सदर अस्पताल में मरीजों के इलाज के लिए है बेहतर व्यवस्था

सामान्य और कोरोना के मरीजों का अलग-अलग चल रहा इलाजअस्पताल के कर्मी इलाज के दौरान बरत रहे हैं पूरी सावधानी

बांका, 4 अगस्त

कोरोना काल में भी सदर अस्पताल में मरीजों के इलाज के लिए बेहतर व्यवस्था है। यहां पर आने वाले मरीजों के इलाज में डॉक्टर लगे रहते हैं। कोरोना मरीजों की जांच व इलाज की व्यवस्था लकड़ीकोला स्थित कोविड केयर सेंटर में की गयी है तथा गंभीर कोरोना मरीजों के लिए सदर अस्पताल में 50 बेड का आईसीयू चल रहा है।सिविल सर्जन सुधीर महतो ने बताया, सदर अस्पताल में आने वाले हर तरह के मरीजों के लिए बेहतर इलाज की व्यवस्था मुहैया कराई जा रही है। यहां पर तैनात डॉक्टर हमेशा मरीजों के इलाज के लिए तैनात रहते हैं। मरीजों को इलाज कराने में किसी तरह की परेशानी नहीं हो, इसका पूरा ध्यान अस्पताल प्रबंधन रख रहा है। कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए अलग व्यवस्था की गई है। वहीं सामान्य मरीजों के लिए अलग से व्यवस्था है। कोरोना का संक्रमण नहीं फैले, इसका विशेष ख्याल रखा जा रहा है। अस्पताल के कर्मी पूरी सावधानी बरतते हुए मरीजों का इलाज कर रहे हैं।
शारीरिक दूरी का रखा जा रहा ख्याल: 
सदर अस्पताल में आने वाले मरीजों व उनके परिजनों से शारीरिक दूरी का पालन करवाया जा रहा है। दो लोगों के बीच दो गज की दूरी हो, इसका ख्याल रखा जा रहा है। बाहर से आने वाले मरीजों को देखने से पहले विशेष सतर्कता बरती जा रही है। यहां आने वाले मरीजों को मास्क और सेनिटाइजर भी उपलब्ध करवाया जा रहा है। डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मी पूरी तरह मास्क और ग्लब्स पहनकर मरीजों का इलाज कर रहे हैं।
सभी लोगों की हो रही थर्मल स्कैनिंग: 
अस्पताल में आने वाले सभी व्यक्ति, चाहे मरीज हो या फिर उसके परिजन उसकी थर्मल स्कैनिंग की जा रही है। शरीर के तापमान को नापने के बाद  ही इलाज किया जा रहा है। इस दौरान अगर कोई संदिग्ध मरीज दिखता है तो उसे सैंपलिंग के लिए भेज दिया जाता है। स्वास्थ्यकर्मी पूरी मुस्तैदी से अपने मोर्चे पर डटे हुए हैं। 
गर्भवती महिलाओं व शिशुओं को लेकर बरती जा रही सतर्कता: सिविल सर्जन ने बताया कि अस्पताल आने वाली गर्भवती महिलाओं के इलाज को लेकर विशेष सतर्कता बरती जा रही है। उनके इलाज को लेकर सरकार की गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है। अस्पताल की नर्स व एएनएम पूरी तरह से सुरक्षित होकर गर्भवती महिलाओं की जांच करते हैं। डॉक्टर भी सावधानीपूर्वक इनका इलाज करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *