6 प्रखण्ड के 12 गांवों में आज से 9 जनवरी तक कालाजार रोगी खोज अभियान

  • आशा और आशा फैसिलिटेटर घर-घर जाकर कालाजार रोगी की पहचान करेंगी
  • बरियारपुर प्रखण्ड के 5 गांवों में 6 आशा और 6 आशा फैसिलिटेटर पता करेंगी कालाजार के मरीज का

मुंगेर, 28 दिसम्बर। जिलाभर के 6 प्रखण्ड सदर प्रखंड , जमालपुर, धरहरा, हवेली खड़गपुर, टेटिया बम्बर और बरियारपुर के 12 गांवों में 14 आशा कार्यकर्ता और 10 आशा फैसिलिटेटर के द्वारा 29 दिसम्बर से 9 जनवरी 2022 के दौरान घर- घर जाकर कालाजार रोगी की खोज की जाएगी। ताकि सही समय पर उनका सही इलाज संभव हो सके।

जिला वेक्टर बोर्न डिजीज कंट्रोल ऑफिसर डॉ. अरविंद कुमार सिंह ने बताया कि राज्य स्वास्थ्य समिति पटना से प्राप्त निर्देश के अनुसार जिला में बुधवार से कालाजार रोगी खोज अभियान शुरू किया जा रहा है। यह अभियान 29 दिसम्बर से लेकर 9 जनवरी 2022 तक जिला के 6 प्रखण्ड के कालाजार प्रभावित 12 गांवों में शुरू किया जा रहा है। इनमें से सर्वाधिक बरियारपुर प्रखण्ड के 5 गांव आशा टोला, हनसु सिंह टोला, विशनपुर, हरिणमार और गाँधीपुर में 6-6 आशा कार्यकर्ता और आशा फैसिलिटेटर के द्वारा घर-घर जाकर कालाजार रोगी की पहचान की जाएगी ताकि सही समय पर उनका सही इलाज हो और उनकी प्राणों की रक्षा हो सके। इसके अलावा हवेली खड़गपुर और टेटिया बम्बर प्रखण्ड के दो-दो गांव के साथ-साथ सदर प्रखंड, जमालपुर और धरहरा प्रखण्ड के एक-एक गांव में यह अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस पूरे अभियान के दौरान प्रत्येक प्रखण्ड में सुपरवाइजर के रूप में वेक्टर बोर्न डिजीज सुपरवाइजर और बीएचडब्ल्यू कार्य करेंगे। इस के साथ ही पूरे जिला भर में मेरे अलावा वेक्टर डिजीज कंट्रोल ऑफिसर संजय कुमार विश्वकर्मा और वेक्टर बोर्न डिजीज कंसलटेंट पंकज कुमार प्रणव मॉनिटरिंग करेंगे।

वेक्टर डिजीज कंट्रोल ऑफिसर संजय कुमार विश्वकर्मा ने बताया कि सदर प्रखंड के शिवगंज दरियापुर गांव के 250 घरों में रहने वाले 1260 लोगों में 29 दिसम्बर से 4 जनवरी 2022 के दौरान कालाजार रोगी की खोज की जाएगी। इसी तरह जमालपुर प्रखण्ड क्षेत्र के अहरा मुसहरी गांव के 220 घरों में रहने वाले 12698 लोगों में और धरहरा प्रखण्ड के बिलोखर गांव के 150 घरों में रहने वाले 900 लोगों में कालाजार रोगी की खोज की जाएगी।

उन्होंने बताया कि हवेली खड़गपुर प्रखण्ड क्षेत्र के कथना गांव के 349 घरों में रहने वाले 1881 लोगों में और पौकरी गांव के 120 घरों में रहने वाले 938 लोगों में कालाजार मरीज की खोज की जाएगी। इसी तरह टेटिया बम्बर प्रखण्ड क्षेत्र के परैया गांव के 200 घरों में रहने वाले और सबिया गांव के 144 घरों में रहने वाले 746 लोगों में कालाजार रोगी की खोज की जाएगी।
इसके अलावा बरियारपुर प्रखण्ड क्षेत्र के आशा टोला गांव के 250 घरों में रहने वाले 1251लोगों, हनसु सिंह टोला गांव के 500 घरों में रहने वाले 2531लोगों, विशनपुर गांव के 250 घरों में रहने वाले 2251 लोगों, हरिण मार गांव के 250 घरों में रहने वाले 1253 लोगों और गाँधीपुर गांव के 250 घरों में रहने वाले 1251 लोगों में 05 जनवरी से 09 जनवरी 2022 के दौरान आशा कार्यकर्ता और आशा फैसिलिटेटर के द्वारा घर-घर जाकर कालाजार के रोगी की पहचान की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: