कोरोना संक्रमण के प्रति रहें सतर्क

बाजारों में लोग भीड़ लगाने से बचेंशारीरिक दूरी का हर हाल में करें पालन

बांका, 28 अगस्त

वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन की ओर से तमाम प्रयास किये जा रहें हैं। विभाग द्वारा व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है। जिले के कटोरिया प्रखंड में 15 दिन पहले कोरोना मरीजों की संख्या प्रतिदिन दर्जनों के हिसाब से बढ़ रही थी, लेकिन स्वास्थ्य विभाग के प्रयास से अब मामलों में काफी कमी आई है. पहले जहां प्रतिदिन 25 मरीज सामने आ रहे थे, वहां अब 1 दिन में दो से तीन मरीज ही आ रहे हैं. इसके बावजूद लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है. अभी यह खुशफहमी का वक्त नहीं आया है कि हमने कोरोना को मात दे दी है. इसलिए लोगों को सरकारी गाइडलाइन का पालन करते हुए अपनी तरफ से पूरी सतर्कता बरतनी चाहिए.कटोरिया रेफरल अस्पताल के प्रभारी डॉ विनोद कुमार कहते हैं कि पिछले 15 दिनों में रेफरल अस्पताल की टीम ने कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक किया है. इसका असर भी देखने को मिला, लेकिन लोगों से मेरी अपील है कि वह अभी भी सतर्क रहें. खासकर बाजारों में भीड़ नहीं बढ़ाएं. अक्सर देखा जा रहा है कि हाट में सब्जी खरीदने के लिए लोगों की भीड़ लग जा रही है. लोग शारीरिक दूरी का पालन नहीं कर रहे हैं जो ठीक नहीं है. बहुत जरूरी होने पर ही घरों से निकलें. बेवजह बाजारों में भीड़ नहीं बढ़ाएं. आशा और एएनएम कर रहीं जागरूक: डॉ विनोद कुमार ने कहा कि प्रखंड क्षेत्र के लोगों को आशा कार्यकर्ता और अस्पताल में तैनात एएनएम लगातार जागरूक कर रही हैं. ये लोग घर-घर जाकर लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक कर रही हैं. साथ ही लोगों से घर से बाहर निकलते वक्त मास्क पहनने की अपील कर रही हैं. बहुत जरूरत पड़ने पर ही लोगों से घरों से निकलने को कहा जा रहा है. साथ ही बाहरी सामान- जैसे सब्जी और फल को अच्छी तरह से गर्म पानी में धोकर उसका सेवन करने की लोगों से अपील कर रही हैं. शारीरिक दूरी का करें पालन: सरकार के तमाम प्रयास के बावजूद लोग बाजारों में भीड़ लगा रहे हैं. इसे लेकर लोगों से हर हाल में 6 मीटर की शारीरिक दूरी का पालने की अपील की जा रही है.  आशा और एएनएम लोगों को बता रही हैं कि जागरूकता से ही कोरोना को मात देना संभव है. इसलिए शारीरिक दूरी का पालन हर हाल में करें. सर्दी खांसी होने पर नजदीकी अस्पताल आएं: आशा और एएनएम घर-घर जाकर लोगों से सर्दी और खांसी या फिर कोरोना के कोई भी लक्षण दिखने पर तत्काल नजदीकी अस्पताल आने की अपील कर रही हैं. अभी बारिश का मौसम चल रहा है, इसलिए सर्दी और खांसी होना आम बात है. इसलिए लोगों से अस्पताल आकर इलाज करवाने की अपील की जा रही है. लोगों से खुद ही डॉक्टर नहीं बनने की अपील की जा रही है. साथ ही बारिश में भीगने से बचने की सलाह दी जा रही है.  इन बातों का रखें ख्याल 1. खांसी या छींक आने के दौरान अपने मुंह को टिशू पेपर से कवर करें और उसे तुरंत किसी बंद डस्टबिन में फेंक दें.  2. अगर आपको बुखार, खांसी और सांस में लेने में दिक्कत जैसी समस्या है तो तुरंत चिकित्सक से संपर्क करें। चिकित्सक से सलाह लेते वक्त मुंह को मास्क या कपड़े से अच्छे से ढकें.  3. अगर आप कोरोना वायरस का शिकार हैं तो अपना ध्यान रखने के साथ-साथ किसी भी व्यक्ति के नजदीक न जाएं. इससे बढ़ते खतरे को रोकने में आसानी होगी.  4. अपने हाथों से आंख, मुंह या नाक पर बार-बार न छूएँ. यदि ऐसा करते भी हैं तो साबुन या सेनिटाइजर से हाथों को अच्छी तरह साफ करें.  5. सार्वजनिक स्थलों पर भी स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें. राह चलते यूं ही सकड़ों पर न थूकें.

Leave a Reply

Your email address will not be published.