वैक्सीन लेने के दौरान लोगों को नहीं हो असुविधा… इसलिए खुद डीएस वैक्सीनेशन सेंटर की करते हैं मॉनिटरिंग

  • वैक्सीन लेने से एक भी व्यक्ति नहीं रहे वंचित, इसके लिए हमेशा तत्पर रहते हैं सदर अस्पताल खगड़िया के डीएस डाॅ योगेन्द्र नारायण प्रयसी
  • खुद भी ले चुके हैं वैक्सीन की दोनों डोज, अब लोगों को कर रहे हैं प्रेरित

खगड़िया-

कोविड-19 संक्रमण के खिलाफ जिले में चल रहे वैक्सीनेशन अभियान को सफल बनाने में स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों एवं कर्मियों को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा है। किन्तु, बाबजूद इसके स्वास्थ्य विभाग के तमाम पदाधिकारी एवं कर्मी इसे पूर्ण रूप से सफल बनाने में अपनी जिम्मेदारी के प्रति अग्रसर हैं| साथ हीं एक भी व्यक्ति इस महामारी के खिलाफ वैक्सीन लेने से वंचित नहीं रहे मिशन के तहत लगातार जागरूकता अभियान चलाकर लोगों को जागरूक करने में भी जुटे हैं। ऐसे ही पदाधिकारियों में सदर अस्पताल खगड़िया के उपाधीक्षक (डीएस) डाॅ योगेन्द्र नारायण प्रयसी का भी नाम जिले में शुमार है। डाॅ योगेन्द्र ना सिर्फ अस्पताल में मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने के प्रति सजग और कटिबद्ध रहते हैं बल्कि, अस्पताल अंतर्गत विभिन्न जगहों पर कोविड-19 वैक्सीनेशन शिविर के दौरान लोगों को किसी प्रकार की असुविधा न हो, इसके लिए वह खुद शिविर का भ्रमण कर लोगों बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के प्रति भी कटिबद्ध रहते हैं। ताकि सभी लोगों को सुविधाजनक तरीके से वैक्सीन दी जा सके और लोग उत्साह के साथ वैक्सीनेशन के लिए आगे आकर इस महाअभियान को सफल बनाने में सहयोग करें ।

  • लोगों के सकारात्मक सहयोग से चुनौतियाँ हुई कम और समाज में चली अफवाहों को मिली मात :
    डीएस डाॅ योगेन्द्र बताते हैं, जब जिले में सरकार द्वारा गाइडलाइन जारी करने बाद लोगों को वैक्सीन देने का कार्य शुरू किया गया तो समाज में अफवाहों का दौर शुरू हो गया। लोगों को लगने लगा कि ना जाने वैक्सीन लेने के बाद क्या होगा। ऐसे में लोगों को तमाम अफवाहों से दूर कर वैक्सीन लेने के लिए प्रेरित कर इस अभियान को सफल बनाना स्वास्थ्य विभाग के लिए सबसे बड़ी चुनौती उभर कर सामने आई। किन्तु, स्वास्थ्य विभाग के तमाम पदाधिकारी एवं कर्मी ने सकारात्मक उम्मीद के साथ ना सिर्फ उक्त अफवाहों को दूर करने के लिए आवश्यक पहल की बल्कि, लोगों को जागरूक करने में भी सफल रहे । जिसका सार्थक नतीजा यह है कि लोगों में वैक्सीन के प्रति विश्वास बढ़ा और अफवाहों को मात मिली। इतना ही नहीं, इस सकारात्मक पहल का लोगों पर ऐसा प्रभाव पड़ा कि अब लोग खुद फोन कर पूछने लगे हैं कि मेरे गाँव में वैक्सीनेशन शिविर कब लगेगा। मसलन, लोग वैक्सीन लेने के लिए खुद आगे आने लगे। सभी वैक्सीनेशन सेंटरों पर सभी जाति-धर्म और सभी वर्गों के लोगों की भीड़ देखी जा रही है, जो सामुदायिक स्तर पर सकारात्मक बदलाव का भी संकेत है। वहीं, उन्होंने बताया, लोगों के सहयोग से ना सिर्फ स्वास्थ्य विभाग की चुनौतियां कम हुई बल्कि, समाज में चली अफवाहों को भी मात मिली।
  • वैक्सीन का दोनों डोज ले चुके हैं डीएस :
    डीएस डाॅ योगेन्द्र ने बताया, मैं खुद भी इस महामारी के खिलाफ वैक्सीन की दोनों डोज ले चुका हूँ और खुद को पूरी तरह स्वस्थ महसूस कर रहा हूँ। इस महामारी से बचाव के लिए वैक्सीन ही सबसे बेहतर सुरक्षा कवच है। यही नहीं यह ना सिर्फ आपके लिए बेहतर सुरक्षा कवच है बल्कि, आपके परिवार और समाज के साथ-साथ राज्य और देश हित में सबसे बेहतर कदम है। इसलिए, मैं तमाम लोगों से अपील करता हूँ कि जो लोग किसी भी कारण से अबतक वैक्सीन नहीं ले सके हैं, वह बेहिचक वैक्सीन लें। वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित और प्रभावी है।
  • इन मानकों का करें पालन और कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर रहें :
  • मास्क का उपयोग और शारीरिक दूरी का पालन जारी रखें।
  • अनावश्यक घरों से बाहर नहीं निकलें और भीड़-भाड़ वाले जगहों से परहेज करें।
  • विटामिन-सी युक्त पदार्थों का अधिक सेवन करें।
  • साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें और सैनिटाइजर का उपयोग करें।
  • नियमित तौर लगातार साबुन या अल्कोहल युक्त पदार्थों से अच्छी तरह हाथ धोएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *