कोविड-19 के मुश्किल दौर में भी अपने कर्तव्य पर डटी रही कामिनी कुमारी

  • परवत्ता बाल बिकास परियोजना कार्यालय में सीडीपीओ के पद पर हैं तैनात
  • मजबूत इच्छाशक्ति और साकारात्मक सोच के बदौलत मुश्किल दौर में पूरी की जिम्मेदारी

खगड़िया, 20 दिसंबर, 2020
कोविड-19 संक्रमण के दौर में भी तमाम चुनौतियों का सामना करते हुए जमीनी स्तर पर कार्य करने वाले लोगों की ना सिर्फ अहमियत बढ़ी है। बल्कि, समाजहित में उनके द्वारा किए गए कार्यों का साकारात्मक प्रभाव भी रहा है। कोविड-19 के मुश्किल दौर में जब पूरा समाज परेशानियाँ के दौर से गुजर रहा था। तब कुछ लोग ऐसे विपरीत और विषम परिस्थितियों में भी लोगों के सेवा देने में पीछे नहीं हटे। इतना ही नहीं लोगों को सेवा देने के साथ-साथ कोविड-19 से बचाव को लेकर जागरूक अपनी दोहरी जिम्मेदारी पूरी की। यह सबकुछ के पीछे मजबूत इच्छाशक्ति और साकारात्मक सोच का अहम योगदान रहा। परवत्ता बाल बिकास परियोजना कार्यालय की सीडीपीओ कामिनी कुमारी भी ऐसा ही लोगों में शुमार है। जिन्होंने कोविड-19 के मुश्किल भरे दौर में भी ना सिर्फ दोहरी जिम्मेदारियों को कुशलता से पूरा किया, बल्कि मजबूत इच्छाशक्ति और आत्मबल के बदौलत साकारात्मक सोच के साथ सरकार एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन का संदेश अपने कार्य क्षेत्र के लोगों तक पहुँचाने भी सफल रही। इतना ही नहीं कोविड-19 से बचाव के लिए विभाग में तैनात कर्मियों के अलावा आम लोगों को भी जागरूक करती रही। ताकि बढ़ते संक्रमण पर विराम लगे और लोग संक्रमण के दायरे से दूर रहें।

  • कर्मियों के साथ दोस्ताना व्यवहार अपनाकर मुश्किल दौर में भी पूरी की कार्य :-
    एनएनएम के जिला समन्वयक अम्बुज कुमार ने बताया कोविड-19 के मुश्किल भरे दौर में जब लोग घर से बाहर निकलना खुद को असुरक्षित समझते थे। तब परवत्ता सीडीपीओ ने अपने कर्मियों के साथ दोस्ताना व्यवहार अपनाकर ना सिर्फ विभागीय कार्यों को बखूबी अंजाम दिया। बल्कि मजबूत इच्छाशक्ति और आत्मबल के बदौलत साकारात्मक सोच के साथ कोविड-19 से बचाव के लिए कर्मियों के साथ-साथ आमलोगों को भी जागरूक किया और क्षेत्र भ्रमण के दौरान सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का संदेश समाज के अंतिम तक पहुँचाने में भी सफल रही। जिसके साकारात्मक प्रभाव भी रहा।
  • वक्त मुश्किलों से जरूर भरा था पर जिम्मेदारी भी थी बड़ी :
    सीडीपीओ कामिनी कुमारी ने बताया कोविड-19 का शुरूआती वक्त निश्चित ही मुश्किलों से भरा था। किन्तु, मेरे उपर उससे बड़ी जिम्मेदारी थी। जिसके कारण मैं नया सवेरा की उम्मीद के साथ कोविड-19 से बचाव के लिए लोगों को जागरूक करने में जुट गई। शुरूआती दौर में परेशानी हुई। किन्तु, बाद में लोगों का भी सहयोग मिलने लगा। इस दौरान मैं लोगों को बचाव के लिए सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन की जानकारी दी और गाइडलाइन का पालन करने के लिए प्रेरित भी की। जिसका साकारात्मक प्रभाव भी रहा और लोगों के सहयोग एवं खुद का साकारात्मक आत्मबल और दृड़ निष्ठा के बल पर मैं दोहरी जिम्मेदारी पूरी करने में सफल रही।
  • मास्क का उपयोग एवं शारीरिक दूरी पालन सुनिश्चित करने पर दिया बल :
    लोगों को कोविड-19 से बचाव के लिए जागरूक करने के दौरान सीडीपीओ कामिनी कुमारी ने इस बात पर बल दिया कि कम से कम समाज के प्रत्येक व्यक्ति निश्चित रूप से मास्क का उपयोग एवं शारीरिक दूरी पालन करें। क्योंकि, कोविड-19 से बचाव के लिए सबसे बेहतर और आसान उपाय यही है। जो समाज के हर तबके लोग करने में भी सक्षम हैं। इसके अलाव उन्होंने लोगों को साफ-सफाई, खान-पान, लक्षण दिखते ही कोविड-19 जाँच कराने एवं स्वास्थ्य कर्मियों का सहयोग करने समेत सरकार द्वारा जारी अन्य गाइडलाइन को भी पालन करने के लिए जागरूक की।
  • कर्मियों का भी मिला साकारात्मक सहयोग :-
    वहीं, सीडीपीओ कामिनी कुमारी ने बताया कि इस दौरान कर्मियों का भी साकारात्मक सहयोग मिला। हर कर्मी हर स्थिति में साथ खड़ा रहते थे। इसी के बदौलत मैं दोहरी जिम्मेदारी पूरी करने में सफल रही।
  • इन मानकों का करें पालन, कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर :-
  • साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें।
  • भीड़-भाड़ वाले जगहों से परहेज करें।
  • अनावश्यक यात्रा से परहेज करें।
  • मास्क और सैनिटाइजर का नियमित रूप से।
  • घर से निकलने पर निश्चित रूप से मास्क का उपयोग करें।
  • यात्रा के दौरान आवश्यक दूरी का ख्याल और सेनेटाइजर पास रखें।
  • गर्म व ताजा खाना का सेवन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *