कोरोना संक्रमण से बचाव को सभी  अनिवार्य रूप से लें वैक्सीन की दूसरी डोज : डीआईओ 

– रोग प्रतिरोधक क्षमता को अधिक समय तक कारगर बनाये रखने के लिए दूसरा डोज आवश्यक

– पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान के दौरान छुटे हुए 15 से 18 वर्ष के किशोरों का होगा सर्वे , अगले दिन कराया जाएगा टीकाकरण 

मुंगेर, 25 फरवरी-

जिला भर में कोरोना संक्रमण से रोकथाम के लिए कोविड- 19 का टीकाकरण अभियान जारी है। कोविड-19 टीकाकरण अभियान अपने विभिन्न चरणों से गुजरता हुआ अब 15 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी लोगों को टीका लगाने के चरण तक पहुँच चुका है। सरकार द्वारा मैट्रिक एवं इण्टरमीडिएट की परीक्षा में भाग ले रहे परीक्षार्थियों को तीसरी लहर के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कोवैक्सीन से आच्छादित किया जा चुका है।

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. राजेश कुमार रौशन ने बताया कि जिला भर में आगामी 27 फरवरी से शुरू हो रहे पल्स पोलियो टीकाकरण अभियान के दौरान 15 से 18 आयुवर्ग के छूटे हुए किशोर-किशोरियों का सर्वे किया जाएगा । उसके अगले दिन कोरोना टीकाकरण करने वाली वैक्सीनेशन टीम के द्वारा उन सभी किशोर-किशोरियों का टीकाकरण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिला भर में आम सभा आयोजित कर पंचायत स्तर पर आयुवर्ग के अनुसार लाभुकों को जागरूक एवं प्रोत्साहित करते हुए उनको कोरोना वैक्सीन की  दूसरी डोज़ एवं प्रीकाॅशन डोज दी जा रही है। ऐसे में लोगों का कोविड-19 टीकाकरण के प्रति उदासीनता एवं कोविड अनुरूप व्यवहारों को अपनाने में कोताही किया जाना खतरनाक साबित हो सकता है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता को अधिक समय तक कारगर बनाये रखने के लिए दूसरा डोज आवश्यक –
उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए कोविड- 19 वैक्सीन की दूसरी खुराक लेना बहुत जरूरी है। उन्होंने बताया कोरोना वैक्सीन का निर्माण शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता के विकास के लिए किया गया है। कोविड- 19 वैक्सीन की पहली डोज लेने से व्यक्ति के शरीर में विकसित रोग प्रतिरोधक क्षमता को और अधिक प्रभावी एवं अधिक समय तक कारगर बनाये रखने के लिए कोविड- 19 वैक्सीन की दूसरी खुराक लेना बेहद जरूरी है। दूसरा डोज लेने से आपके शरीर में विकसित रोग प्रतिरोधक क्षमता को अतिरिक्त मजबूती तो प्रदान होती ही है साथ ही यह आपमें विकसित रोग प्रतिरोधक क्षमता को अधिक समय तक प्रभावी बनाये रखने में अहम भूमिका निभाती है। 

तीसरी लहर को कम प्रभावी करने में कोविड- 19 टीकाकरण की अहम भूमिका –
उन्होंने बताया कि वैश्विक महामारी कोरोना की तीसरी लहर के प्रभाव एवं प्रसार को कम करने में सरकार द्वारा अभियान चलाकर अधिक से अधिक लोगों को कोविड- 19 टीका से आच्छादित किया जाना एक महत्वपूर्ण एवं सफल रणनीति साबित हुई। उन्होंने बताया तीसरी लहर आने की आशंकाओं को देखते हुए सरकार ने 15 से 18 वर्ष के किशोर एवं किशोरियों के लिए कोवैक्सीन का टीका दिया जाना सुनिश्चित किया । सरकार द्वारा मैट्रिक-इंटर की परीक्षाओं से पूर्व कोरोना संक्रमण से किशोरों को बचाये रखने में यह अभियान कारगर हथियार साबित हुआ।

दूसरे डोज के प्रति न हो उदासीन-
उन्होंने बताया कि कोरोना के नये मामले नहीं मिलने से लोगों में कोविड- 19 वैक्सीन की दूसरी एवं प्रीकाॅशन डोज लेने में उदासीनता देखी जा रही है जो कभी भी खतरनाक साबित हो सकती है। इसके साथ ही लोगों द्वारा कोरोना उपयुक्त व्यवहार को अपनाये रखने में भी कोताही बरती जा रही है जो कोरोना वायरस को न्यौता देने के समान है। लोगों से समय पर कोरोना वैक्सीन की अपनी दूसरी डोज लेने की अपील करते हुए उन्होंने कहा कि जिनका भी  दूसरा डोज लेने का समय हो चुका है वो सभी लोग अनिवार्य रूप से कोविड- 19 वैक्सीन की दूसरी खुराक लें। साथ ही जिन्होनें अभी तक वैक्सीन की प्रीकॉशन डोज़ नहीं ली है वो भी अपने नजदीकी वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर प्रीकॉशन डोज़ ले लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: