पंचायतवार लक्ष्य निर्धारित कर कोविड वैक्सीनेशन शिविर का आयोजन कर लाभार्थियों को किया जाएगा टीकाकृत 

– सभी चयनित सत्र स्थलों पर वैक्सीनेशन के साथ सुगर, बीपी, हीमोग्लोबिन समेत अन्य स्वास्थ्य जाँच की सुविधा भी रहेगी उपलब्ध
– राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक ने पत्र जारी कर प्रदेश के सभी सिविल सर्जन और डीआईओ को दिए निर्देश
लखीसराय, 13 जून.-
जिले में जल्द से जल्द शत-प्रतिशत लाभार्थियों का कोविड वैक्सीनेशन सुनिश्चित कराने को लेकर जिले में चल रहे हर घर दस्तक वैक्सीनेशन अभियान 2.0 की रफ्तार को और तेज गति देने के लिए सरकार एवं स्वास्थ्य विभाग काफी गंभीर है और इसे सुनिश्चित करने को लेकर नित्य नये-नये निर्णय भी लिए जा रहे हैं। ताकि वैक्सीनेशन अभियान की रफ्तार को और तेज गति मिल सके एवं  जल्द से जल्दशत-प्रतिशत लाभार्थियों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित हो सके। इसी कड़ी में प्रतिदिन
एक पंचायत का लक्ष्य निर्धारित कर पंचायतवार कोविड वैक्सीनेशन शिविर का आयोजन कर लाभार्थियों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित कराने का निर्णय लिया गया है। ताकि सभी योग्य लाभार्थी सुविधाजनक तरीके से वैक्सीनेशन करा सकें। जिससे जिले में वैक्सीन से वंचित लोगों की संख्या शून्य हो सके। इसे सुनिश्चित करने को लेकर राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह ने पत्र जारी कर प्रदेश के सभी सिविल सर्जन और डीआईओ (जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी) को आवश्यक निर्देश दिए हैं।
– जिले में सुविधाजनक तरीके से लाभार्थियों का किया जा रहा है टीकाकरण :
जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ अशोक कुमार भारती ने बताया, जिले में संचालित वैक्सीनेशन अभियान की रफ्तार को और तेज गति देने के लिए आवश्यक निर्देश प्राप्त हुआ है। जिसे सार्थक रूप देने के लिए जिले के सभी स्वास्थ्य संस्थानों  के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं और अपने स्तर पर  एक्शन प्लान तैयार कर शत-प्रतिशत लोगों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित कराने को कहा गया है। वहीं, उन्होंने ने बताया, जल्द से जल्द शत-प्रतिशत लाभार्थियों
का टीकाकरण सुनिश्चित कराने को लेकर जिले में लगातार वैक्सीनेशन अभियान चल रहा है। जिसके तहत लाभार्थियों को सुविधाजनक तरीके से वैक्सीन दी जा रही है। वहीं, उन्होंने बताया, सभी सत्र स्थलों पर वैक्सीनेशन के अलावा शुगर, बीपी, हीमोग्लोबिन समेत अन्य स्वास्थ्य जाँच की व्यवस्था भी सुनिश्चित की गई है। ताकि जरूरतमंद व्यक्ति अपना स्वास्थ्य जाँच भी करा सके।
– लाभार्थियों के सुविधानुसार के अनुसार शिविर स्थलों का होगा चयन :
राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह द्वारा जारी पत्र में यह भी निर्देश दिया गया है कि लाभार्थियों के सुविधानुसार सत्र स्थलों का चयन कर कोविड वैक्सीनेशन शिविर आयोजित करने की जरूरत है। ताकि सभी आयु वर्ग के लाभार्थी सुगमता के साथ सत्र स्थल तक पहुँच सके और सुविधाजनक तरीके से वैक्सीनेशन करा सके। वहीं, पत्र में यह भी कहा गया है कि 12 से 14 आयु वर्ग के छूटे लाभार्थियों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित करने को लेकर जिला और प्रखंड स्तर के शिक्षा पदाधिकारी से समन्वय स्थापित कर विद्यालयों में भी वैक्सीनेशन शिविर का आयोजन किया जा सकता है।
– पीआरआई मेंबर, जीविका, आईसीडीएस समेत अन्य सहयोगी संस्थाओं का भी लिया जाएगा सहयोग :
पत्र में यह कहा गया है कि वैक्सीनेशन अभियान को गति देने के लिए पीआरआई मेंबर (पंचायत राज के जनप्रतिनिधि) के साथ बैठक कर लोगों को जागरूक करें। इसके अलावा जीविका, आईसीडीएस समेत अन्य सहयोगी संस्थाओं का भी सहयोग लेकर सामुदायिक स्तर पर लोगों को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित कराएं। ताकि सामुदायिक स्तर लोगों को वैक्सीनेशन शिविर की जानकारी मिल सके और लाभार्थियों का दुविधा दूर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: