सुल्तानगंज के मिश्रपुर में लगा अंतरा कैंप

-परिवार नियोजन को लेकर 42 महिलाओं ने सुई ली

-क्षेत्र में परिवार नियोजन पखवाड़ा और संचार अभियान चल रहा

भागलपुर, 30 जनवरी
परिवार नियोजन पखवाड़ा के तहत शनिवार को सुल्तानगंज प्रखंड के एपीएचसी, मिश्रपुर में अंतरा कैंप लगाया गया. कैंप में 42 महिलाएं पहुंची. महिलाओं को एएनएम राजकुमारी और किरण भारती ने सुई दी और परिवार नियोजन के अन्य तरीके भी बताए. मालूम हो कि 31 जनवरी तक जिले में परिवार नियोजन पखवाड़ा चलेगा. साथ ही 31 मार्च तक संचार अभियान भी चलेगा. इसे लेकर क्षेत्र में तमाम तरह के कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं, जिसमें लोगों को परिवार नियोजन की जानकारी दी जा रही है. उसी के तहत अंतरा कैंप लगाया गया था.
कैंप में आने वाली महिलाओं को एएनएम ने सुई लगाई-
सुल्तानगंज रेफरल अस्पताल की प्रभारी डॉ उषा कुमारी ने बताया कि क्षेत्र में परिवार नियोजन को लेकर जागरूकता अभियान जोर-शोर से चल रहा है. रैली निकाली जा रही और माइकिंग के जरिए क्षेत्र में लोगों को परिवार नियोजन की जानकारी दी जा रही है. स्वास्थ्यकर्मी इस अभियान में जोर-शोर से लगे हुए हैं. आज अंतरा कैंप में आने वाली महिलाओं को एएनएम ने सुई लगाई और परिवार नियोजन को लेकर अन्य सलाह भी दी गई. मौके पर केयर इंडिया के शंभू कुमार, कुमार नलिन, आशा फैसिलिटेटर बेबी कुमारी, आशा कार्यकर्ता पूनम कुमारी और मीरा झा भी मौजूद थी.

अंतरा के तहत सुई लेने से 3 महीने तक रहें निश्चिंत:
मौके पर मौजूद केयर इंडिया के आलोक कुमार ने बताया कि अंतरा कैंप में महिलाओं को परिवार नियोजन के लिए सुई लगाई जाती है, जिससे 3 महीने तक महिलाओं को गर्भ नहीं ठहरता है. यह पूरी तरह से सुरक्षित रहता है और महिलाओं को किसी भी तरह की परेशानी नहीं होती है. हमलोग परिवार नियोजन अभियान के तहत अंतरा, कॉपर- टी और कंडोम लगाने की सलाह देते हैं. यह सारे अस्थाई संसाधन हैं जो परिवार नियोजन में काफी मददगार साबित होते हैं .

रक्तस्राव होने पर घबराएं नहीं:
आलोक कुमार ने कहा कि कभी-कभी अंतरा के तहत सुई लेने से महिलाओं को रक्तस्राव (ब्लीडिंग) होने लगता है. इससे घबराने की जरूरत नहीं है. यह बहुत ही साधारण बात है. साथ ही माहवारी भी अनियमित हो जाती है. किसी-किसी का बंद भी हो जाता है, लेकिन यह सब सामान्य बात है. अगर इस तरह की समस्या आए तो डॉक्टर से मिलकर दवा ले लें. इसका बहुत ही आसान समाधान है.

एक बच्चे वाले दंपती की काउंसलिंग की गई:
कैंप के दौरान एक बच्चे वाले दंपति की एएनएम ने काउंसलिंग की. उन्हें दूसरे बच्चे के लिए कितने समय का इंतजार करना चाहिए इसकी जानकारी दी गयी. एएनएम ने दंपतियों को बताया कि 3 साल तक दूसरे बच्चे का इंतजार करें. इससे जच्चा और बच्चा दोनों ही स्वस्थ रहेगा. साथ ही बच्चे की प्रतिरोधक क्षमता भी अधिक रहेगी, जिससे बीमारियों से लड़ने में सक्षम रहेंगे.

कोविड 19 के दौर में रखें इसका भी ख्याल:
• व्यक्तिगत स्वच्छता और 6 फीट की शारीरिक दूरी बनाए रखें.
• बार-बार हाथ धोने की आदत डालें.
• साबुन और पानी से हाथ धोएं या अल्कोहल आधारित हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें.
• छींकते और खांसते समय अपनी नाक और मुंह को रूमाल या टिशू से ढकें
• उपयोग किए गए टिशू को उपयोग के तुरंत बाद बंद डिब्बे में फेंके.
• घर से निकलते समय मास्क का इस्तेमाल जरूर करें.
• बातचीत के दौरान फ्लू जैसे लक्षण वाले व्यक्तियों से कम से कम 6 फीट की दूरी बनाए रखें.
• आंख, नाक एवं मुंह को छूने से बचें.
• मास्क को बार-बार छूने से बचें एवं मास्क को मुँह से हटाकर चेहरे के ऊपर-नीचे न करें
• किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने या बात-चीत करने के दौरान यह जरूर सुनिश्चित करें कि दोनों मास्क पहने हों
• कहीं नयी जगह जाने पर सतहों या किसी चीज को छूने से परहेज करें
• बाहर से घर लौटने पर हाथों के साथ शरीर के खुले अंगों को साबुन एवं पानी से अच्छी तरह साफ करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.