नितीश कुमार की चुनावी जनसभा सम्बोधन

कोरोना को लेकर थोड़ी परिस्थितियां अलग हैं। बिहार में उसके प्रसार के रोकथाम के लिए कठिन से कठिन कार्य हुए हैं, टेस्टिंग में तो हम अभी देश में भी आगे चल रहे हैं।हमने कहा न्याय के साथ विकास, हर इलाके का विकास, समाज के हर तबके का उत्थान, जो किनारे पर हैं,

कोरोना को लेकर थोड़ी परिस्थितियां अलग हैं। बिहार में उसके प्रसार के रोकथाम के लिए कठिन से कठिन कार्य हुए हैं, टेस्टिंग में तो हम अभी देश में भी आगे चल रहे हैं।हमने कहा न्याय के साथ विकास, हर इलाके का विकास, समाज के हर तबके का उत्थान, जो किनारे पर हैं, हाशिए पर हैं, कभी किसी की उपेक्षा नहीं की। हम तो काम करते हैं, करते रहेंगे। पति-पत्नी थे, पति जेल में गए पत्नी को बैठा दिया लेकिन महिलाओं के लिए कुछ किया? हमें मौका मिला तो हमने आरक्षण दिया। महिलाएं जनप्रतिनिधि बनीं। वर्ल्ड बैंक से कर्ज लेकर हम लोगों ने जीविका समूह का गठन किया और आज 10 लाख समूहों से 1 करोड़ 20 लाख से ज्यादा महिलाएं जुड़ गई हैं। गया के सकहरा में जब जीविका दीदियों से मिले तो मन हर्षित हो गया। हम उनसे कुछ कहना चाहते थे लेकिन उनके ज्ञान, उनके कार्यों को सुनकर कुछ बोल ही नहीं पाए। अच्छा लगा देखकर महिलाएं स्वाबलंबी हुई हैं। अल्पसंख्यक समुदाय की महिलाओं को विभिन्न योजनाओं के तहत सहायता दी गई, उन्हें रोजगार लगाने के लिए प्रेरित किया। परित्यक्ता महिलाओं को 25 हजार रुपये की सहायता राशि दी। आज हजारों महिलाएं इसका लाभ उठा चुकी हैं। हमने सबको पढ़ाने का काम, सबको आगे बढ़ाने का काम किया है। हमारा एक ही कर्तव्य है कि हम सबकी सेवा करें। हर घर नल का जल, हर घर शौचालय, हर गांव तक सड़क और पक्की नालियां-गलियां; ये सब काम तो करीब करीब हो चुका है, बचा हुआ जल्द से जल्द पूरा कर लिया जाएगा।  हमने तय कर लिया है, अबकी बार मौका दीजियेगा तो हर खेत तक सिंचाई का पानी पहुंचा देंगे। कहीं भी सूखा नहीं रहने देंगे। हर घर बिजली तो पहुंच गया, अब हर गांव में सोलर लाइट लगाएंगे। घर में लाइट बुझा दीजियेगा उसके बावजूद पूरा गांव रोशन रहेगा। कुछ लोगों को कुछ ज्ञान नहीं है दावा कर रहे हैं कि इनती नौकरियां देंगे। पैसा कहां से आएगा और ऐसा न हो कि अपना अलग ही काम धंधा चालू कर लें। कहने से कुछ होता है जी, करने का कुछ अनुभव हो, कुछ समझ हो।
हम तो सब लोगों की बात सुनकर उसके हिसाब से काम करते हैं समाज सुधार के लिए, शराबबंदी किये देखिए शराबबंदी ने कैसे लोगों का जीवन बदला है।
हमने UN में जल जीवन हरियाली योजना को लेकर संबोधन दिया और उन्हें समझाया कि बापू कहते थे ये धरती आपकी जरूरतें पूरी करने में सक्षम है आपके लालच को नहीं। हमने समाज सुधार के लिए काम किया, दहेज प्रथा, बाल विवाह के निषिद्ध के लिए काम किया। आप सभी से अनुरोध है कि पहले मतदान तब जलपान कीजियेगा। अपना एक-एक कीमती वोट हमारे उम्मीदवार को देकर उन्हें विजयी बनाईयेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Notice: Undefined index: amount in /home/u709339482/domains/mobilenews24.com/public_html/wp-content/plugins/addthis-follow/backend/AddThisFollowButtonsHeaderTool.php on line 82
%d bloggers like this: