26 से 30 सितंबर तक पल्स पोलियो टीकाकरण, 14 सितंबर को ऑनलाइन राज्यस्तरीय कार्यशाला

  • पल्स पोलियो टीकाकरण कार्यक्रम की वजह से 24 से 30 सितंबर तक स्थगित रहेगा एमडीए कार्यक्रम
  • राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक ने सिविल सर्जन सहित अन्य अधिकारियों को जारी की चिट्ठी

मुंगेर, 10 सितंबर| आगामी 26 सितंबर से मुंगेर सहित राज्य के सभी जिलों में पल्स पोलियो अनुराष्ट्रीय टीकाकरण अभियान की शुरुआत होगी | इसके सफल संचालन को लेकर 14 सितंबर को ऑनलाइन राज्य स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया गया है। मंगलवार को दोपहर बाद 03 से 05 बजे तक आयोजित होने वाली राज्य स्तरीय उन्मुखीकरण कार्यशाला में वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माध्यम से राज्य के सभी जिलों के स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारी और डब्ल्यू एचओ और यूनिसेफ के प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे। राज्यस्तरीय ऑनलाइन उन्मुखीकरण कार्यशाला में सभी हेल्थ ऑफिसर सहित अन्य लोगों की उपस्थिति सुनिश्चित कराने के साथ- साथ पल्स पोलियो कार्यक्रम की वजह से 24 से 30 सितंबर तक एमडीए कार्यक्रम स्थगित रहने के संबंध में राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह ने सभी जिलों के सिविल सर्जन सहित अन्य अधिकारियों को एक चिट्ठी जारी की है।
26 सितंबर से जिला भर में पल्स पोलियो अभियान चलाया जाना है
मुंगेर के सिविल सर्जन डॉ . हरेन्द्र आलोक ने बताया कि भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी किए गए निर्देश और राज्य स्वास्थ्य समिति बिहार द्वारा जारी किए गए पत्र के अनुसार आगामी 26 सितंबर से जिला भर में पल्स पोलियो अभियान चलाया जाना है। इस अभियान के सफल संचालन के लिए सभी स्तर पर कार्यरत स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और कर्मियों का उन्मुखीकरण कराया जाना है। इसके लिए मंगलवार 14 सितंबर को ऑनलाइन राज्यस्तरीय उन्मुखीकरण कार्यशाला का आयोजन किया गया है। इस कार्य शाला में सिविल सर्जन ,एसीएमओ, डीपीएम और डीआईओ सहित स्वास्थ्य विभाग कई अन्य अधिकारी और स्वास्थ्य कर्मी हिस्सा लेंगे। इस कार्यशाला में डब्ल्यूएचओ और यूनिसेफ के प्रतिनिधि भी मौजूद रहेंगे।
24 से 30 सितंबर तक स्थगित रहेगा एमडीए कार्यक्रम :
सिविल सर्जन ने बताया कि राज्य के 22 जिलों जिसमें मुंगेर भी शामिल है में आगामी 20 सितंबर से फाइलेरिया रोगियों के लिए मास ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एमडीए) कार्यक्रम शुरू किया जाना है। इस कार्यक्रम के माइक्रोप्लान के अनुसार आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर अपने सामने फाइलेरिया के रोगियों को अल्बेंडाजोल एवं डीईसी की दवा खिलाएगी। इसी दौरान 26 से 30 सितंबर के दौरान पल्स पोलियो कार्यक्रम भी मनाया जाना सुनिश्चित है। इस अभियान के तहत भी आशा कार्यकर्ता के द्वारा ही घर-घर जाकर बच्चों को पल्स पोलियो की दवा पिलायी जानी है। इसको देखते हुए ही माइक्रोप्लान बनाया जाना है।
पल्स पोलियो कार्यक्रम के समाप्त होने के बाद पुनः एमडीए के बचे हुए कार्य सम्पन्न होंगे
उन्होंने बताया कि इस सन्दर्भ में राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह के निर्देशानुसार 24 से 30 सितंबर तक एमडीए कार्यक्रम को स्थगित करते हुए एमडीए का माइक्रोप्लान बनाया जाएगा और 30 सितंबर को पल्स पोलियो कार्यक्रम के समाप्त होने के बाद पुनः एमडीए के बचे हुए कार्य को सम्पन्न कराया जायेगा। इस संबंध में मुंगेर के वेक्टर बोर्न डिजीज नियंत्रण पदाधिकारी ,एमडीए के सभी कार्यकलापों का अनुश्रवण करने के साथ ही कार्यक्रम की शत प्रतिशत सफलता सुनिश्चित करेंगे और इसकी सूचना राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक एवं राज्य कार्यक्रम पदाधिकारी फाइलेरिया को देंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *