newsदेशशिक्षा

BPSC Success Story: बीपीएससी का इंटरव्यू देने के लिए कर्ज लेकर सिलवाए कोट-पैंट; YouTube से की पढ़ाई, राहुल ने टॉप 100 में ऐसे बनाई जगह

BPSC 67th Result 2023 बुलंद हौसलों से हार गया राहुल के जीवन का तूफान और बन गया अधिकारी। जी हां ये सच है। राहुल कुमार अभावों के बावजूद सफलता पाने में कामयाब (BPSC Success Story) हुए हैं। उन्होंने न सिर्फ टॉप 100 में जगह बनाई है बल्कि अपनी सफलता से गांव का नाम रौशन किया है। बिहार के औरंगाबाद के राहुल की सफलता की कहानी काफी संघर्षों भरी है।

HIGHLIGHTS

  1. मां अशिक्षित और पिता सैलून में काटते हैं बाल
  2. घर पर अध्ययन कर बीपीएसएसी में पाई सफलता

कौन हैं राहुल कुमार

सदर प्रखंड के कर्मा भगवान गांव निवासी रविंद्र ठाकुर के पुत्र राहुल कुमार बीपीएससी में सफलता पाकर कल्याण पदाधिकारी बने हैं।

राहुल ने यह सफलता चौथे प्रयास में हासिल की है। राहुल के पिता रविंद्र ने बताया कि वह पहले अपना सैलून चलाते थे। कोरोना के लॉकडाउन के बाद पूंजी नहीं होने के कारण कर्मा रोड में दूसरे के सैलून में काम करने लगे।

उन्होंने कहा कि गरीब होते हुए भी बेटे राहुल को हर समय पढ़ने के लिए प्रेरित किया। आज बेटा अधिकारी बना है तो पूरे परिवार को खुशी है।

सरकारी स्कूल में की पढ़ाई

वहीं, राहुल कुमार ने बताया कि उन्होंने शुरुआती शिक्षा के लिए सरकारी विद्यालय में पढ़ाई की है। मैट्रिक शहर के अनुग्रह इंटर कॉलेज (गेट स्कूल) से किया है।

सच्चिदानंद सिन्हा कॉलेज से इंटर विज्ञान और उसके बाद स्नातक भूगोल विषय से किया है। स्नातक के बाद गरीबी को मात देने के लिए अधिकारी बनने का सपना था और घर पर रहकर तैयारी की।

राहुल कुमार ने कैसे की तैयारी

राहुल कुमार ने बताया कि गरीब होने के कारण घर में पैसों की किल्लत थी। ऐसे में बीपीएससी की तैयारी के लिए कोई कोचिंग नहीं की।

उन्होंने बताया कि यू-ट्यूब पर वीडियो देख-देखकर से बीपीएससी की तैयारी की और चौथे प्रयास में सफलता पाई है। उन्होंने कहा कि मैं अब तक फेसबुक नहीं चलाता हूं।

राहुल ने सिर्फ यही नहीं अपने संघर्ष के पीछे की कहानी भी सुनाई। उन्होंने कहा कि इंटरव्यू देने के लिए जाना था, परंतु अच्छे कपड़े नहीं थे।

ऐसे में गांव के ही रहने वाले मधुसूदन ठाकुर से कर्ज लिया और अपने लिए कोट पैंद सिलवाए। इसके बाद इंटरव्यू देने गया और सफलता हासिल की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d