विश्व ह्रदय दिवस को लेकर सदर अस्पताल से हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर तक आयोजित हो रहा निःशुल्क स्वास्थ्य जांच एवं परामर्श शिविर

  • 29 सितंबर से 05 अक्टूबर तक चलेगा शिविर
    -स्वास्थ्य शिविरों में लोगों की निःशुल्क की जा रही है ह्रदय जांच,
    -निःशुल्क ईसीजी, बीपी जांच के साथ -साथ दी जा रही है रोग के कारण, लक्षण और बचाव की जानकारी

मुंगेर, 02 अक्टूबर –

विश्व ह्रदय दिवस पर सदर अस्पताल से लेकर जिलाभर के सभी अस्पतालों, सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के साथ -साथ हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर 29 सितंबर से 05 अक्टूबर तक निःशुल्क स्वास्थ्य जांच एवं परामर्श शिविर आयोजित किया जा रहा है। इस शिविर में आने वाले सभी लोगों की निःशुल्क ह्रदय जांच इलेक्ट्रो कार्डियोग्राफ (ईसीजी) करने के साथ- साथ डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर की भी जांच की जा रही है। इसके साथ ही डॉक्टरों के द्वारा लोगों को ह्रदय रोग के कारण, लक्षण और इससे बचाव के बारे में पूरी जानकारी दी जा रही है।

मुंगेर के गैर संचारी रोग पदाधिकारी डॉ. के.रंजन ने बताया कि ह्रदय रोग किसी भी आयु वर्ग के लोगों को हो सकता है। बच्चे, बुजुर्ग और युवा सहित सभी आयु वर्ग के लोग ह्रदय रोग से पीड़ित हो सकते हैं। इसलिए प्रत्येक आयु वर्ग के लोगों को ह्रदय रोग से बचाव के उपायों के पालन करने के अलावा विशेषज्ञ डॉक्टर के परामर्श के अनुसार उचित समय पर सही इलाज भी कराना आवश्यक है। इसके साथ ही ह्रदय संबंधी बीमारी से बचने के लिए लोगों को संतुलित भोजन के साथ-साथ सही तरीके से रहन-सहन पर भी विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष “यूज हर्ट टू बीट कार्डियोवैस्क्युलर डिजीज” की थीम पर विश्व ह्रदय दिवस सप्ताह मनाया जा रहा है। इस दौरान सप्ताह भर शिविर में आने वाले लोगों को ह्रदय रोग से बचाव के बारे में आवश्यक जानकारियां दी जा रही हैं। ग्रामीण क्षेत्र में आशा कार्यकर्ता घर -घर जाकर ह्रदय रोग से पीड़ित लोगों को जिला के सभी स्वास्थ्य संस्थानों में हो रहे ह्रदय जांच सहित अन्य जांच की जानकारी देते हुए जांच कराने के लिए उन्हें प्रेरित कर रही हैं। सदर अस्पताल में आयोजित निःशुल्क जांच सह परामर्श शिविर में सदर अस्पताल स्थित एनसीडी ऑफिस इंचार्ज राखी मुखर्जी के साथ-साथ मनोवैज्ञानिक परामर्श दाता नितिन कुमार, राहुल कुमार, एनसीडी क्लीनिक इंचार्ज सबा नाज़ और प्रतिमा कुमारी मौजूद थी।

हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर इटहरी, नोवागढ़ी मुंगेर की सीएचओ अर्चना कुमारी ने बताया कि यहां भी निःशुल्क ह्रदय जांच सह परामर्श शिविर का आयोजन किया गया है। यहां आने वाले लोगों का निःशुल्क ईसीजी जांच के अलावा डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर की भी जांच की जा रही है। इसके साथ ही आने वाले सभी लोगों को ह्रदय रोग के कारण, लक्षण और बचाव की विस्तारपूर्वक जानकारी दी जा रही है। उन्होंने बताया कि ह्रदय रोग का लक्षण देखते ही विशेषज्ञ डॉक्टर से चिकिसकीय सलाह लेने के बाद सही इलाज कराना अति आवश्यक है। सही समय पर सही इलाज होने के बाद ही इस बीमारी से निजात मिल सकती है अन्यथा यह बीमारी लोगों की जिंदगी को भी प्रभावित कर सकती है। उन्होंने बताया कि बच्चे भी जन्मजात ह्रदय में सुराग की बीमारी से पीड़ित हो जा रहा रहे हैं। इन बच्चों का राज्य सरकार के प्रयास से बिहार से बाहर अहमदाबाद भेज कर उनके ह्रदय का सफल ऑपरेशन कराया जा रहा है। राज्य सरकार के इस प्रयास से कई बच्चे जो जन्मजात ह्रदय में सुराग से पीड़ित थे उन्हें नई जिंदगी मिल रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: