गर्भवती महिलाओं का आज जिला के सभी स्वास्थ्य संस्थानों में एएनसी जांच के साथ होगा टीकाकरण

  • राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक ने सभी जिलों के जिलाधिकारी और सिविल सर्जन को जारी की चिट्ठी
  • प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत सभी गर्भवती महिलाओं की होती है एएनसी जांच

मुंगेर , 12 नवंबर। जिला में अभी तक कोरोना टीकाकरण से वंचित गर्भवती महिलाओं को कोरोना संक्रमण से सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से शनिवार को जिला के सभी स्वास्थ्य संस्थानों में एएनसी संबंधित जांच के साथ-साथ कोरोना का टीका भी लगाया जाएगा। इस संबंध में राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय सिंह ने सभी जिलों के जिलाधिकारी और सिविल सर्जन को चिट्ठी जारी की है। मालूम हो कि प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत सभी सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों में गर्भवती महिलाओ की एएनसी संबंधित जांच की जाती है। इसी क्रम में शनिवार को जिला के सभी स्वास्थ्य संस्थानों में गर्भवती महिलाओं को कोरोना संक्रमण से सुरक्षा प्रदान करने के उद्देश्य से एएनसी जांच के साथ-साथ कोरोना टीकाकरण भी कराया जा रहा है।

मुंगेर के सिविल सर्जन डॉ. हरेन्द्र आलोक ने बताया कि जिला में कोविड 19 के संक्रमण से बचाव के लिए नेशनल टेकनिकल एडवाइजरी ग्रुप ऑफ इम्यूनजेशन (एनटीएजीआई) की अनुशंसा पर टीकाकरण से वंचित गर्भवती महिलाओं की एएनसी संबंधित जांच के साथ-साथ कोरोना टीकाकरण का भी आदेश प्राप्त हुआ है।
उन्होंने बताया कि शनिवार को (पीएमएसएमए) योजनांतर्गत आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और आंगनबाड़ी सेविका या अन्य अन्य सामाजिक उत्प्रेरक घर-घर जाकर टीकाकरण से वंचित अधिक से अधिक गर्भवती महिलाओं को टीकाकरण के लिए उत्प्रेरित कर सुबह 10 बजे तक अपने संबंधित स्वास्थ्य केंद्र लाएगी और उनकी एएनएसी जांच के साथ-साथ कोरोना टीकाकरण सुनिश्चित करवाएगी। प्रखण्ड स्तर पर इसकी पूरी जिम्मेवारी प्रखण्ड स्वास्थ्य प्रबंधक (बीएचएम) और प्रखण्ड सामुदायिक उत्प्रेरक (बीसीएम) की होगी। सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर गर्भवती महिलाओं की सुविधा के लिए सभी आवश्यक सेवाएं जैसे बैठने की व्यवस्था के साथ-साथ आराम करने के लिए बेड, पीने के लिए स्वच्छ पेयजल, हाथ साफ करने के लिए साबुन या हैंड सैनिटाइजर के अलावा टॉयलेट/बाथरूम की व्यवस्था उपलब्ध होगी। इसके साथ-साथ वैसी गर्भवती महिलाएं जो आने-जाने में असमर्थ हो उनके लिए विशेष रूप से वाहन/एम्बुलेंस कि व्यवस्था होगी। साथ ही टीकाकरण के दौरान एक एम्बुलेंस आवश्यक दवाओं/सामग्रियों की व्यवस्था के लिए उपलब्ध होगा।

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत एएनसी संबंन्धित जांच के लिए आई गर्भवती महिलाओं को सामूहिक रूप से बैठाकर चिकित्सक के द्वारा कोविड संक्रमण से बचाव एवम टीकाकरण से होने वाले लाभ के अलावा एएनसी जांच के बारे में ग्रुप काउंसलिंग की जाएगी। इस अभियान का सभी स्तर पर सघन अनुश्रवण एवं पर्यवेक्षण अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी के द्वारा किया जाएगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.


Notice: Undefined index: amount in /home/u709339482/domains/mobilenews24.com/public_html/wp-content/plugins/addthis-follow/backend/AddThisFollowButtonsHeaderTool.php on line 82
%d bloggers like this: