सर्दी, फ्लू और कोरोना के अंतर को समझें

  1. 4 डिग्री से अधिक बुखार होने पर ही कोरोना

बांका, 15 अक्टूबर

सर्दी, फ्लू और कोरोना तीनों ही बीमारियों में बुखार होना आम बात है. लेकिन अभी कोरोना काल चल रहा है, इसलिए लोग साधारण बुखार को भी कोरोना मान लेते हैं. जबकि ऐसा नहीं है. सर्दी और फ्लू में 100 डिग्री से कम बुखार भी रह सकता है, लेकिन कोरोना संक्रमण में नहीं.
शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉ सुनील कुमार चौधरी कहते हैं कि 100.4 डिग्री से अधिक बुखार होने पर ही कोरोना संक्रमण का खतरा माना जा सकता है. हालांकि अब तो बिना लक्षण वाले भी कोरोना संक्रमण के मामले सामने आ रहे हैं, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि आप को हल्की बुखार हो या फिर सर्दी, आप यह मान बैठे कि आपको कोरोना संक्रमण हो गया है.

डॉक्टर से परामर्श कर लें उचित सलाह: डॉक्टर चौधरी कहते हैं कि अभी मौसम में बदलाव हो रहा है. इस वजह से कई लोग वायरल की चपेट में आ रहे हैं. सर्दी-खांसी भी हो रही है. ऐसे में खुद से यह निर्णय नहीं लें कि आपको कोरोना हो गया है या फिर सामान्य वायरल बुखार, इसके लिए आप डॉक्टर के पास जाएं. वह आपकी जांच कर आपको उचित सलाह देंगे. बीमारी के अनुसार दवा देंगे और परहेज करने को बताएंगे. उसका पालन करें. इससे आपका स्वास्थ्य जल्द बेहतर हो जाएगा.

छींक आना कोरोना के लक्षण नहीं: डॉक्टर चौधरी कहते हैं कि सिर्फ छींक आना कोरोना का लक्षण नहीं माना जाता है. साथ ही खांसी में बलगम निकले तो यह भी कोरोना के लक्षण में नहीं गिना जाता है. हां, अगर सूखी खांसी हो रही हो और उसके साथ बुखार भी है तो चिंता की बात जरूर है. इसलिए साधारण खांसी और सर्दी होने पर डॉक्टर की सलाह लें. वह जो दवा बताए, उसी का सेवन करें.

सांस लेने में तकलीफ होना कोरोना का सबसे मजबूत लक्षण: डॉक्टर चौधरी कहते हैं कि सांस लेने में अगर किसी व्यक्ति को तकलीफ हो रही है. उसका दम फूल रहा है तो यह कोरोना संक्रमण हो सकता है. इसे कोरोना का सबसे मजबूत लक्षण माना जाता है. हालांकि अब तो कोरोना के लक्षण का दायरा काफी बढ़ गया है और कई लोग बिना लक्षण वाले कोरोना के शिकार बने हैं. लेकिन अगर सांस लेने में तकलीफ हो रही है तो तत्काल डॉक्टर के पास जाए और कोरोना जांच कराएं.

कोविड अनुरूप आचरण का हर हाल में करें पालन: अगर आपको सर्दी हो या फिर फ्लू या कोई अन्य बीमारी कोरोना के लिए सरकार की गाइडलाइन का पालन अवश्य करें. कोविड अनुरूप आचरण का पालन कर ही संक्रमण से बचा जा सकता है। इसके लिए लोगों से दो गज की दूरी बना कर रहें. किसी के साथ बैठते वक्त मास्क अवश्य लगाएं और संभव हो तो हाथ में ग्लव्स भी पहने या समय-समय पर हाथों की सफाई करते रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Notice: Undefined index: amount in /home/u709339482/domains/mobilenews24.com/public_html/wp-content/plugins/addthis-follow/backend/AddThisFollowButtonsHeaderTool.php on line 82
%d bloggers like this: