विश्व नारियल दिवस के अवसर पर धर्मार्थ संगठनों कोसूर्यदत्ता फूड बैंक की ओर से नारियल का दान

पुणे : विश्व नारियल दिवस के अवसर पर सूर्यदत्ता ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट द्वारा संचालित सूर्यदत्त फूड बैंक ने एज्यू-सोशियो कनेक्ट इनिशिएटिव के तहत शहर के विभिन्न धर्मार्थ संगठनों को नारियल दान किए।
सावली प्रतिष्ठान, उमेद फाउंडेशन, अनिकेत सेवाभावी संस्था सहित 11 संस्थाओं को कुल 1100 नारियल वितरित किए गए। सूर्यदत्ता ग्रुप ऑफ इन्स्टिट्यूट के संस्थापक अध्यक्ष प्रा. डॉ. संजय चोरडिया के मार्गदर्शन में यह उपक्रम हुआ. सूर्यदत्ता के स्कूल-कॉलेज के छात्रों ने पेंटिंग और हस्तशिल्प और उसकी प्रतिकृतियों के माध्यम से नारियल के महत्व को प्रस्तुत किया।

सूर्यदत्ता हमेशा छात्रों में भारतीय संस्कृति को विकसित करने के लिए अनूठी गतिविधियों का आयोजन करता है। छात्रों ने भारतीय संस्कृति पर केंद्रित नारियल के विभिन्न चित्र बनाए हैं। इन संगठनों को संस्था की उपाध्यक्ष और सचिव सुषमा चोरडिया द्वारा नारियल वितरित किये गये। सावली प्रतिष्ठान के किसन शिंदे, उम्मेद फाउंडेशन के राकेश सनस, अनिकेत सेवाभावी संस्था के गणेश तनपुरे ने नारियल स्वीकार किये।

इस अवसर पर सूर्यदत्ता ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट के समूह निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी प्रा. डॉ. शैलेश कसांडे, डीन प्रा. डॉ. प्रतीक्षा वाबले, कार्यकारी निदेशक प्रा. सुनील धाडीवाल, निदेशक प्रशांत पितालिया, प्रा. रोहित संचेती सहित संस्थान के शिक्षक और अन्य कर्मचारी उपस्थित थे। सामाजिक कार्यकर्ता सीमा दाबके ने इस कार्यक्रम का समन्वय किया।

सुषमा चोरडिया ने कहा, “भारत में विशेष कर के पुरे आशिया और पॅसिफिक खंड में २ सप्टेंबर यह दिन जागतिक नारियल दिवस के रूप में मनाया जाता है. नारियल में मॅगनीज, कार्बोहायड्रेट और प्रोटीन की बड़ी मात्रा रहती है. अच्छे स्वास्थ्य के लिए वह उपयुक्त है. डायबेटीस, केश और त्वचा के लिए भी नारियल का महत्व है. साथ ही भारतीय संस्कृति में नारियल को एक अलग महत्व है. कोई भी कार्य का शुभारम्भ करने से पहले हम नारियल चढ़ाते है. इसको ध्यान में लेकर प्रा. डॉ. संजय चोरडिया ने यह दिवस अलग ढंग से मनाने का प्रस्ताव रखा और इन सामाजिक संगठन को नारियल दिए गए.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *