900 से अधिक लोगों को केंद्र पर ले जाकर दिलवाया टीका

वार्ड नंबर 34 की पार्षद बीवी वालिमा टीकाकरण अभियान में निभा रहीं अपनी जिम्मेदारी
कोरोना टीका के बारे में लोगों को समझा नजदीकि केंद्र पर टीका लेने भेज रहीं लाभुकों को

भागलपुर, 3 अगस्त

कोरोना टीकाकरण अभियान में स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी तो लगे हुए ही हैं, लेकिन टीकाकरण केंद्रों तक लाभुकों को ले जाने में स्थानीय जनप्रतिनिधि भी अपनी भूमिका अच्छी तरह से निभा रहे हैं। वार्ड नंबर 34 की पार्षद बीवी वालिमा अब तक 900 लोगों को टीकाकरण केंद्र ले जाकर टीका लगवा चुकी हैं। उनका कहना है कि जल्द ही वार्ड के सभी लोगों को कोरोना का टीका दिलवाना है। शहर के अन्य वार्डों की तरह 34 नंबर को भी जल्द पूर्ण टीका लेने वाला वार्ड बनाना है।
बीवी वालिमा कहती हैं कि टीकाकरण अभियान में समाज के लोगों को आगे आना ही होगा। चाहे जनप्रतिनिधि हो या फिर समाजसेवी, लोगों को घरों से निकालकर टीकाकरण केंद्रों तक ले जाने में अपनी भूमिका निभानी होगी। जो पढ़े- लिखे लोग हैं, उन्होंने तो बिना कहे कोरोना का टीका ले लिया है। अब जो कम पढ़े-लिखे लोग हैं, उनके मन में टीका के प्रति भ्रम है। सच पूछिए तो डर है। उन्हें लग रहा है टीका लेने पर ना जाने क्या हो जाएगा। ऐसे लोग स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों का कहा जल्द मान लेंगे, ऐसा थोड़ा मुश्किल लग रहा है। हां, स्थानीय लोग अगर उन्हें समझाएं तो बात बन सकती है। अगर समाजसेवी और जनप्रतिनिधि मिलकर प्रयास करें तो ऐसे लोगों को टीकाकरण के लिए राजी किया जा सकता है। वह कहती हैं- इसलिए वह लोगों को समझाने के लिए आगे आकर पहल कर रही हैं। जिसका सकारात्मक असर हो रहा है। अब लोग काफी संख्या में कोरोना का टीका लेने के लिए सामने आ रहे हैं।
घर-घर जाकर लोगों को कर रहीं जागरूकः बीवी वालिमा कहती हैं कि वार्ड में जिस दिन कोरोना टीकाकरण को लेकर कैंप लगता है, उसके पहले वेलोग प्रचार-प्रसार में स्वास्थ्य विभाग के लोगों को सहयोग करते हैं। कैंप लगने के एक दिन पहले से ही लोगों को इसके बारे में बताना शुरू कर देते हैं। जरूरत पड़ने पर घर-घर जाकर भी लोगों को टीका लेने के लिए कहती हैं। इस दौरान अगर किसी के मन में कोई सवाल रहता है तो उसका भी जवाब उसे समझाने की कोशिश करती हैं। टीकाकरण कैंप से पहले इतनी प्रक्रियाओं को कर लेने से लाभुकों की संख्या में अच्छा-खासा इजाफा हो जाता है।
कोरोना को लेकर भी लोगों को कर रहीं सतर्कः बीवी वालिमा कहती हैं कि कोरोना की बीमारी का तो सरकारी अस्पतालों में जांच और इलाज की व्यवस्था तो है ही, लेकिन इसका सबसे बड़ा इलाज है सतर्कता। लोग अगर कोरोना की गाइडलाइन का पालन करेंगे तो इस बीमारी की चपेट में आने से बचे रहेंगे। इसलिए वह जब अपने क्षेत्र में रहती हैं तो लोगों से लगातार कोरोना की गाइडलाइन का पालन करने की अपील करती हैं। उनसे घर से बाहर निकलते वक् मास्क लगाने के लिए कहती हैं। सामाजिक दूरी का पालन करने हुए वार्ड में भीड़ लगाने से बचने के साथ-साथ एक-दूसरे के बीच दो गज की दूरी बनाकर रखने की सलाह देती हैं। साथ ही बाहर से घर आने पर 20 सेकेंड तक हाथ की धुलाई आवश्यक तौर पर करने के लिए समझाती भी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.