कोरोना गाइडलाइन का पालन करने के साथ ही वैक्सीनेशन के लिए लोगों को कर रहे हैं जागरूक

  • जिले में 06 मई से शुरू हुए लॉक डॉउन के दौरान बिल्कुल ठप हो गई थी ब्यापरिक गतिविधियां

मुंगेर, 14 जून-

जिले के सभी व्यवसाई कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए खुद वैक्सीन लेने के साथ ही अपने परिवार के सभी सदस्यों को वैक्सीन लगवा रहे हैं । साथ हीं अपने आसपास के लोगों को भी कोरोना संक्रमण से मुक्ति दिलाने के लिए वैक्सीन लगवा रहे हैं । साथ ही ये लोग अपने घर के आसपास रहने वाले मुहल्ले वासी एवं दुकान के आसपास दुकान चलाने वाले लोगों को पूरी तरह से सुरक्षित और प्रभावी होने की जानकारी देते हुए टीकाकरण के लिए प्रेरित कर रहे हैं। जिले में जिला प्रशासन मुंगेर के आदेश से पिछले हफ्ते 09 जून से लॉक डॉउन को समाप्त कर अनलॉक 1 की शुरुआत की गई है। इसके बाद से जिले में व्यापारिक गतिविधियों में तेजी आई है और ब्यापारी वर्ग ने राहत की सांस ली है। अभी भी कुछ पाबंदियों के साथ ही जिला मुख्यालय मुंगेर सहित जिले भर में दुकानें और अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठान खुल पा रही हैं । अभी भी दैनिक इस्तेमाल होने वाली सामानों की बिक्री करने वाले दुकानों को छोड़कर अन्य दुकानें एक दिन के बाद दूसरे दिन ही खुल पा रही हैं ।
दुकानदार ग्राहकों को वैक्सीन लगवाने को कर रहे प्रेरित –
मुंगेर के लल्लू पोखर के पास पान और स्नैक्स की दुकान चलाने वाले 40 वर्षीय रंजीत मंडल ने कहा कि लॉक डॉउन के दौरान दुकान के बंद होने के बाद आजीविका को ले काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। अब बाजार के अनलॉक होने के बाद फिर से दुकान चला रहा हूँ। मैंने खुद और अपने पूरे परिवार के सदस्यों को कोरोना की वैक्सीन लगवा ली है। इसके साथ ही मैं अपने दुकान पर आने वाले सभी लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए कोरोना की वैक्सीन लगवाने के लिए कहता हूँ।
दुकान में बिना मास्क के किसी की भी इंट्री नहीं है-
मुंगेर के घोषी टोला में एयरटेल कंपनी का टीटीएच शॉप चलाने वाले 33 वर्षीय कुंदन कुमार ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण से अपने साथ अपने दुकान पर आने वाले सभी लोगों के लिए मैने मास्क अनिवार्य कर दिया है। मेरे दुकान में बिना मास्क के किसी की भी इंट्री नहीं है। इसके साथ ही सभी आगंतुकों के लिए मैंने हैंड सैनिटाइजर की व्यवस्था रखी है। बाहर से आने वाले सभी लोग पहले हैंड सैनिटाइजर से हाथों को सैनिटाइज करने के बाद ही अंदर आ सकते हैं।
दुकान के बाहर गोल- गोल घेरा बनवा दिया है-
मुंगेर के कासिम बाजार में अपना व्यवसाय करने वाले 32 वर्षीय अभय कुमार ने बताया कि मैंने अपने दुकान में आने वाले गाहकों के लिए सोशल डिस्टेनसिंग के नियम के तहत दुकान के बाहर गोल- गोल घेरा बनवा दिया है ताकि सामान लेने के दौरान गाहकों के बीच कम से कम दो गज या छह फीट की दूरी कायम रह सके। इसके साथ ही मैने सभी लोगों के लिए मास्क अनिवार्य कर दिया है। मैं खुद भी मास्क का नियमित इस्तेमाल करता हूँ। इसके साथ ही मैंने सभी लोगों के लिए अपने दुकान पर हैंड सैनिटाइजर की भी ब्यवस्था कर रखी है ताकि किसी भी स्तर पर कोरोना वायरस के संक्रमण को रोका जा सके।
टीकाकरण के लिए जागरूक करने का काम करते हैं
बेकापुर मुंगेर में बिहारी आटा मिल के संचालक कुंज बिहारी ने बताया कि कोरोना गाइड लाइन का पूरी तरह से पालन करते हुए अपना आटा चक्की मिल चला रहा हूँ। मैंने अपने दुकान पर आने वाले सभी ग्राहकों के लिए मास्क अनिवार्य कर दिया है। इसके साथ ही गाहकों के बीच शारीरिक दूरी के लिए गोल- गोल घेरा बना दिया हूँ। इसके साथ ही यहां आने वाले सभी लोगों को कोरोना वैक्सीन के पूरी तरीके से सुरक्षित होने के साथ ही सौ फीसदी तक प्रभावी होने की जानकारी देकर टीकाकरण के लिए जागरूक करने का काम करता हूँ।
इस समय लोगों को और भी सतर्क रहने कि आवश्यकता है-
जिला स्वास्थ्य समिति के जिला कार्यक्रम समन्वयक विकास कुमार ने बताया कि लॉक डॉउन के समाप्त होने के बाद जिले में व्यापारिक गतिविधियां बढ़ी हैं । बाजारों में खरीदारी के लिए भारी संख्या में लोग जुट रहे है। इस समय लोगों को और भी सतर्क रहने कि आवश्यकता है । क्योंकि अभी बरती गई थोड़ी से लापरवाही सभी लोगों के लिए परेशानी का सबब बन सकती है। जिले में अभी कोरोना वायरस से संक्रमण का मामला कम हुआ है खत्म नहीं हुआ है| इसलिए सभी लोग पूरी तरीके से कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए अपने-अपने काम करें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: