खगड़िया जिले में 2000 से अधिक लोगों की प्रतिदिन हो रही है कोरोना जाँच

  • तेजी से मरीजों के स्वास्थ्य में हो रहा है सुधार, संक्रमित की संख्या में आ रही है गिरावट
  • जिले में 34 जगहों पर हो रहा है 45+ आयु वर्ग के लोगों का वैक्सीनेशन

खगड़िया, 01 जून, 2021

जिले में कोविड-19 संक्रमण वायरस के खिलाफ लड़ाई के लिए व्यापक पैमाने पर इंतजाम है और इस घातक महामारी से लोगों को स्थाई निजात दिलाने के लिए स्थानीय जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह अलर्ट मोड में है। संक्रमण की गति को बढ़ावा नहीं मिले, इस उद्देश्य से जिले में कोविड-19 वैक्सीनेशन के साथ जाँच की रफ्तार भी तेज कर दी गई। ताकि जल्द से जल्द से अधिक से अधिक लोगों का जाँच हो सके और संक्रमण की रफ्तार को बढ़ावा नहीं मिले। इसके अलावा वैक्सीनेशन एवं जाँच के लिए गठित टास्क फोर्स की टीम द्वारा जागरूकता अभियान चलाकर लोगों को ना सिर्फ जागरूक किया जा रहा है। बल्कि, वैक्सीनेशन एवं जाँच कराने के लिए प्रेरित भी किया जा रहा है। जिसका लोगों पर साकारात्मक प्रभाव भी पड़ने लगा है और लोग जाँच के साथ वैक्सीनेशन में रूचि भी दिखाने लगे हैं। हालाँकि, स्वास्थ्य विभाग का मानना है कि अभी और जागरूकता की जरूरी है। क्योंकि, भ्रांतियों को दूर करने के लिए जागरूकता जरूरी है।

2000 से अधिक लोगों की प्रतिदिन हो रही है जाँच :
जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ देवनंदन पासवान ने बताया, संक्रमण को बढ़ावा नहीं मिले, इसके लिए जाँच का दायरा बढ़ाना की बेहतर उपाय है। इसके मद्देनजर जिले में चल रही जाँच अभियान की रफ्तार तेज कर दी गई है और प्रत्येक दिन 2000 से अधिक लोगों की जाँच हो रही है। इसके लिए जिले में जहाँ स्वास्थ्य टीम गाँव-गाँव पहुँच रही है। वहीं, जिले के सभी स्वास्थ्य स्थानों में जाँच के लिए व्यापक व्यवस्था की गई है। ताकि अधिकाधिक लोगों का जाँच हो सके और जाँच अभियान की रफ्तार तेज हो सके। वहीं, उन्होंने बताया, जाँच में संक्रमितों की संख्या काफी काम पाई जा रही है। जो सबसे बड़ी राहत की खबर है।

34 जगहों पर हो रहा है 45+ आयु वर्ग के लोगों का वैक्सीनेशन :

जिले में कुल 34 जगहों पर 45+ आयु वर्ग के लोगों का वैक्सीनेशन हो रहा है और वैक्सीन लेने के पूर्व जाँच भी की जा रही है। ताकि लोगों को सुविधाजनक तरीके से वैक्सीन दी जा सके। इस दौरान वैक्सीन लेने वाले लाभार्थियों को वैक्सीन लेने के बाद भी गाइडलाइन का पालन जारी रखने की भी जानकारी दी जा रही है। जैसे, मास्क का उपयोग, शारीरिक दूरी पालन समेत अन्य एहतियात जारी रखने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। ताकि संक्रमण का खतरा उत्पन्न नहीं हो।

तेजी से मरीजों के स्वास्थ्य में हो रहा है सुधार, संक्रमित की संख्या में आ रही है गिरावट :

संक्रमित मरीजों के स्वास्थ्य में भी तेजी से सुधार हो रहा है। जिसका साकारात्मक परिणाम यह है कि मरीजों की संख्या में लगातार गिरावट आ रही है, जो बेहतर स्वास्थ्य सुविधा और चिकित्सा परामर्श के पालन का परिणाम है। अस्पतालों से लेकर होम क्वारेंटाइन में रहने वाले मरीजों को बेहतर इलाज हो रहा है। जिले में वर्तमान संक्रमितों की संख्या मात्र 281 है।

जिले में संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए 496 बेड उपलब्ध है। जिसमें 100 ऑक्सीजनयुक्त और 08 आईसीयू बेड भी है। ताकि मरीजों को इलाज के दौरान किसी प्रकार की परेशानी महसूस नहीं हो।

  • हर दिन शाम में की जा रही है ब्रीफिंग :
    वैक्सीनेशन एवं जाँच अभियान की रफ्तार को गति देने के लिए प्रत्येक दिन शाम में जिले के सभी पीएचसी में ब्रीफिंग की जा रही है। जिसमें दिनभर में हुए वैक्सीनेशन एवं जाँच की समीक्षा की जाती है और रिपोर्ट जिला मुख्यालय को उपलब्ध करायी जाती है। जिसके बाद निर्देशानुसार आगे का प्लान तैयार की जाती है। ताकि हर हाल में जल्द से जल्द शत-प्रतिशत लोगों का वैक्सीनेशन एवं जाँच हो सके।
  • इन मानकों का करें पालन, कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर रहें :
  • मास्क का उपयोग और शारीरिक दूरी का पालन जारी रखें।
  • विटामिन-सी युक्त पदार्थों का अधिक सेवन करें।
  • अनावश्यक घरों से बाहर नहीं निकलें और भीड़-भाड़ वाले जगहों से परहेज करें।
  • साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें और सेनेटाइजर का उपयोग करें।
  • लक्षण महसूस होने पर कोविड-19 जाँच कराएं।
  • साबुन या अल्कोहल युक्त पदार्थों से हाथ धोएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: