मिशन इंद्रधनुष अभियान: जिले में संचालित नियमित टीकाकरण में आयी तेजी

 

– अभियान के निर्धारित समयावधि के अंदर शत-प्रतिशत लाभार्थियों के टीकाकरण सुनिश्चित कराने पर दिया जा रहा है बल
– स्वास्थ्य संस्थानों के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने शिविर स्थलों का निरीक्षण कर कर्मियों को दिए जरूरी दिशा-निर्देश

खगड़िया, 06 मई

मिशन इंद्रधनुष अभियान के तहत जिले में 02 मई से शुरू हुए साप्ताहिक नियमित टीकाकरण कार्यक्रम की गति तेज कर दी गई है। ताकि हर हाल में उक्त अभियान की निर्धारित समयावधि के अंदर शत-प्रतिशत लाभार्थियों का टीकाकरण सुनिश्चित हो सके और अभियान का सफलतापूर्वक समापन हो सके। इसको लेकर जहाँ 02 मई से लगातार जिले के सभी प्रखंडों में चयनित एवं चिह्नित जगहों पर टीकाकरण शिविर का आयोजन कर टीका से छूटी गर्भवती और बच्चों का नियमित टीकाकरण (आर आई) किया जा रहा है। वहीं, स्वास्थ्य टीम द्वारा लोगों को टीकाकरण कराने के लिए प्रेरित भी किया जा रहा है। इधर, शुक्रवार को जिले के विभिन्न स्वास्थ्य संस्थानों के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने अपने-अपने क्षेत्र में संचालित टीकाकरण स्थलों का निरीक्षण किया और शत-प्रतिशत लाभार्थियों का टीकाकरण सुनिश्चित कराने को लेकर ड्यूटी पर तैनात मेडिकल टीम को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

– शत-प्रतिशत लाभार्थियों का टीकाकरण सुनिश्चित कराने को लेकर सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को दिए गए हैं जरूरी निर्देश :
जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ देवनंदन पासवान ने बताया, जिले में 02 मई से संचालित साप्ताहिक नियमित टीकाकरण कार्यक्रम के सफल संचालन के लिए शत-प्रतिशत लाभार्थियों का टीकाकरण सुनिश्चित कराने को लेकर जिले के सभी स्वास्थ्य संस्थानों के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को आवश्यक और जरूरी निर्देश दिए गए हैं। जिसमें कहा गया है कि इसे सुनिश्चित करने को लेकर सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी खुद सेशन साइट का लगातार भ्रमण करें और भ्रमण के दौरान पाई जाने वाली कमियों को यथाशीघ्र दूर करें। ताकि हर हाल में निर्धारित समयावधि के अंदर शत-प्रतिशत लाभार्थियों का टीकाकरण सुनिश्चित और उक्त अभियान का सफलतापूर्वक समापन हो सके। वहीं, उन्होंने बताया, नियमित टीकाकरण एक नहीं, बल्कि कई प्रकार की गंभीर बीमारियों से बचाव करता है। इसलिए, मैं जिले के तमाम लाभार्थियों से अपील करता हूँ कि निश्चित रूप से बेहिचक टीकाकरण कराएं। इससे ना केवल गंभीर बीमारी से बचाव होगा, बल्कि सुरक्षित और सामान्य प्रसव को बढ़ावा भी मिलेगा तथा बच्चों को शारीरिक विकास भी बेहतर तरीके से होगा।
– टीका से छूटे लाभार्थियों को चिह्नित कर प्राथमिकता के आधार पर किया जा रहा है टीकाकरण :
केयर इंडिया के डीटीओ-ऑन चंदन कुमार ने बताया, टीका से छूटी एक-एक गर्भवती और बच्चों का प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण किया जा रहा है। एक भी लाभार्थी टीकाकरण से वंचित नहीं रहे, इसको लेकर तमाम स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा सामुदायिक स्तर पर लोगों को टीकाकरण कराने के लिए प्रेरित भी किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: