टीकाकरण के साथ कोविड सुरक्षा मानकों के पालन का संदेश देना मेरी नैतिक जिम्मेदारी: उषा कुमारी

• लाभार्थी पाते हैं टीका के साथ सुरक्षा का संदेश
• अपने विनम्र व्यव्हार के लिए जानी जाती हैं उषा
• कोविड टीकाकरण करवाकर सामुदायिक सुरक्षा की ओर बढ़ाएं कदम
पटना-

“सभी को यह समझने की जरूरत है कि कोविड का टीका लेने के बाद भी सरकार द्वारा बताए गए सुरक्षा मानकों का पालन कर ही कोरोना के संक्रमण से सुरक्षित रहा जा सकता है| अगर लोग यह समझते हैं कि टीका लेकर वे बिना मास्क के घूमेंगे और भीड़ वाली जगहों पर जायेंगे तो उनके दुबारा संक्रमित होने का अंदेशा बना रहेगा| टीकाकरण के साथ सुरक्षा मानकों का कड़ाई से पालन ही कोरोना संक्रमण से सुरक्षा की कुंजी है”| उक्त बातें जिला के फुलवारीशरीफ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से जुड़ी एएनएम उषा कुमारी बताते हुए कहती हैं लाभार्थियों को टीका लगाकर आत्मसंतोष की जो अनुभूति होती है उसका वर्णन नहीं किया जा सकता|
लाभार्थी पाते हैं टीका के साथ सुरक्षा का संदेश :
फुलवारीशरीफ निवासी 34 वर्षीय अजय सिंह टीका का दोनों डोज फुलवारीशरीफ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में उषा कुमारी के हाथों से ले चुके हैं| अजय के कथानुसार “ टीका लगाने से पहले उषा जी ने मुझे टीकाकरण के बाद भी कोविड सुरक्षा मानकों के बारे में बताया और कहा कि टीका के साथ इन मानकों का पालन ही कोरोना से सुरक्षा की गारंटी है| यह मेरे लिए एक सुखद आश्चर्य था क्यूंकि इसकी मुझे उम्मीद नहीं थी”.| अजय ने बताया उषा ने टीकाकरण के दौरान मेरा हौसला बढ़ाया और समझाया कि परिवार के सभी योग्य सदस्यों का मुझे टीकाकरण जल्दी करवाना चाहिए|
टीकाकरण करवाकर सामुदायिक सुरक्षा की ओर बढ़ाएं कदम- उषा:
उषा बताती हैं “समुदाय में कोरोना संक्रमण से सभी की सुरक्षा के लिए टीका का दोनों डोज ससमय लेना आवश्यक है| तभी हमलोग सरकार द्वारा लक्षित “हर्ड इम्युनिटी” के लक्ष्य को प्राप्त कर सकेंगे| सरकार टीका निःशुल्क उपलब्ध करा रही है और सभी को आगे आकर इसका लाभ लेते हुए टीकाकरण जरूर करवाना चाहिए| अफवाहों और भ्रांतियों को दरकिनार कर जो लोग टीकाकरण करवा रहे हैं वे सही मायनों में समाजसेवा का काम कर रहे हैं”|
अपने विनम्र व्यव्हार के लिए जानी जाती हैं उषा:
फुलवारीशरीफ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की स्वास्थ्य प्रबंधक शिप्रा सिंह चौहान बताती हैं विनम्र आचरण और सेवाभाव उषा कुमारी के चरित्र का वर्णन करता है| उनका विनम्र आचरण सभी लाभार्थियों को उनकी ओर खींचता है और उनके द्वारा दी गयी सलाह को लोग समझते हैं और उसका अनुसरण करने का प्रयास करते हैं| अपनी कार्यकुशलता के कारण सभी दी गयी जिम्मेदारियों का सही तरीके से पालन करना उनके स्वभाव का हिस्सा है| उषा का आचरण और कर्मठता केंद्र से जुडी अन्य स्वास्थ्यकर्मियों के लिए उदाहरण का काम करता है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Notice: Undefined index: amount in /home/u709339482/domains/mobilenews24.com/public_html/wp-content/plugins/addthis-follow/backend/AddThisFollowButtonsHeaderTool.php on line 82
%d bloggers like this: