खगड़िया जिले में 12 से 14 आयु वर्ग के बच्चों का कोविड वैक्सीनेशन शिविर शुरू, लगाया गया सुरक्षा का टीका 

– राष्ट्रीय टीकाकरण दिवस • जिलाधिकारी ने उदघाटन  वैक्सीनेशन अभियान का किया शुभारंभ 
– जिले के सभी प्रखंडों में चयनित और चिह्नित जगहों पर शिविर का हुआ आयोजन 

खगड़िया, 16 मार्च-

राष्ट्रीय टीकाकरण दिवस के अवसर पर बुधवार से जिले में 12 से 14 आयु वर्ग के किशोर-किशोरियों के कोविड वैक्सीनेशन अभियान का आगाज हो गया। इस अभियान की शुरुआत जिलाधिकारी डाॅ आलोक रंजन घोष एवं सिविल सर्जन डाॅ अमरनाथ झा ने खगड़िया सदर पीएचसी अंतर्गत मध्य विद्यालय रामगंज (संसारपुर) में आयोजित वैक्सीनेशन शिविर का  उदघाटन कर किया। इसके बाद जिले के सभी प्रखंडों में पूर्व से चयनित और चिह्नित जगहों पर शिविर का संचालन शुरू हुआ और सुविधाजनक तरीके से उक्त आयु वर्ग के दायरे में आने वाले सभी बच्चों को सुरक्षा का टीका लगाया गया। इस दौरान जिले के सभी शिविर स्थलों पर लाभार्थियों की अच्छी-खासी भीड़ देखी गई । गाइडलाइन का पालन के साथ सभी लाभार्थियों ने उत्साह के साथ सुरक्षा का टीका लगवाया। टीका लेने के बाद टीकाकृत लाभार्थियों ने कहा, देर से ही सही, पर व्यवस्थित पहल के लिए सरकार का कदम सराहनीय है। सुविधाजनक तरीके से वैक्सीन देने के लिए स्वास्थ्य विभाग धन्यवाद का पात्र है। इस मौके पर जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ देवनंदन पासवान, जिला शिक्षा पदाधिकारी कृष्ण कुमार, डीपीएम (हेल्थ) पवन कुमार, खगड़िया सदर पीएचसी प्रभारी डॉ राजीव रंजन, केयर इंडिया के डीटीएल अभिनंदन आनंद, प्रखंड प्रबंधक रेणुका कुमारी समेत विद्यालय के शिक्षक-शिक्षिका सहित यूनिसेफ और केयर इंडिया के अन्य प्रतिनिधि मौजूद थे। 

– कोविड से सुरक्षा के लिए वैक्सीन सबसे बेहतर और कारगर उपाय, बेचिहक कराएं वैक्सीनेशन : 
जिलाधिकारी डाॅ आलोक रंजन घोष ने कहा, सामुदायिक स्तर पर लोगों को इस घातक महामारी से सुरक्षित करने के लिए जिले में लगातार आवश्यक प्रयास जारी है । हर हाल में इसे सुनिश्चित करने को लेकर हर जरूरी पहल भी की जा रही है। इसी कड़ी में अब 12 से 14 आयु वर्ग के दायरे में आने वाले बच्चों का भी वैक्सीनेशन शुरू कर दिया गया है। जिले के इन आयु वर्ग के तमाम  बच्चों से अपील करता हूँ कि इस घातक महामारी से बचाव के लिए निश्चित रूप से वैक्सीनेशन कराएं और अपने अन्य साथियों को भी प्रेरित करें। वैक्सीन ना सिर्फ पूर्णतः सुरक्षित बल्कि, इस महामारी से बचाव के लिए काफी प्रभावी है। यही नहीं, कोविड से बचाव के लिए सबसे बेहतर और कारगर उपाय भी है। इससे ना सिर्फ  एक व्यक्ति विशेष सुरक्षित होगा बल्कि, पूरा समुदाय सुरक्षित होगा। सभी लोग खुद को सुरक्षित महसूस करेंगे। 

– शिविर स्थलों पर पर्याप्त सुविधा उपलब्ध कराई गई  : 
सिविल सर्जन डाॅ अमरनाथ झा ने बताया जिले के सभी प्रखंडों में चयनित एवं चिह्नित स्थलों पर पर्याप्त व्यवस्था उपलब्ध कराई गई थी। ताकि किशोर-किशोरियों को वैक्सीनेशन कराने में किसी प्रकार की कोई असुविधा नहीं हो और व्यवस्थित तरीके से शिविर का संचालन सुनिश्चित हो सके। इसके लिए जहाँ सभी शिविर स्थलों पर पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन वाइल की उपलब्धता और कर्मियों की तैनाती की गई थी। वहीं, ऑन द स्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा भी सुनिश्चित की गई थी। ताकि सभी लाभार्थी सुविधाजनक तरीके से वैक्सीन ले सकें और अधिकाधिक लाभार्थियों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित हो सके।

– 28 दिन के अंतराल पर दी जाएगी दूसरी डोज : 
जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ देवनंदन पासवान ने बताया, निर्देशानुसार फिलहाल 12 से 14 आयु वर्ग सभी लाभार्थियों को सिर्फ कोर्बेवैक्स (सार्स-कोव-2) का टीका लगाया गया। वहीं, उन्होंने बताया जिन लाभार्थियों ने आज वैक्सीनेशन कराया, उन्हें नियमानुसार 28 दिन की समयावधि पूरी करने के बाद पुनः दूसरी डोज की भी वैक्सीन दी जाएगी। ताकि हर हाल में निर्धारित समय पर युवाओं का वैक्सीनेशन सुनिश्चित हो सके और इस महामारी से सामुदायिक स्तर पर लोग खुद को सुरक्षित महसूस कर सकें। 

– इन मानकों का करें पालन और कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर : 
– मास्क का उपयोग और शारीरिक दूरी का पालन जारी रखें।
– नियमित तौर पर लगातार साबुन या अल्कोहल युक्त पदार्थों से अच्छी तरह हाथ धोएं।
– बारी आने पर निश्चित रूप से वैक्सीनेशन कराएं और दूसरों को भी प्रेरित करें।
– लक्षण महसूस होने पर कोविड जाँच कराएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: