवार का ख्याल रखते हुए निभाई अपनी जिम्मेदारी
  • लोगों को बचाव के लिए भी कर रही जागरूक

खगड़िया, 12 मई-

फ्लोरेंस नाइटिंगल के जन्मदिन पर हर वर्ष पूरे विश्व में 12 मई को विश्व नर्स दिवस मनाया जाता है। वर्ष 2021 का वर्तमान दौर नर्सों के लिए काफी चुनौतीपूर्ण और महत्वपूर्ण रहा। किन्तु, तमाम चुनौतियों के बाबजूद जिले की नर्स अपनी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हटी। बल्कि, इसे अपने जीवनकाल का महत्वपूर्ण दौर समझकर बखूबी अपनी जिम्मेदारी निभायी । ऐसे ही नर्सों में खगड़िया सदर पीएचसी में तैनात एएनएम रजनीकांत और सुधा कुमारी शामिल हैं कोविड-19 के खिलाफ देश समेत जिले में शुरू हुए वैक्सीनेशन अभियान के सफल क्रियान्वयन की जिम्मेदारी इन्हीं दोनों नर्सों को दी गई । जिसके बाद दोनों नर्सों ने खुद के साथ अपने परिवार का ख्याल रखते हुए इस जिम्मेदारी को मजबूत इच्छाशक्ति के साथ निभाया है। इस दौरान तमाम चुनौतियों का सामना करना पड़ा। किन्तु, कभी चुनौतियों को खुद पर हावी नहीं होने दिया। बल्कि, अवसर समझकर अपनी ड्यूटी पर लगी रही हैं ।

  • शुरुआती दौर से ही वैक्सीनेशन का संभाल रही है कमान :-
    खगड़िया सदर पीएचसी के प्रभारी डॉ राजीव कुमार ने बताया, वैक्सीनेशन के शुभारंभ के वक्त से ही इन दोनों एएनएम को वैक्सीनेशन में ड्यूटी लगाई गई थी । इसके लिए दोनों को इससे पूर्व जिला में प्रशिक्षण दिया गया था। दोनों एएनएम अपनी जिम्मेदारी पूरी निष्ठा के साथ पूरी कर रही हैं । इसके लिए मैं दोनों के कर्तव्य भावना को सलाम करता और दोनों को धन्यवाद भी देता हूँ। दोनों कभी भी अपनी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हटी और ना ही दोनों में कभी किसी प्रकार की हिचक दिखी। इस मुश्किल भरे दौर में दोनों एएनएम लोगों को लगातार अनवरत स्वास्थ्य सेवा का लाभ देती रही।
  • वैक्सीनेशन के साथ लोगों को बचाव के लिए भी करती हैं जागरूक :-
    खगड़िया सदर पीएचसी में तैनात केयर इंडिया के आईसीटी उदय कुमार ने बताया, दोनों एएनएम वैक्सीनेशन के कार्य तो बखूबी कर ही रही हैं । साथ हीं दोनों वैक्सीन लेने आने वाले लोगों को इस महामारी से बचाव के लिए भी जागरूक करती हैं । इस दौरान लोगों को वैक्सीनेशन के बाद भी सतर्कता एवं एहतियात जारी रखने के लिए प्रेरित करती हैं । दोनों एएनएम काफी संयम एवं सतर्कता के साथ शुरूआती दौर से ही वैक्सीनेशन की जिम्मेदारी पूरी कर रही हैं ।
  • मुश्किल भरा दौर जरूर था, पर जिम्मेदारी भी बड़ी थी, क्योंकि मानव सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं :-
    एएनएम रजनीकांत और सुधा कुमारी ने बताया जब वैक्सीनेशन का शुभारंभ हुआ था,तब वैक्सीन भी नयी थी । दौर भी काफी मुश्किल भरा चल रहा था। खुद के साथ परिवार की जिम्मेदारी संभालना और इस महामारी से खुद व परिवार को भी सुरक्षित रखना तो मुश्किल था हीं । ऐसे में हर किसी को मन में थोड़ा भय जरूर था। हमदोनों को भी निश्चित रूप से भय लगा था। किन्तु, हमदोनों ने सोचा इससे बड़ी तो हमारी जिम्मेदारी है। तभी तो हमदोनों को ही यह दायित्व मिला। इसी सकारात्मक सोच के साथ मानव सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं है कि बात को हथियार बनाते बनाते हुए अपनी जिम्मेदारी को पूरा करने में लग गई और अभी तक लगी हुई हूँ।
  • इन मानकों का रखें ख्याल, कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर रहें :-
  • मास्क का उपयोग और शारीरिक दूरी का पालन जारी रखें।
  • बारी आने पर निश्चित रूप से वैक्सीनेशन कराएं और दूसरों को भी प्रेरित करें।
  • लक्षण महसूस होने पर कोविड-19 जाँच कराएं।
  • साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें और सैनिटाइजर का उपयोग करें।
  • अनावश्यक यात्रा से परहेज करें और जरुरी पड़ने पर भी घर से बाहर निकलें।
  • भीड़-भाड़ वाले जगहों से परहेज करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.