बीएसपी ने कैंडिडेट का नाम घोषित कर दिलचस्प बनाया राज्यसभा का चुनाव

उत्तर प्रदेश में दस राज्यसभा सीटों पर होने वाले चुनाव में बसपा ने अपना उम्मीदवार को उतारकर निर्विरोध निर्वाचन की संभावना पर ग्रहण लगा दिया है. बसपा ने अपने राष्ट्रीय कोआर्डिनेटर रामजी गौतम को राज्यसभा प्रत्याशी बनाया है बीएसपी के इस दांव ने बीजेपी के 9वीं राज्यसभा सीट जीतने की राह मुश्किल कर दी है और साथ ही सपा व कांग्रेस के सामने भी दुविधा की स्थिति खड़ी कर दी है.

बता दें कि उत्तर प्रदेश के विधायकों की संख्या के आधार पर बीजेपी के आठ और सपा की एक राज्यसभा सीट पर जीत तय है. बसपा और कांग्रेस अपने विधायकों की संख्या के आधार पर उम्मीदवारों को राज्यसभा भेजने की स्थिति नहीं है, जिसके चलते बीजेपी 9वीं राज्यसभा सीट भी जीतने की कवायद में जुटी है. ऐसे में बसपा प्रमुख मायावती ने अपना प्रत्याशी उतार दिया है, जिसके चलते अब राज्यसभा चुनाव काफी दिलचस्प हो गया है.

सपा ने एक बार फिर से प्रो. रामगोपाल यादव को अपना राज्यसभा प्रत्याशी बनाया है, जिन्होंने अपना नामांकन दाखिल कर दिया है. सपा के विधायकों के आंकड़े के आधार पर रामगोपाल यादव की जीत तय मानी जा रही है. इसके बाद भी दस वोट अतिरिक्त होने के बावजूद सपा ने किसी अन्य प्रत्याशी को नहीं उतारा है. ऐसे में मायावती बसपा के रामजी गौतम को राज्यसभा चुनाव मैदान में उतारकर एक तीर से कई निशाना साधना चाह रही हैं.बसपा के रामजी गौतम ने सोमवार को राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल किया. हालांकि, बीजेपी ने अपने राज्यसभा प्रत्याशियों के नाम का ऐलान नहीं किया है, लेकिन उसके आठ उम्मीदवारों की जीत सुनिश्चित है. ऐसे में बीजेपी अगर 9 प्रत्याशियों के साथ मैदान में उतरी है तो ऐसी स्थिति में राज्यसभा की 10वीं सीट के लिए चुनाव होना लाजमी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.